scorecardresearch
 

UP Elections 2022: 'ना अली, ना बाहुबली...', नारे ने बढ़ाई BJP उम्मीदवार नंदकिशोर गुर्जर की मुश्किलें, मिला नोटिस

UP Assembly Election 2022: नंदकिशोर गुर्जर ने कहा था कि लोनी में 'ना अली, ना बाहुबली, लोनी में सिर्फ बजरंगबली'. मतलब साफ है कि इस नारे को देकर हिंदू वोट पर नंद किशोर गुर्जर फोकस कर रहे हैं.

X
बीजेपी प्रत्याशी नंद किशोर गुर्जर (फोटो साभारः ट्विटर) बीजेपी प्रत्याशी नंद किशोर गुर्जर (फोटो साभारः ट्विटर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • EC ने पूछा- धार्मिक आधार पर क्यों दिया नारा? 
  • चुनाव आयोग ने 3 दिन के भीतर मांगा जवाब

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Elections 2022) में लोनी विधानसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी नंद किशोर गुर्जर (Nand Kishore Gurjar) की परेशानियां बढ़ सकती हैं. नंदकिशोर गुर्जर के कथित विवादित बयान "लोनी में न अली, न बाहुबली, लोनी मे सिर्फ बजरंगबली" के नारे पर जिला निर्वाचन अधिकारी पर चुनाव आयोग द्वारा उन्हें नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है. 

रिटर्निग अफसर द्वारा जारी किए गए नोटिस में कहा गया है कि गुर्जर तीन दिनों के भीतर यानी बुधवार तक लिखित में जमा करें अपनी दलील आखिर धार्मिक आधार पर क्यों दिया नारा? 

'ना अली, ना बाहुबली...' का दिया था नारा
दरअसल, बीजेपी द्वारा प्रत्याशी की लिस्ट जारी किए जाने के बाद नंदकिशोर गुर्जर ने कहा था कि लोनी में 'ना अली, ना बाहुबली, लोनी में सिर्फ बजरंगबली'. मतलब साफ है कि इस नारे को देकर हिंदू वोट पर नंद किशोर गुर्जर फोकस कर रहे हैं. इस दौरान नंदकिशोर गुर्जर के दफ्तर में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जमकर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई.

नंदकिशोर गुर्जर का कहना है कि एक बार फिर वह अपने कामों के बूते जीत हासिल करेंगे. इस दौरान उन्होंने आरएलडी एसपी के गठबंधन प्रत्याशी मदन भैया पर निशाना साधा, और कहा कि उन पर तो मुकदमे दर्ज हैं. उन पर जनता विश्वास नहीं करेगी. उन्होंने कहा कि जिन्ना की बात करने वाली पार्टी कहीं स्टैंड नहीं करती है. नंदकिशोर गुर्जर का कहना है कि एक बार फिर वह अपने कामों के बूते जीत हासिल करेंगे. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें