scorecardresearch
 

आजम खान की बढ़ेंगी मुश्किलें, जौहर यूनिवर्सिटी के खिलाफ ED भी कर सकती है जांच

शिकायत को लेकर प्रवर्तन निदेशालय ने शिकायतकर्ता आकाश सक्सेना से सबूत मांगे थे जिसके बाद बीजेपी नेता ने ईडी को सबूत मुहैया करा दिया है. शिकायत में जौहर यूनिवर्सिटी के खातों में गलत तरीके से करोड़ों रुपये की फंडिंग के आरोप लगाए गए हैं.

X
पूर्व मंत्री आजम खान पूर्व मंत्री आजम खान
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आजम खान की बढ़ सकती हैं मुश्किलें
  • जौहर यूनिवर्सिटी फंडिंग मामले ईडी कर सकती है जांच

अब यूपी पुलिस के बाद प्रवर्तन निदेशालय ने भी पूर्व मंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान के खिलाफ शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता आकाश सक्सेना ने आजम खान की मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी में फंडिंग को लेक ईडी से शिकायत की थी.

अब इस शिकायत को लेकर प्रवर्तन निदेशालय ने शिकायतकर्ता आकाश सक्सेना से सबूत मांगे थे जिसके बाद बीजेपी नेता ने ईडी को सबूत मुहैया करा दिया है. शिकायत में जौहर यूनिवर्सिटी के खातों में गलत तरीके से करोड़ों रुपये की फंडिंग के आरोप लगाए गए हैं.

बता दें कि 26 फरवरी 2020 से सीतापुर जेल में बंद समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मोहम्मद आजम खान के खिलाफ योगी सरकार के शासन में 100 से अधिक मुकदमे दर्ज किए जा चुके हैं. इन मुकदमों में अधिकतर में अदालत ने उन्हें जमानत दे दी है लेकिन कुछ मामलों की सुनवाई हाई कोर्ट में चल रही है. 

ऐसे में राज्य पुलिस द्वारा दर्ज किए गए मामलों में भले ही उन्हें राहत मिलती नजर आ रही हो लेकिन अब ईडी की जांच से उनकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं.

बीजेपी नेता आकाश सक्सेना ने जौहर यूनिवर्सिटी फंडिंग को लेकर मार्च 2021 में शिकायत की थी. बीजेपी नेता का आरोप है कि आजम खान के मंत्री रहते हुए नोटबंदी के समय 2015, 2016, 2017 की जो बैलेंस शीट हैं उसमें सबसे ज्यादा डोनेशन दिखाया गया है. 222 करोड़ रुपये का डोनेशन बैलेंस शीट में दिखाया गया है जबकि इन पैसों को दान देने वाले लोगों के इनकम टैक्स रिटर्न से पता चलता है कि वो तो इतना डोनेशन देने लायक ही नहीं थे. उन्होंने पूछा की फिर ये पैसा कहां से आया है.

आकाश सक्सेना ने कहा कि उन्होंने ईडी को जौहर यूनिवर्सिटी का बैलेंस शीट उपलब्ध करा दिया है और उम्मीद है सरकार इस मामले में आम आदमी की तरह ही आजम खान के खिलाफ भी कार्रवाई करेगी.

ये भी पढ़ें:


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें