scorecardresearch
 

UP Election 2022: 'सपा किसी के घर में झगड़ा नहीं करा सकती, यह बीजेपी का काम', बोले अखिलेश यादव

UP Election 2022: अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी किसी के घर में लड़ाई नहीं करा सकती. यह काम बीजेपी का हो सकता है. अखिलेश ने कहा कि उनकी सरकार आने पर यश भारती पुरस्कार फिर शुरू किए जाएंगे.

X
सपा प्रमुख अखिलेश यादव सपा प्रमुख अखिलेश यादव
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अखिलेश यादव से मंत्री आशुतोष टंडन से जुड़ा सवाल पूछा गया था
  • आशुतोष टंडन पर पुत्रवधू ने प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले प्रचार में लगे सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी किसी के परिवार में लड़ाई नहीं करा सकती. उन्होंने यह बात योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन से जुड़े सवाल पर कही. गुरुवार को हुई इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में अखिलेश यादव ने यह भी ऐलान किया कि उनकी सरकार बनने पर यश भारती पुरस्कार को फिर से शुरू किया जाएगा.

बता दें कि यूपी के कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन की पुत्रवधू दिशा टंडन ने पीएम मोदी-सीएम योगी को पत्र लिखा है. इसमें कहा गया है कि आशुतोष टंडन का परिवार दहेज के लिए प्रताड़ित कर रहा है और वे उन्हें न्याय दिलाएं. इससे जुड़े सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी किसी के घर में लड़ाई नहीं करा सकती. हम किसी के परिवार में झगड़ा नहीं कराएंगे.

इससे ठीक पहले उनसे प्रमोद गुप्ता पर सवाल किया गया था. जो कि रिश्ते में मुलायम सिंह यादव के साढ़ू लगते हैं, उन्होंने आज ही सपा छोड़कर बीजेपी ज्वाइन की है. उन्होंने अखिलेश पर गंभीर आरोप भी लगाए. इस पर अखिलेश ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सपा पर परिवारवाद का आरोप लगाती थी. हमारे परिवारवाद को वह खुद ही खत्म कर रही है. इसके लिए उनको धन्यवाद देता हूं. बता दें कि इससे पहले मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव मे बुधवार को ही सपा छोड़कर बीजेपी का दामन थामा है.

यह भी पढ़ें - मुलायम के साढू, कांग्रेस की पोस्टर गर्ल बीजेपी में शामिल, प्रमोद गुप्ता बोले- अखिलेश ने नेताजी को बनाया बंधक

अखिलेश ने बीजेपी को यूपी में अपना घोषणापत्र जारी करने को कहा, वह बोले कि बीजेपी के बाद ही सपा अपना मेनिफेस्टो लाएगी.

सपा अध्यक्ष ने आगे कहा कि सपा के मेनिस्फेस्टों में यश भारती पुरस्कार को शामिल किया जा रहा है. सपा सरकार में उत्कृष्ट कलाकारों का सम्मान किया गया, इसमें जिला स्तर पर नगर भारती सम्मान दिया जायेगा. कला, लेखन, पत्रकारिता, शिक्षा, चिकित्सा, इंजीनियर आदि क्षेत्र से उदयमान लोगों का सम्मान होगा. साथ ही पुरानी पेंशन व्यवस्था की बहाली होगी. यूपी के कर्मचारी, शिक्षक को पुरानी पेंशन को भी शुरू किया जाएगा.

वह बोले कि वित्तविहीन शिक्षकों को शामिल करके 2005 से पहले मिलने वाली व्यवस्था लागू होगी, जिससे लगभग 12 लाख कर्मचारियों को फायदा मिलेगा. वह बोले कि सपा की कथनी और करनी में भेदभाव नहीं हैं.

यूपी सरकार पर हमला बोलते हुए अखिलेश ने कहा कि मौजूदा सरकार विकास विरोधी है. उन्होंने आरोप लगाया कि सीएम और डिप्टी सीएम पर जितने मुकदमे हैं उतने आईपीसी में सेक्शन नहीं हैं. एंटी रोमियो स्क्वायड पर अखिलेश ने कहा कि योगी रोमियो को बदनाम कर रहे थे, उन्हें केवल दिखावा करना था. वह बोले कि महिला सुरक्षा में 1090 बेस्ट सिस्टम था जिसे योगी सरकार ने खराब किया.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें