scorecardresearch
 

ओम प्रकाश राजभर बोले- 3 सीट, एक MLC और मंत्री बनाने पर तय हुई थी बात, लेकिन चंद्रशेखर ने तोड़ा वादा

यूपी चुनाव से पहले राजनीतिक गलियारों में चल रही सियासी खींचतान के बीच अब सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के चीफ ओम प्रकाश राजभर का बड़ा बयान आया है. उन्होंने कहा कि 3 दिन पहले चंद्रशेखर की तरफ से संदेश आया था कि किसी तरीके से गठबंधन में शामिल करा दें.

ओम प्रकाश राजभर और अखिलेश यादव ओम प्रकाश राजभर और अखिलेश यादव
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सपा और आजाद पार्टी ने अपनी अलग-अलग राह चुन ली है
  • चंद्रशेखर ने अपने दम पर चुनाव लड़ने की बात कही

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश की सियासी लड़ाई में समाजवादी पार्टी और आजाद पार्टी ने अपनी अलग-अलग राह चुन ली है. पहले अटकले थीं कि भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर सपा के साथ गठबंधन कर सकते हैं कि लेकिन शनिवार ये पिक्चर साफ हो गई. चंद्रशेखर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके साफ कहा कि यूपी चुनाव में सपा और आजाद पार्टी का गठबंधन नहीं होगा और अखिलेश यादव को दलितों की जरूरत नहीं है. उन्होंने अपने दम पर चुनाव लड़ने की बात कही. 

इस सियासी खींचतान पर अब सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के चीफ ओम प्रकाश राजभर का बड़ा बयान आया है. उन्होंने कहा कि 3 दिन पहले चंद्रशेखर की तरफ से संदेश आया था कि किसी तरीके से गठबंधन में शामिल करा दें. उनके लिए 3 सीट और एक एमएलसी पर बातें हुई थी. साथ ही सरकार बनने पर उन्हें मंत्री बनाने का वादा था, लेकिन उन्होंने तोड़ दिया. 

बता दें कि ओम प्रकाश राजभर ने चंद्रशेखर और अखिलेश यादव के बीच गठबंधन को लेकर मध्यस्थता की थी. भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर आजाद शुक्रवार को समाजवादी पार्टी के दफ्तर पहुंचकर अखिलेश यादव से मिले भी थे. हालांकि शनिवार को चंद्रशेखर ने साफ कर दिया कि उनकी पार्टी अखिलेश यादव के साथ हाथ नहीं मिलाएगी. 

चंद्रशेखर कहा कि भाजपा को रोकने के लिए हम लगातार कोशिश करेंगे. मैं स्वाभिमान की लड़ाई लड़ता हूं. दो-दो बार तिहाड़ जेल जाकर आ चुका हूं. उन्होंने कहा कि मेरी लड़ाई कभी भी सत्ता की नहीं रही है. उन्होंने कहा कि 1 महीना 10 दिन से प्रयास किया लेकिन अखिलेश यादव से कोई जवाब नहीं मिला, कल (शुक्रवार को) हमारा विश्वास टूट गया जब अखिलेश से कोई जवाब नहीं मिला. यह लड़ाई प्रतिनिधित्व की है. अखिलेश यादव को दलित समाज की जरूरत नहीं है, उन्हें मेरी बधाई.

सपा का गठबंधन इन दलों के साथ है

सपा ने विधानसभा चुनाव के लिए सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, जनवादी पार्टी (सोशलिस्ट), राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी), अपना दल (कमेरावादी), प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया), महान दल, टीएमसी से गठबंधन किया है. बता दें कि 403 विधानसभा सीटों वाले यूपी में 10 फरवरी से 7 चरणों में विधानसभा चुनाव होना है. अंतिम चरण के लिए मतदान 7 मार्च को होना है. यूपी में चुनाव के नतीजे 10 मार्च को आएंगे. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×