scorecardresearch
 

Akhilesh Yadav Exclusive: राम मंदिर जमीन विवाद पर सपा प्रमुख बोले- इस्तीफा दें ट्रस्ट के सदस्य

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने आजतक से खास बात की. अखिलेश यादव ने कहा कि सपा चुनाव में किसी बड़े दल से गठबंधन नहीं करेगी.

समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव (फोटो: PTI) समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव (फोटो: PTI)
4:40
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूपी चुनाव से पहले अखिलेश यादव का इंटरव्यू
  • जमीन विवाद पर इस्तीफा दें ट्रस्ट के सदस्य: अखिलेश
  • चुनाव में छोटे दलों के साथ करेंगे गठबंधन: पूर्व सीएम

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होना है और उससे पहले ही राज्य में राजनीतिक गतिविधियां तेज़ हो गई हैं. इन्हीं मसलों पर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आजतक से खास बात की. अखिलेश यादव ने साफ किया कि समाजवादी पार्टी विधानसभा चुनाव में किसी बड़े दल से गठबंधन नहीं करेगी. वहीं, राम मंदिर की जमीन पर हुए विवाद को लेकर अखिलेश ने कहा कि ट्रस्ट के सदस्यों को इस्तीफा देना चाहिए.

पंचायत चुनावों में बेहतर प्रदर्शन को लेकर अखिलेश ने लोगों का धन्यवाद किया, साथ ही कहा कि चुनावों में बड़े पैमाने पर बेइमानी की कोशिश की गई, प्रशासन ने लोगों पर दबाव बनाया लेकिन इस सबके बाद भी समाजवादी पार्टी प्रत्याशी के सबसे अधिक जीते हैं. 

अखिलेश ने कहा कि केंद्र-प्रदेश में बीजेपी की सरकार है, फिर भी ये बुरी तरह हारे हैं. लोकतंत्र की खराब चीजों को अपनाने का काम भाजपा कर रही है, हर जगह झूठे मुकदमे करवा रहे हैं, पैसों का लालच दे रहे हैं और दबाव बनाकर चुनाव जीतना चाहते हैं. 

राम मंदिर जमीन घोटाले पर अखिलेश का बयान 
अयोध्या में राम मंदिर की जमीन पर घोटाले के आरोप को लेकर अखिलेश यादव ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद देश की जनता ने माना कि राम मंदिर बन रहा है. अगर वहां से भ्रष्टाचार की खबरें आएं, तो कम से कम ट्रस्ट के सदस्यों को पद से इस्तीफा देना चाहिए. अगर मर्यादा पुरुषोत्तम राम को लेकर कोई काम हो रहा है और ऐसा आरोप लगे तो ट्रस्ट के सदस्यों को इस्तीफा देना चाहिए.

अखिलेश यादव ने सवाल किया कि अयोध्या में धर्मपुर के लोग यहां आए थे और वो एयरपोर्ट के लिए जमीन देने की बात कही थी, लेकिन सरकार ने 6 गुना मुआवजा देने से इनकार कर दिया.

अखिलेश यादव ने कहा कि इस बार बीजेपी कितने भी नेताओं को तोड़ ले, लेकिन जनता ने मन बना लिया है कि बीजेपी को सबक सिखाना है. यूपी में नौकरी नहीं है, हर मोर्चे पर यूपी पीछे हो गया है. किसान आत्महत्या कर रहा है, कर्ज माफ नहीं हो रहा है. अखिलेश ने कहा कि अगर विपक्ष बंटा हुआ है, फिर भी जनता बीजेपी को हटाने का मन बना चुकी है. 

अखिलेश यादव ने बताया कि आज पुलिस हो या अधिकारी, हर जगह जाति के नाम पर पक्षपात हो रहा है. बीजेपी के विधायक, मंत्री ही कोरोना काल में भ्रष्टाचार की बात सामने रखी है. बीजेपी सरकार के अच्छे काम को लेकर अखिलेश ने कहा कि सिर्फ ये अच्छा है कि इनके कार्यकाल में 6 महीने ही बचे हैं.

क्लिक करें: अयोध्या लैंड डील पर बवाल जारी, डिप्टी सीएम बोले- आरोप सही हुए तो दोषियों पर होगी कार्रवाई

सरकार ने जनता को अनाथ छोड़ दिया: अखिलेश
सपा नेता ने कहा कि कोरोना काल में सरकार ने जनता को अनाथ छोड़ दिया, ऑक्सीजन-दवाई कुछ नहीं मिला. प्रदेश के हर हिस्से में लोग सरकार की नाकामी, महंगाई से परेशान हैं, पंचायत के चुनावों ने जनता का मन बता दिया. मुख्यमंत्री जी खुद अपनी परेशानी में हैं, लखनऊ वाले दिल्ली में और दिल्ली वाले लखनऊ में चक्कर लगा रहे हैं.

विधानसभा चुनावों को लेकर अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी ने जो वादे किए थे, वो कितने पूरे हुए हैं. किसानों की आय दोगुनी करने की बात कही थी, लेकिन उनके ऊपर काले कानून थोपे जा रहे हैं. आज मंडियां बंदी की कगार पर हैं, सरसों का तेल-आटे की कीमत बढ़ती जा रही है. बीजेपी सरकार ने डेयरी सेक्टर को खत्म कर दिया.

अखिलेश यादव ने कहा कि कोरोना काल में मुख्यमंत्री जिन अस्पतालों में गए, वो समाजवादी पार्टी के दौरान बने थे. हमारी सरकार ने जिन एम्बुलेंस की संख्या बढ़ाई थी, वही काम आईं. सरकार ने टीम-11 बनाई, लेकिन काम क्या हुआ. मुख्यमंत्री जी को जानकारी नहीं है कि विज्ञापन देकर ही तारीफ हो रही है.

बीजेपी की वैक्सीन वाले बयान पर दी सफाई
बीजेपी की वैक्सीन वाले बयान पर अखिलेश यादव ने कहा कि जब बयान दिया था, तब वैक्सीन के रिजल्ट पर कई सवाल खड़े हो रहे थे. सरकार वैक्सीन मुफ्त क्यों नहीं लगवा रही है, जब गरीब-मजदूरों को वैक्सीन लग जाएगी तब आखिरी व्यक्ति मैं रहूंगा वैक्सीन लगवाने वाला. प्रधानमंत्री जी भी विदेश नहीं जा पा रहे हैं, कहीं ऐसा तो नहीं कि पीएम ने जो वैक्सीन लगवाई है, उसे लगवाकर बाहर नहीं जा सकते हैं.

अखिलेश ने कहा कि ये सरकार कब्रिस्तान और श्मशान की बात कर रही थी, लेकिन इसने ही लोगों को अनाथ छोड़ दिया. नोटबंदी में लोगों की जान चली गई, जीएसटी में लोगों की जान चली गई. 

बड़े दलों से गठबंधन नहीं करेगा सपा: अखिलेश
विधानसभा चुनावों में गठबंधन को लेकर अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी किसी भी बड़े दल के साथ गठबंधन नहीं करेगी, छोटे दलों को शामिल किया जाएगा. छोटे दलों के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ेगी, जयंत चौधरी की पार्टी के साथ हमारा गठबंधन है, महान दल के साथ हमारा गठबंधन है. बसपा और कांग्रेस के साथ हमारा अनुभव बेहतर नहीं रहा, ऐसे में हमने बड़े दल के साथ गठबंधन ना करने का फैसला किया.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को लेकर अखिलेश यादव ने कहा कि मैं चाहता हूं प्रियंका यूपी में और भी एक्टिव रहें, अंत में जनता ही तय करेगी कि किसपर भरोसा किया जाए.

सीएम योगी पर अखिलेश ने कसा तंज
चुनावों को लेकर सीएम योगी के दावे पर अखिलेश यादव ने तंज कसा और कहा कि वो बाबा-संत हैं, कल क्या होने वाला है वो देख लेते हैं. पहले ये बताएं कि मुख्यमंत्री जी उस पार्टी के सदस्य हैं या नहीं है, क्या विधायक उनके साथ हैं. अगर विधायकों को पता लगेगा कि उन्हें टिकट नहीं मिलेगा, तो क्या होगा एक बार सदन बुलाए. पूर्व यूपी सीएम ने कहा कि जिन्होंने कब्रिस्तान-श्मशान की बात की, उन्हें जनता नहीं वोट करेगी.

अपने चाचा शिवपाल यादव को लेकर अखिलेश यादव ने कहा कि जसवंतनगर पर हमारी पार्टी चुनाव नहीं लड़ेगी. हम उनके दल को भी साथ लेकर चलेंगे. शिवपाल हमारे चाचा हैं, उनकी पार्टी के साथ गठबंधन करेंगे.

पश्चिम बंगाल के चुनावों को लेकर अखिलेश यादव ने कहा कि ऐसा चुनाव देश ने नहीं देखा, जहां बीजेपी ने पूरी ताकत लगा दी. फिर भी जनता ने ममता जी को चुना है. अभी प्रदेश के चुनाव हो रहे हैं, जब देश का चुनाव होगा तो अलग होगा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें