scorecardresearch
 
यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022)

UP: मंच पर बैठने को लेकर भिड़े BJP नेता, गाली-गलौज के साथ हाथापाई भी

कन्नौज में भिड़े बीजेपी नेता
  • 1/8

उत्तर प्रदेश के कन्नौज में मंच पर बैठने को लेकर भाजपा कार्यकर्ता आपस में ही भिड़ गए. इसके बाद वहां अफरा-तफरी मच गई. वहां मौजूद अन्य लोगों ने मामले को शांत कराया. बताया जा रहा है कि वर्तमान भाजपा विधायक के समर्थकों ने जिला उपाध्यक्ष और उनके समर्थकों के साथ मारपीट की.

कन्नौज में भिड़े बीजेपी नेता
  • 2/8

दरअसल, भाजपा की जन विश्वास रैली बुधवार शाम छिबरामऊ में पहुंची थी. नगर भ्रमण के बाद शहर के पूर्वी बाईपास स्थित नेहरू महाविद्यालय में जनसभा का आयोजन किया गया था. यहां काफी भव्य मंच बनाया गया था.

कन्नौज में भिड़े बीजेपी नेता
  • 3/8

मंच पर उस समय अफरातफरी का माहौल पैदा हो गया, जब कुछ कार्यकर्ताओं की एक स्थानीय भाजपा के कद्दावर नेता विपिन द्विवेदी से मंच पर बैठने को लेकर नोकझोंक हो गई. मामला इतना तूल पकड़ लिया कि गाली-गलौज के साथ हाथापाई शुरू हो गई.

कन्नौज में भिड़े बीजेपी नेता
  • 4/8

भाजपा के वरिष्ठ नेता जन संकल्प रैली की जनसभा के मंच को साझा करने पहुंचे थे. उनको मंच पर देखते ही कुछ कार्यकर्ताओं का पारा चढ़ गया और फिर कार्यकर्ता मंच पर पहुंच गए.

कन्नौज में भिड़े बीजेपी नेता
  • 5/8

मामले में विपिन द्विवेदी वर्तमान भाजपा विधायिका अर्चना पांडे के समर्थकों पर मारपीट का आरोप लगा रहे हैं. वहीं सपा के पूर्व विधायक अरविंद यादव इस मामले को भाजपा नेताओं की आपस में वर्चस्व की लड़ाई बता रहे हैं.

कन्नौज में भिड़े बीजेपी नेता
  • 6/8

मीडिया से बात करते हुए भाजपा जिला उपाध्यक्ष विपिन द्विवेदी ने कहा कि विधायक अर्चना पांडेय के मामा बृजेश संजय चतुर्वेदी ने हमारे पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की, जब हमने मंच पर चढ़ने का प्रयास किया तो विधायक के मामा के लड़के रवि चतुर्वेदी मुझे रोकने का प्रयास किया.

कन्नौज में भिड़े बीजेपी नेता
  • 7/8

भाजपा नेता विपिन द्विवेदी ने कहा कि मुझे जबरदस्ती मंच पर रोकने का प्रयास किया गया, उन्होंने अपने परिवार के लोगों को मंच पर चढ़ाकर मुझ पर डंडा चलाया, अब मैं पार्टी के ऊपर लोगों से इसके बारे में बात करूंगा. 

कन्नौज में भिड़े बीजेपी नेता
  • 8/8

खैर इस मामले में बीजेपी विधायक अर्चना पांडेय की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है, लेकिन बीजेपी के इस आपसी लड़ाई पर सपा मजे ले रही है. पा के पूर्व विधायक अरविंद यादव इस मामले को भाजपा नेताओं की आपस में वर्चस्व की लड़ाई बता रहे हैं.