scorecardresearch
 

स्वामी प्रसाद मौर्य सपा में हुए शामिल, BJP से सांसद बेटी संघमित्रा बोलीं- पिता जी समझदार हैं

संघमित्रा मौर्य भाजपा से सांसद हैं, उन्होंने पार्टी में बने रहने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में ही काम करने की इच्छा व्यक्त की है. पिता के सवाल पर उन्होंने कहा कि वे खुद समझदार हैं.

संघमित्रा ने कहा कि बच्चे चाहे सांसद हों, मुख्यमंत्री हों या प्रधानमंत्री. मां-बाप के लिए बच्चे ही होते हैं. संघमित्रा ने कहा कि बच्चे चाहे सांसद हों, मुख्यमंत्री हों या प्रधानमंत्री. मां-बाप के लिए बच्चे ही होते हैं.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उत्तर प्रदेश के बदायूं से सांसद हैं संघमित्रा
  • हाल ही में स्वामी प्रसाद मौर्य ने भाजपा छोड़ी
  • संघमित्रा ने कहा- पिताजी ने शीर्ष नेतृत्व से बात की थी

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं, राजनीतिक हलचल भी तेज होती जा रही है. भाजपा छोड़कर सपा का दामन थामने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी संघमित्रा मौर्य का बयान सामने आया है. वे यूपी के बदायूं से भाजपा सांसद हैं. संघमित्रा ने शुक्रवार को आज तक से कहा कि वे भाजपा में रहकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में ही काम करना चाहती हैं.  

भाजपा छोड़ने से पहले क्या उन्होंने अपने पिता को समझाया था, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि पार्टी की टॉप लीडरशिप से बात हुई थी. उनके पिता को समझाने के लिए उनसे कोई क्या कहेगा, वे खुद समझदार हैं. संघमित्रा ने आगे कहा कि बच्चे हमेशा बच्चे होते हैं, वह चाहे सांसद हों, मुख्यमंत्री हों या प्रधानमंत्री. मां-बाप के लिए बच्चे ही होते हैं.

भाजपा के लिए ही काम करने का इरादा

संघमित्रा ने आगे कहा कि इतिहास गवाह है, पहले और आज भी कई परिवार ऐसे हैं, जिनके अलग-अलग सदस्य कई पार्टियों में हैं. आज अगर स्वामी प्रसाद मौर्य किसी दूसरी पार्टी में हैं तो उनकी बेटी दूसरी पार्टी में है. संघमित्रा मौर्य से ही यह सवाल क्यों किया जा रहा है, दूसरों पर बात क्यों नहीं हो रही.

6 विधायकों के साथ थामा सपा का दामन

भाजपा छोड़ने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य 6 विधायकों को भी अपने साथ ले गए हैं. मौर्या के साथ सपा में शामिल होने वाले पड़े नामों में पूर्व मंत्री धर्म सिंह सैनी, बिल्हौर कानपुर से विधायक भगवती सागर, पूर्व मंत्री और एमएलसी बिधुना अरायये विनय शाक्य, शाहजहांपुर विधायक रोशन लाल वर्मा, फिरोजाबाद के सिकोहाबाद से विधायक डॉ मुकेश वर्मा और बांद विधायक बृजेश कुमार प्रजापति भी शामिल हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×