scorecardresearch
 

Punjab Election: कॉमेडियन से MP और अब AAP के CM फेस... Bhagwant Mann का ऐसा रहा सफर

Punjab Assembly Elections 2022: भगवंत मान ने 2011 में राजनीति में एंट्री ली, लेकिन उस साल सफल नहीं हो पाए. मार्च 2014 में आप ज्वाइन करने के बाद उनकी किस्मत का पासा पलटा. मान ने अपने गृह जिले संगरूर से लोकसभा चुनाव लड़ा और मोदी लहर के बीच भी 2 लाख से ज्यादा वोटों से जीते.

X
भगवंत मान भगवंत मान
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भगवंत मान होंगे पंजाब में आप के सीएम फेस
  • अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कांफ्रेंस कर की घोषण

Punjab CM Candidate: आम आदमी पार्टी ने भगवंत मान को पंजाब में सीएम फेस बनाया है. केजरीवाल ने प्रेस कांफ्रेंस कर मंगलवार को इसकी घोषणा की. उन्होंने कहा कि पंजाब के 21 लाख से ज्यादा लोगों ने फोन और मैसेज कर सीएम कैंडिडेट के लिए अपना वोट दिया. 93.3 प्रतिशत वोटों के साथ भगवंत मान इसमें सबसे आगे रहे. आइए आपको भगवंत मान से जुड़ी अहम जानकारियां बताते हैं.

48 साल के भगवंत मान पंजाब के संगरूर से सांसद हैं. यह इलाका मालवा क्षेत्र में आता है. भगवंत कॉलेज ड्रॉपआउट रहे हैं. इसके बाद उन्होंने स्टैंडअप कॉमेडी में भी हाथ आजमाया. फिर वे राजनीति में उतर आए. सक्रिय राजनीति में वे 2011 में आए. उन्होंने मनप्रीत सिंह बादल की पीपुल्स पार्टी ऑफ पंजाब ज्वाइन की. हालांकि उनकी लॉन्चिंग सफल नहीं रही. एक साल बाद हुए विधानसभा चुनाव में वे हार गए.

सांकेतिक तस्वीर

मार्च 2014 में आप ज्वाइन करने के बाद उनकी किस्मत का पासा पलटा. आप ज्वाइन करने के बाद मान ने अपने गृह जिले संगरूर से लोकसभा चुनाव लड़ा और मोदी लहर के बीच भी 2 लाख से ज्यादा वोटों से जीते. राजनीति में मान 2019 में AAP के लोकसभा चुनाव में एकमात्र सिल्वर लाइनिंग थे. उन्होंने संगरूर सीट से एक लाख से ज्यादा वोटों से दोबारा चुनाव जीता.

युवाओं के बीच लोकप्रिय हैं मान
अपने संसदीय क्षेत्र में मान युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय हैं. संगरूर के किसानों का मानना है कि वे जमीन से जुड़े हुए हैं. उनका दावा है कि मान ने उन्हें मतदाता के तौर पर उनके अधिकारों के बारे में बताया.

पत्नी से 2015 में लिया तलाक, बच्चे विदेश में
2015 में मान और उनकी पत्नी ने तलाक के लिए आवेदन दिया था. उनके दो बच्चे हैं. इसमें एक बेटी और एक बेटा है. दोनों ही विदेश में रहते हैं.

विवादों से भी रहा है नाता
भगवंत मान पर संसद की सुरक्षा के समझौता करने का आरोप भी लग चुका है. इतना ही नहीं उन पर शराब पीकर सदन में जाने का भी आरोप लगा था. अब भगवंत मान पर जिम्मेदारी आई है कि क्या वे पंजाब में आम आदमी पार्टी का झंडा बुलंद कर पाएंगे.

  • क्या पंजाब चुनाव में AAP को जीत दिला सकेंगे मुख्यमंत्री उम्मीदवार भगवंत मान?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें