scorecardresearch
 

UP: रामलला के दर्शन से AAP करेगी चुनाव अभियान का आगाज, हिंदुत्व-राष्ट्रवाद से बीजेपी को देगी चुनौती

उत्तर प्रदेश के सियासी रण में योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली बीजेपी से दो-दो हाथ करने के लिए हिंदुत्व और राष्ट्रवाद को आम आदमी पार्टी अपना सबसे बड़ा सियासी हथियार बनाने की कवायद में है. AAP यूपी में चुनाव अभियान की शुरुआत बीजेपी के मजबूत दुर्ग माने जाने वाले अयोध्या में रामलला के दर्शन के साथ करेगी जबकि तिरंगा यात्रा के जरिए राष्ट्रवाद को धार देने का प्लान भी बनाया गया है.

संजय सिंह और मनीष सिसोदिया संजय सिंह और मनीष सिसोदिया
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली के विकास मॉडल पर यूपी में चुनाव लड़ेगी AAP
  • अयोध्या से AAP करेगी चुनाव अभियान का आगाज
  • तिरंगा यात्रा के बहाने राष्ट्रवाद को हवा देंगे केजरीवाल

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव मैदान में किस्मत आजमाने उतरी आम आदमी पार्टी भले ही दिल्ली के केजरीवाल मॉडल को आगे कर चल रही हो. लेकिन, योगी आदित्यनाथ से दो-दो हाथ करने के लिए हिंदुत्व और राष्ट्रवाद को आम आदमी पार्टी अपना सबसे बड़ा सियासी हथियार बनाने की कवायद में है. AAP यूपी में चुनाव अभियान की  शुरुआत बीजेपी के मजबूत दुर्ग माने जाने वाले अयोध्या में रामलला के दर्शन के साथ करेगी जबकि उसने तिरंगा यात्रा के जरिए राष्ट्रवाद को धार देने का प्लान भी बनाया है. 

बीजेपी के गढ़ से AAP का शंखनाद
यूपी की योगी सरकार को उसी के गढ़ और उसी के मुद्दों पर घेरने के लिए AAP ने तैयारी की है. 14 सितंबर को अयोध्या में हजारों कार्यकर्ताओं के साथ आम आदमी पार्टी तिरंगा यात्रा निकालेगी. राज्यसभा सदस्य संजय सिंह और दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया 14 सितंबर को अयोध्या में राममंदिर में रामलला और हनुमानगढ़ी में दर्शन-पूजा अर्चना के बाद तिरंगा यात्रा में शामिल होंगे. 

अयोध्या के गुलाबबाड़ी मैदान से गांधीपार्क तक होने वाली तिरंगा यात्रा के जरिए आम आदमी पार्टी अपनी सियासी धमक दिखाएगी. इसके लिए पार्टी पदाधिकारियों को अभी से सक्रिय कर दिया गया है. तिरंगा यात्रा को सफल बनाने के लिए हजारों कार्यकर्ताओ को प्रदेश अलग-अलग जिलों से बसों के जरिए अयोध्या लाने की भी तैयारी पार्टी ने की है. इस यात्रा के जरिए आप की राष्ट्रवाद के मुद्दे पर बीजेपी को चुनौती देने की रणनीति है.   

बीजेपी का राष्ट्रवाद बनाम AAP का राष्ट्रवाद

दरअसल, 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव में आप की रणनीति बीजेपी को उसी के मुद्दों पर घेरने की है. बीजेपी के लगभग सभी नेता अपने बयानों में राष्ट्रवाद और राष्ट्रविरोधी ताकतों का जिक्र करते हैं. इस तरह वो विपक्षी पार्टियों पर सीधे तौर पर सवाल उठाते हैं, लेकिन अब तिरंगा यात्रा के जरिए आम आदमी पार्टी राष्ट्रवाद की परिभाषा को यूपी चुनाव में भी लागू करने की तैयारी में है.

आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता तिरंगा यत्रा के दौरान महंगाई, बेरोजगारी, किसान की फसल का उचित मूल्य, महिला सुरक्षा जैसे मुद्दों को लोगों के सामने लाएंगे. आम आदमी पार्टी के यूपी अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने कहा कि यही असली राष्ट्रवाद है. आप का मानना है कि देश की जनता का कल्याण और खुशहाली ही राष्ट्रवाद की सही परिभाषा है. इसी को हम तिरंगा यात्रा के जरिए लोगों को बताने का काम करेंगे. 

यूपी में दिल्ली मॉडल पेश करेगी AAP
आम आदमी पार्टी दिल्ली चुनाव में जारी अपने घोषणापत्र का फार्मूला यूपी में आजमाने की तैयारी में है. इसके लिए आप पार्टी यूपी के मतदाताओं को बिजली, पानी, शिक्षा, चिकित्सा, रोजगार नहीं तो बेरोजगारी भत्ता और महिला सुरक्षा का नारा देगी. 

बता दें कि ऐसे ही वादे दिल्ली चुनाव में भी AAP ने किए थे जिसकी सफलता के बाद अब उसे यूपी चुनाव में आजमाने की है. आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह कहते है कि हमारी प्राथमिकताएं और नीतियां दोनों इसी तरह की हैं जिसमें जनता का कल्याण और उसका हित केंद्र बिंदु में है. इसलिए यह कहना गलत होगा कि हम दिल्ली के घोषणापत्र की तरह यूपी में जनकल्याणकारी घोषणा करने जा रहे हैं. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×