scorecardresearch
 

विकास की भी बात, पिछली सरकारों पर हमले... Jewar Airport का शिलान्यास कर PM मोदी ने कहीं 10 बड़ी बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास किया. इस एयरपोर्ट के पहले चरण का काम 2024 में पूरा होने की उम्मीद है. शिलान्यास के बाद पीएम मोदी ने जनसभा को भी संबोधित किया, जिसमें उन्होंने पिछली सरकारों को जमकर घेरा.

पीएम मोदी ने शिलान्यास कर लोगों को संबोधित किया. (फोटो-ट्विटर) पीएम मोदी ने शिलान्यास कर लोगों को संबोधित किया. (फोटो-ट्विटर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मोदी बोले- पहले की सरकारों ने सिर्फ घोषणाएं कीं
  • पीएम मोदी ने कहा, तय समय में पूरा होगा प्रोजेक्ट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गुरुवार को पश्चिमी यूपी के लोगों को बड़ी सौगात दी. उन्होंने गौतमबुद्ध नगर में जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) का शिलान्यास किया. शिलान्यास के बाद पीएम मोदी ने यहां जनसभा को भी संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी न सिर्फ विकास की बात की, बल्कि पिछली सरकारों को भी घेरा. पढ़ते हैं पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें...

1. इस एयरपोर्ट के भूमिपूजन के साथ ही दाऊ जी मेले के लिए प्रसिद्ध जेवर भी अंतरराष्ट्रीय मानचित्र पर अंकित हो गया है. इसका बहुत बड़ा लाभ दिल्ली-एनसीआर और पश्चिमी यूपी के करोड़ों लोगों को होगा. 21वीं सदी का नया भारत आज एक से बढ़कर एक बेहतरीन आधुनिक इन्फ्रास्ट्रक्चर का निर्माण कर रहा है. बेहतर सड़कें, बेहतर रेल नेटवर्क, बेहतर एयरपोर्ट, ये सिर्फ इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट ही नहीं होते, बल्कि ये पूरे क्षेत्र का कायाकल्प कर देते हैं, लोगों का जीवन बदल देते हैं. हर किसी को इसका लाभ मिलता है. 

2. आज भी हम 85 फीसदी विमानों को एमआरओ सेवा के लिए विदेश भेजते हैं और इस काम के पीछे हर साल 15 हजार करोड़ रुपये खर्च होते हैं. 30 हजार करोड़ में ये प्रोजेक्ट बनने वाला है. हजारों करोड़ रुपये खर्च होते हैं, जिसका ज्यादातर हिस्सा दूसरे देशों को जाता है. अब ये एयरपोर्ट इस स्थिति को भी बदलने में मदद करेगा. 

3. जिन राज्यों की सीमा समंदर से सटी होती है, उनके लिए बंदरगाह, पोर्ट, बहुत बड़े एसेट होते हैं, लेकिन यूपी जैसे लैंडलॉक राज्यों के लिए यही भूमिका एयरपोर्ट की होती है. एयरपोर्ट के बनने से एक्सपोर्ट भी बढ़ेगा. अब यहां के किसान साथी फल, सब्जी, मछली जैसी जल्दी खराब होने वाली उपज को सीधे एक्सपोर्ट कर पाएंगे.

ये भी पढ़ें-- Jewar Airport: देश का पहला net zero emission एयरपोर्ट, जानें और भी खासियतें

4. हवाई अड्डे के निर्माण के दौरान रोजगार के हजारों अवसर बनते हैं. सुचारू रूप से चलाने के लिए भी हजारों की जरूरत होती है. पश्चिमी यूपी के हजारों लोगों को नए रोजगार देगा. राजधानी के पास होने से पहले ऐसे क्षेत्रों को एयरपोर्ट से नहीं जोड़ा जाता था. माना जाता था कि दिल्ली में तो है ही, हमने इस सोच को बदला है. 

5. आजादी के 7 दशक बाद पहली बार यूपी को वो मिलना शुरू हुआ है, जिसका वो हमेशा से हकदार रहा है. डबल इंजन की सरकार के प्रयासों से आज यूपी देश के सबसे कनेक्टेड क्षेत्र में बदल रहा है. रैपिड रेल कॉरिडोर हो, एक्सप्रेस वे हो, मेट्रो कनेक्टिविटी  पर काम हो रहा है. ये आधुनिक होते उत्तर प्रदेश की नई पहचान बन रहे हैं.

6. जिस यूपी को पहले की सरकारों ने अंधेरे में रखा था, झूठे सपने दिखाए थे, आज वही उत्तर प्रदेश अंतरराष्ट्रीय स्तर पर छाप छोड़ रहा है. आज यूपी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर के मेडिकल संस्थान, रेलवे, हाईवे, एयर कनेक्टिविटी मिल रही है. इसलिए आज देश और दुनिया के निवेशक कहते हैं यूपी यानी उत्तम सुविधा, निरंतर निवेश. 

7. दो दशक पहले यूपी की भाजपा सरकार ने इस प्रोजेक्ट का सपना देखा था, लेकिन बाद में ये एयरपोर्ट अनेक सालों तक दिल्ली और लखनऊ की खींचतान में उलझा रहा. यूपी में पहले जो सरकार थी, उसने तो बकायदा चिट्ठी लिखकर तब की केंद्र सरकार को कह दिया था कि इस एयरपोर्ट के प्रोजेक्ट को बंद कर दिया जाए. अब डबल इंजन की सरकार के प्रयासों से आज हम उसी एयरपोर्ट के भूमिपूजन के साक्षी बन रहे हैं. 

8. मोदी-योगी भी चाहते तो 2017 में सरकार बनते ही यहां आकर भूमि पूजन कर देते, फोटो खींचवा देते, अखबार में प्रेस नोट भी छप जाती और अगर ऐसा हम करते तो पहले की सरकारों की आदत होने के कारण हम कुछ गलत कर रहे हैं, ऐसा भी नहीं लगता. पहले आनन-फानन में रेबड़ियों की तरह प्रोजेक्ट की घोषणाएं होती थीं, लेकिन प्रोजेक्टस जमीन पर कैसे उतरेंगे, अड़चनों को दूर कैसे करेंगे, धन का प्रबंध कहां से करेंगे, इस पर विचार ही नहीं होता था. इस कारण से प्रोजेक्ट दशकों तक तैयार नहीं होते थे. घोषणा हो जाती थी. लेकिन हमने ऐसा नहीं किया. इन्फ्रास्ट्रक्चर हमारे लिए राजनीति नहीं, राष्ट्रनीति का हिस्सा है. हम सुनिश्चित कर रहे हैं कि तय समय पर ही काम पूरा हो जाए. देरी होने पर हमने जुर्माने का प्रवधान किया है.

9. पहले की सरकारों के दौरान इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए किसानों से जमीन तो ली गई, लेकिन उनमें या तो मुआवजे से जुड़ी समस्या रही, या फिर सालों से जमीन बेकार पड़ी है. हमने किसान हित में, देश के हित में इन अड़चनों को भी दूर किया. हमने सुनिश्चित किया कि प्रशासन किसानों से समय पर भूमि खरीदे और तब जाकर 30 हजार करोड़ की इस परियोजना का भूमि पूजन करने के लिए आगे बढ़े हैं.

10. कुछ राजनीतिक दलों द्वारा किस तरह की राजनीति हुई, सबने देखा, लेकिन भारत विकास की राजनीति से नहीं हटा. कुछ समय पहले 100 करोड़ वैक्सीन डोज के कठिन पड़ाव को पार किया है. इसी भारत ने 2070 तक नेट जीरो के लक्ष्य तय किया. कुशीनगर में एयरपोर्ट का लोकार्पण किया है. यूपी में 9 मेडिकल कॉलेज को उद्घाटन किया गया. झांसी में डिफेंस कॉरिडोर के काम ने गति पकड़ी. पिछले हफ्ते पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे समर्पित किया गया. मध्य प्रदेश में बहुत भव्य आधुनिक रेलवे स्टेशन का लोकार्पण किया गया है. महाराष्ट्र में सैकड़ों किमी के हाईवे का शिलान्यास और लोकार्पण किया गया. हमारी राष्ट्रसेवा के सामने कुछ राजनीतिक दलों की स्वार्थनीति नहीं टिक सकती.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×