scorecardresearch
 

UP: सिराथू में बहन के खिलाफ प्रचार करने उतरीं अनुप्रिया, क्या मां के विरुद्ध भी मांगेंगी वोट?

Uttar Pradesh Assembly Elections 2022: सिराथू सीट से समाजवादी पार्टी ने केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की बहन को चुनावी मैदान में उतारकर मुकाबले को दिलचस्प कर दिया है. यहां बीजेपी की ओर से डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य चुनाव लड़ रहे हैं.

X
अनुप्रिया पटेल (File Pic) अनुप्रिया पटेल (File Pic)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पिता ने किसी और पार्टी से नहीें लड़ा चुनाव
  • मां के खिलाफ प्रचार नहीं करेंगी अनुप्रिया पटेल

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Elections 2022) के रण में मुकाबला दिनों-दिन दिलचस्प होता जा रहा है. यहां बहन-बहन और भाई-भाई एक दूसरे के खिलाफ चुनाव प्रचार करने में जुट गए हैं. इसी कड़ी में सोमवार को बीजेपी नेता अनुप्रिया पटेल (Anupriya Patel)  ने सिराथू में सपा प्रत्याशी और अपनी बहन पल्लवी पटेल के खिलाफ प्रचार किया. इस दौरान अनुप्रिया पटेल ने पल्लवी पटेल पर पिता सोनेलाल पटेल के सिद्धांतों से समझौता करने का आरोप लगाया.

अनुप्रिया पटेल ने कहा, चुनाव है कोई भी कहीं से लड़ सकता है और वो मेरी बड़ी बहन है लेकिन मेरा अपनी बहन से सवाल यह है कि पिता के आदर्शों के प्रति अगर प्रतिबद्धता है तो फिर अपने चुनाव चिह्न से क्यों नहीं चुनाव लड़ा? साइकिल से चुनाव क्यों लड़ रही हैं.

पिता ने किसी और पार्टी से नहीं लड़ा चुनाव, तो...

बीजेपी प्रत्याशी केशव प्रसाद मौर्य के लिए चुनाव प्रचार करने सिराथू पहुंची अनुप्रिया पटेल ने कहा, बात यहां पिता के सिद्धांत और विचारधारा की है उसे साबित करने की है मेरी यात्रा 12 सालों की है हमने डॉक्टर साहब के सिद्धांतों से समझौता नहीं किया लेकिन मैं अपनी बहन से पूछती हूं कि उन्होंने पिता के सिद्धांत से कैसे समझौता कर लिया. मेरे पिता आज तक किसी दूसरे पार्टी के सिंबल से चुनाव नहीं लड़े तो उनकी बेटी ने जो कि मेरी बहन है वह कैसे साइकिल चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ सकती है.

पटेल ने आगे कहा,समाजवादी पार्टी की विचारधारा को मानकर मेरी बहन ने उनके सिंबल पर चुनाव लड़ना स्वीकार किया है लेकिन सोनेलाल पटेल के समर्थकों को यह बात गले नहीं उतरेगी. उन्होंने कहा कि 27 फरवरी को जब यहां वोटिंग होगी तो सोनेलाल को मानने वाले जितने भी लोग हैं एनडीए को ही वोट देंगे. 

किसी के खिलाफ नहीं सिर्फ एनडीए के लिए प्रचार

अनुप्रिया पटेल ने आगे कहा कि वह सिराथू में किसी के खिलाफ प्रचार करने के लिए नहीं आई हैं. उन्होंने यह भी कहा कि वह सोनेलाल पटेल की विचारधारा के लिए लड़ती रही है. अनुप्रिया पटेल ने कहा, मैं किसी के खिलाफ प्रचार करने के लिए यहां नहीं आई हूं. मैं एनडीए गठबंधन में सहयोगी हूं और अपनी पार्टी के लिए चुनाव प्रचार करने के लिए यहां आई हूं. 

मां के खिलाफ नहीं करेंगी प्रचार

अनुप्रिया पटेल बेशक बहन के खिलाफ प्रचार कर रही हों, लेकिन उन्होंने मां के खिलाफ प्रचार करने से साफ इनकार कर दिया है. पटेल ने कहा, प्रतापगढ़ सदर सीट पर हमारा विधायक था लेकिन जब मेरी माता जी ने वहां से चुनाव लड़ने का फैसला किया तो हम लोगों ने यह फैसला लिया कि हम वहां से चुनाव नहीं लड़ेंगे और मैं अपनी मां के खिलाफ चुनाव प्रचार नहीं करूंगी.

ये भी पढ़ें

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें