scorecardresearch
 

8 जून को दिशा सालियान के फोन से किसने मिलाया 100 नंबर? सामने आया सच

आजतक ने जांच में पाया कि 1 जून से 8 जून तक मुंबई पुलिस को कोई भी कॉल दिशा के फोन से नहीं किया गया. कोई भी फोन सुशांत सिंह राजपूत को भी नहीं किया गया. दिशा की मौत से एक महीने पहले 10 मई को  दिशा के फोन से100 नंबर पर कॉल की गई थी.

दिशा सालियान दिशा सालियान

सुशांत सिंह राजपूत की एक्स मैनेजर दिशा सालियान की मौत को लेकर कई तरह की थ्योरी सामने आईं. खबरें थी कि दिशा की डेथ से ठीक पहले उनके फोन से मुंबई पुलिस कंट्रोल रूम 100 नंबर पर कॉल किया गया था. इसके बाद सुशांत को कॉल की गई. ऐसी थ्योरी थी कि दिशा ने सुशांत और पुलिस को ये बताने के लिए फोन किया था कि कुछ गलत हुआ है और उनकी लाइफ खतरें में हैं. इंडिया टुडे आजतक ने इस पूरी थ्योरी की जांच की. आजतक ने मुंबई पुलिस और दिशा के पेरेंट्स से इस बारे में बात की और पाया गया कि ये थ्योरी पूरी तरह से आधारहीन और फेक है.  

दिशा के फोन से हुआ था कॉल?

आजतक ने जांच में पाया कि 1 जून से 8 जून तक मुंबई पुलिस को कोई भी कॉल दिशा के फोन से नहीं किया गया. कोई भी फोन सुशांत सिंह राजपूत को नहीं किया गया. दिशा की मौत से एक महीने पहले 10 मई को दिशा के फोन से 100 नंबर पर कॉल की गई थी.

किसने किया 100 नंबर पर फोन? 
 
इस बारे में दिशा के पापा सतीश सालियान ने बताया कि दिशा के फोन से वो कॉल उन्होंने की थी. दिशा और उनके मंगेतर रोहन अपने मलाड वाले घर की सफाई के लिए गाड़ी से जाना चाहते थे. इसलिए उन लोगों नेे ट्रैवल के लिए ई-पास की जानकारी के लिए पुलिस को फोन किया था.  

वहीं पुलिस ने इस बारे में कहा- दिशा के फोन से जो 10 मई को कॉल की गई थी उसकी रिकॉर्डिंग Malvani police के पास है. 100 नंबर पर जो भी कॉल की जाती है वो रिकॉर्ड होती है. दिशा के पापा को उस कॉल के वेरिफिकेशन के लिए भी बुलाया गया. उन्होंने पुलिस को इस कॉल के बारे में बताया. सतीश सालियान का प्रॉपर स्टेटमेंट और साइन मुंबई पुलिस ने लिया है. 

लॉकडाउन में कहां थीं दिशा सालियान? 
 

दिशा के पापा ने कहा- पूरे लॉकडाउन में दिशा और रोहन घर में ही थी. वो मलाड वाले अपने घर की सफाई के लिए जाना चाहते थे. वो गाड़ी से जाना चाहते थे. उस वक्त लॉकडाउन लगा हुआ था. हर जगह नाकाबंदी थी. इसलिए मैंने दिशा का फोन लिया और 10 मई को 100 नंबर पर कॉल की. पुलिस ने कहा कि हमारे घर से मलाड जाने के लिए ई-पास की जरुरत नहीं है. अगले दिन दिशा और रोहन अपने मलाड वाले घर गए और कुछ दिनों में वापस आ गए. सारी थ्योरी हमें बदनाम करने के लिए है. हम बहुत मुश्किल समय से निकल रहे हैं. हम पहले ही अपनी बेटी खो चुके हैं. अब लोग हमें भी जीने नहीं दे रहे. इस तरह की सभी थ्योरी बंद की जानी चाहिए. 
 
दिशा सालियान केस की जांच कर रहे सीनियर पुलिस ऑफिसर ने कहा- दिशा सालियान के फोन से उनके पिता ने 100 नंबर पर कॉल की थी. ये ई पास के बारे में पूछताछ के लिए था. हमने मोबाइल टॉवर लोकेशन से कॉल की जांच की, फोन दादर से था. उसी को वेरिफाई करने के लिए हमने दिशा के पिता को बुलाया था. हमारे पास सबूत उपलब्ध हैं. हमारे पास वॉयस रिकॉर्डिंग है, जैसे की 100 नंबर पर की गई सभी कॉल रिकॉर्ड होती हैं. 1 जून से 8 जून तक दिशा के फोन से 100 नंबर पर कोई कॉल नहीं की गई. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें