scorecardresearch
 

Drishyam 2 Review: मोहनलाल के सस्पेंस ने फिर जीता दिल, मिस ना करें ये शानदार मर्डर मिस्ट्री!

आपको अजय देवगन वाली दृश्यम याद ही होगी, वो फिल्म इसी मलयाली फिल्म के पहले पार्ट का हिन्दी वर्जन थी. जिसका अब दूसरी किस्त सामने आई है. मलयालम फिल्म इंडस्ट्री के लेजेंड मोहनलाल की इस फिल्म ने सोशल मीडिया पर बज़ बनाया हुआ है. ऐसे में ये फिल्म कैसी है और क्या पहली फिल्म जैसा कमाल इस फिल्म ने किया है, एक नज़र डाल लेते हैं...

दृश्यम 2 र‍िव्यू (एक्टर मोहनलाल) दृश्यम 2 र‍िव्यू (एक्टर मोहनलाल)

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर फिल्म आने का सबसे बड़ा फायदा ये है कि आप किसी एक भाषा में बंधकर नहीं रहते हैं. अलग-अलग भाषाओं का बेहतरीन सिनेमा देखने का आपको अवसर मिलता रहता है, फिर चाहे वो सबटाइटल्स की मदद से ही हो. अमेज़न प्राइम पर हाल ही में रिलीज़ हुई मलयाली फिल्म दृश्यम 2 इसी का एक शानदार उदाहरण है. 

आपको अजय देवगन वाली दृश्यम याद ही होगी, वो फिल्म इसी मलयाली फिल्म के पहले पार्ट का हिन्दी वर्जन थी. जिसका अब दूसरी किस्त सामने आई है. मलयालम फिल्म इंडस्ट्री के लेजेंड मोहनलाल की इस फिल्म ने सोशल मीडिया पर बज़ बनाया हुआ है. ऐसे में ये फिल्म कैसी है और क्या पहली फिल्म जैसा कमाल इस फिल्म ने किया है, एक नज़र डाल लेते हैं...

फिल्म की कहानी...

केबल ऑपरेटर जॉर्ज कुट्टी (मोहनलाल) अब एक सिनेमा थियेटर भी चलाता है, उसकी कोशिश है कि वो एक फिल्म बनाए. जिस बच्चे का कत्ल जॉर्ज कुट्टी की बेटी से गलती से हुआ था, कहानी उससे कुछ आगे बढ़ चुकी है. लेकिन पुलिस चोरी-चुपके उस केस को फिर से खंगालने में लगी रहती है.

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Mohanlal (@mohanlal)

पुलिस की इसी कोशिश के दौरान लड़के की लाश मिल जाती है, जॉर्ज कुट्टी का परिवार फिर उसी तरह सवालों के घेरे में आता है जैसा कि पिछली फिल्म में हुआ था. अंत में कुछ ऐसा होता है कि पुलिस फिर एक बार खाली हाथ रह जाती है.

कहानी के बारे में ज्यादा बताना इसलिए भी सही नहीं है, क्योंकि जैसे कहानी घूमाई गई है वही इस फिल्म का पंच है और दर्शकों को इसी में ही मज़ा आने जा रहा है.

फिल्म कैसी रही...
दृश्यम के जिस सस्पेंस ने हर किसी का दिल जीता था, फिल्म की दूसरी किस्त उससे भी ज्यादा सस्पेंस लेकर आती है. जॉर्ज कुट्टी का दिमागी खेल और पुलिस को हर बार चकमा देना आपको हैरान कर देगा. हालांकि, कई बार आपको ऐसा लगेगा कि ये बिल्कुल वैसा ही हुआ है, जैसा पहली फिल्म में हुआ था.

लेकिन जब केस वही है, किरदार वही है, जगह वही है तो ऐसा होना लाजिमी भी है. कहानी की खास बात ये है कि दृश्यम की पहली फिल्म जहां, जिस अंदाज में खत्म हुई थी. उसी रफ्तार, सस्पेंस के साथ ये फिल्म भी अपने पूरे वक्त में उसे कायम रखती है. सस्पेंस के साथ-साथ फिल्म में कुछ सीन कॉमेडी का तड़का भी लगाते हैं.

एक्टर्स का काम...
मोहनलाल को मलयाली फिल्म इंडस्ट्री का लेजेंड माना जाता है, जो इस बार भी उन्होंने साबित कर दिया है. उत्तर भारत में लोगों ने अजय देवगन वाली ही दृश्यम देखी है और उस काम को सराहा है. लेकिन ओरिजनल में मोहनलाल का काम उससे भी कही ज्यादा अच्छा हुआ है. मोहनलाल के अलावा उनके परिवार में पत्नी (रानी) का रोल मीना, बेटी (अंजू) अंसीबा और दूसरी बेटी (अनू) ईस्थर ने निभाया है जो आपको अपने किरदारों के साथ बांधे रखेंगे.

एक खास टिप...
दृश्यम 2 अभी मलयालम में ही रिलीज़ हुई है, लेकिन OTT प्लेटफॉर्म पर इसे सबटाइटल्स के साथ देखा जा सकता है. अगर आपको हिन्दी वाली दृश्यम पसंद आई थी, तो आप थोड़ी से कोशिश करके इस फिल्म को ओरिजनल भाषा यानी मलयाली में ही देख सकते हैं. क्योंकि कुछ वक्त बाद इसका भी सीक्वेल आपको हिन्दी में दिख ही जाएगा, लेकिन ओरिजनल भाषा में देखने का अपना ही मज़ा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें