scorecardresearch
 

पंचायत आजतक 2021: चुनाव से पहले यूपी सरकार पर जमकर बरसे अखिलेश यादव- मेनिफेस्टो नहीं, मनीफेस्टो बनाती है BJP

यूपी चुनाव से पहले 'पंचायत आजतक' में हिस्सा लेते हुए उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने शुक्रवार को यूपी सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि बीजेपी मेनिफेस्टो नहीं बनाती है, वह मनीफेस्टो बनाती हैं.

पंचायत आज तक उत्तर प्रदेश 2021: अखिलेश यादव पंचायत आज तक उत्तर प्रदेश 2021: अखिलेश यादव
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 'पंचायत आजतक' में यूपी सरकार पर बरसे अखिलेश
  • 'बीजेपी मेनिफेस्टो नहीं, मनीफेस्टो बनाती है'
  • 'सिर्फ झूठ बोलना ही यूपी सरकार का काम'

आगामी यूपी चुनाव से पहले 'पंचायत आजतक' में हिस्सा लेते हुए उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने शुक्रवार को यूपी सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कोरोना, किसान, प्रवासी मजदूर समेत विभिन्न मुद्दों पर राज्य सरकार को घेरते हुए कई सवाल उठाए. अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी मेनिफेस्टो नहीं बनाती है, मनीफेस्टो बनाती हैं. सरकार का काम सिर्फ झूठ बोलना ही है.

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने दावा किया कि बीजेपी सरकार ने यूपी को पीछे कर दिया है. दोनों सरकारों (केंद्र और यूपी) ने उत्तर प्रदेश को आखिरकार क्या दिया? यह सवाल है. यह मेनिफेस्टो नहीं बनाते हैं, मनीफेस्टो बनाते हैं. एक्सप्रेस-वे इनके नहीं हैं. इससे बड़ा झूठ और क्या हो सकता है? समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे में से समाजवादी नाम हटा दिया और एक्सप्रेस-वे अपना कर लिया. अखिलेश यादव ने कहा कि जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आएं तो उनसे सवाल किया जाना चाहिए कि जमीन का अधिग्रहण किसने किया था. 

उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोलते हुए कहा,  ''मुख्यमंत्री जी कह रहे थे कि एक्सप्रेस-वे महंगा बन रहा था, लेकिन जिस दिन अपने ठेकेदार को एडजस्ट कर लिया, उस दिन पूरी महंगाई खत्म हो गई. आजतक यूपी सरकार ने दूसरी सरकार का फीता ही सिर्फ काटा है. अभी मिर्जापुर में कहा गया कि यूपी की पहली रोप-वे का उद्घाटन किया गया है. वह रोप-वे आखिर किसने बनाई थी?'' लखनऊ मेट्रो पर अखिलेश यादव ने राज्य सरकार को घेरते हुए कहा कि राजधानी में मेट्रो वहीं तक जाती है, जहां तक समाजवादी पार्टी की सरकार ने बनाई थी. वर्तमान सरकार उसे आगे नहीं बढ़ा सकी. 

यह भी पढ़ें: प्रमोद कृष्णम बोले- अयोध्या के समकक्ष दुनिया में न कोई नगरी है, न हो सकती है

वहीं, अखिलेश यादव ने कार्यक्रम में कोरोना महामारी को लेकर भी यूपी सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि पहली लहर के दौरान मजदूर चलते-चलते अपने घर पहुंचे. क्या सरकार मजदूरों को घर पहुंचाने का इंतजाम नहीं कर सकती थी? आखिरकार सरकार ने उनकी क्या मदद की? यूपी में पैदल चलते-चलते 90 से ज्यादा मजदूरों की जान चली गई.

'कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट पर पीएम की तस्वीर क्यों?'
अखिलेश यादव ने वैक्सीन सर्टिफिकेट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर को लेकर निशाना साधते हुए कहा कि आखिर उनकी फोटो क्यों है? यह जनता का पैसा है. अगर पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी सर्टिफिकेट पर फोटो लगा रही हैं तो उसमें गलत क्या है? मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी सर्टिफिकेट पर अपनी तस्वीर लगानी चाहिए. जिस समय मैंने वैक्सीन पर सवाल उठाया था, उस समय कई लोग सवाल खड़े कर रहे थे. कई लोगों ने वैक्सीन लगवा ली है, वे विदेश नहीं जा पा रहे हैं. इसके पीछे वजह यह है कि आपकी बनाई वैक्सीन लगाकर विदेश नहीं जा सकते हैं. उन्होंने कहा कि वैक्सीन पर दुनियाभर में बहस हो रही है. अमेरिका में वैक्सीन लगवाने पर डॉलर मिलने पर ऑफर दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि जिस दिन यूपी के सभी गरीबों को कोरोना का टीका लग जाएगा, उस दिन मैं भी वैक्सीन लगवा लूंगा. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×