scorecardresearch
 

जब बेटी के बुर्का पहनने पर उठे सवाल, एआर रहमान ने किया सपोर्ट, मैं भी पहनता अगर...

खातिजा एक नया रिकॉर्ड भी अपने नाम कर चुकी हैं. दिग्गज सिंगर की बेटी ने इंटरनेशनल साउंड फ्यूचर अवॉर्ड में 'बेस्ट एनिमेशन म्यूजिक वीडियो' का खिताब अपने नाम किया. इसकी जानकारी एआर रहमान ने ट्विटर के जरिए फैन्स को दी थी.

खातिजा रहमान खातिजा रहमान
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बुर्का पहनने को लेकर ट्रोल हो चुकी हैं खातिजा रहमान
  • दुबई में किया खातिजा ने परफॉर्म

म्यूजिक इंडस्ट्री के किंग एआर रहमान की बेटी खातिजा ने अब म्यूजिक की दुनिया में परचम लहरा दिया है. हाल ही में खातिजा ने दुबई एक्सपो 2020 में अपनी सोलफुल वॉयस से लोगों को सरप्राइज किया. 24 साल की खातिजा की यह परफॉर्मेंस सोशल मीडिया पर छाई हुई है. यूजर्स खातिजा की सिंगिंग और उनकी आवाज की तारीफ करते नहीं थक रहे हैं. दुबई एक्सपो 2020 में खातिजा फिरदौस ओकेस्ट्रा का हिस्सा बनी थीं. 20 नवंबर को वर्ल्ड चिल्ड्रंस डे के मौके पर खातिजा ने परफॉर्मेंस दी. खातिजा ने दुबई एक्सपो में 16 साल की pianist Lydian Nadhaswaram के साथ परफॉर्म किया. इवेंट में खातिजा ने अपने डेब्यू सिंगल 'फरिश्तों' पर धमाकेदार शो दिया. इस गाने को उनके पिता एआर रहमान ने कंपोज किया है. 

हो चुके हैं दो गानें रिलीज
खातिजा रहमान ने 2010 में तमिल ब्लॉकबस्टर एंथिरन से संगीत की शुरुआत की. तब वह सिर्फ 14 साल की थीं. उनकी बड़ी शुरुआत के बाद ग्रैमी-विजेता रिकी केज के साथ कुछ उल्लेखनीय सहयोग हुए. उन्होंने 'फरिश्तों' के साथ स्वतंत्र गायिका के रूप में अपनी संगीत यात्रा शुरू की, जिसने हाल में अंतरराष्ट्रीय ध्वनि भविष्य पुरस्कारों में सर्वश्रेष्ठ एनिमेशन संगीत वीडियो का पुरस्कार जीता. खातिजा का सॉन्ग 'फरिश्तों' पिछले साल 25 अक्टूबर को रिलीज हुआ था. इससे पहले उनका गाना 'इल्ताजा' रिलीज हुआ था, जिसे दर्शकों ने काफी पसंद किया था.  

खातिजा एक नया रिकॉर्ड भी अपने नाम कर चुकी हैं. दिग्गज सिंगर की बेटी ने इंटरनेशनल साउंड फ्यूचर अवॉर्ड में 'बेस्ट एनिमेशन म्यूजिक वीडियो' का खिताब अपने नाम किया. इसकी जानकारी एआर रहमान ने ट्विटर के जरिए फैन्स को दी थी. 

आपने सुनी AR रहमान की बेटी की आवाज? दुबई में किया परफॉर्म, हर तरफ हो रही चर्चा

तस्लीमा नसरीन ने किया था ट्रोल
कुछ समय पहले खातिजा को तस्लीमा नसरीन ने ट्वीट कर ट्रोल किया था. उन्होंने ट्वीट कर लिखा था कि पढ़े-लिखे लोग जब हिजाब पहनते हैं तो उन्हें यह देखकर घुटन होती है. मुझे एआर रहमान का म्यूजिक बेहद पसंद है, लेकिन जब भी मैं उनकी बेटी को देखती हूं तो मुझे घुटन होती है. यह जानना बहुत ही दुखद है कि कल्चर फैमिली में एक पढ़ी-लिखी महिला कैसे आसानी से ब्रेनवॉश हो सकती है. 

खातिजा ने दिया था लेखिका को मुंहतोड़ जवाब
खातिजा ने इसका जवाब देते हुए लिखा था कि अभी एक साल ही हुए हैं और एक बार फिर से यह विषय चर्चा में आ गया है. देश में बहुत कुछ हो रहा है, लेकिन लोग इस बात से चिंतित हैं कि एक महिला को क्या पहनना चाहिए? जब भी इस विषय पर बात होती है, तो मुझे गुस्सा आता है. मैं बहुत सारी बातें कहना चाहती हूं. पिछले एक साल में, मुझे अपना एक अलग संस्करण देखने को मिला है, जिसे मैंने इतने सालों में नहीं देखा है. 

ए आर रहमान की बेटी ने 'फरिश्तों' गाने को दी आवाज, द‍िया स्वतंत्रता का संदेश

खातिजा ने आगे कहा था कि मुझे अपने द्वारा चुने गए विकल्पों को लेकर कोई पछतावा नहीं है. मैं जो कर रही हूं मुझे उसपर गर्व है. मैं उन लोगों को धन्यवाद देती हूं, जिन्होंने मुझे इस रूप में स्वीकार किया है. प्यारी तस्लीमा नसरीन जी, मैं माफी चाहूंगी कि आपको मेरे कपड़ों को देखकर घुटन होती है. आप प्लीज जाकर साफ-सुथरी हवा खाइए, क्योंकि मुझे इन कपड़ों में जरा भी घुटन नहीं होती बल्कि मैं बहुत ही गर्व महसूस करती हूं. 

एआर रहमान ने भी किया था रिएक्ट
एआर रहमान ने भी तस्लीमा नसीन को मुंहतोड़ जवाब देते हुए कहा था कि मुझे लगता है कि बच्चों को ऐसे तरीके से पालना चाहिए, जिसमें उन्हें हमारी समस्याओं और हमारी परेशानियों के बारे में पता हो. वह जानते हैं कि उन्हें हमसे अच्छा और बुरा विरासत के तौर पर मिला है. मुझे लगता है कि उसका जवाब देना जरूरी था, क्योंकि वह हिजाब पहनकर रहती है और यह उसकी अपनी इच्छा से चुना है. मेरी बेटी ने बुर्का पहनने का फैसला लेकर अपनी आजादी ढ़ूंढ ली है. एक पुरुष बुर्का नहीं पहनता है. अगर होता तो मैं जरूर पहनता.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×