scorecardresearch
 

झारखंड चुनाव: 20 सीटों पर वोटिंग जारी, रघुवर दास सहित कई दिग्गजों की साख दांव पर

झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण की 20 सीटों पर आज वोटिंग हो रही है. प्रदेश के 7 जिलों की 20 सीटों पर कुल 260 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. मुख्यमंत्री रघुवर दास से लेकर कई दिग्गज नेताओं और मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हैं.

झारखंड में दूसरे चरण की वोटिंग (फाइल-फोटो) झारखंड में दूसरे चरण की वोटिंग (फाइल-फोटो)

  • झारखंड की 20 विधानसभा सीटों के लिए 260 प्रत्याशी
  • दूसरे चरण की 15 सीटें नक्सल प्रभावित इलाके वाली हैं
  • रघुवर दास सहित कई मंत्रियों की साख दांव पर लगी है

झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण की 20 सीटों पर आज वोटिंग हो रही है. प्रदेश के 7 जिलों की 20 सीटों पर कुल 260 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. मुख्यमंत्री रघुवर दास से लेकर कई दिग्गज नेताओं और मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हैं. जमशेदपुर की पूर्वी और पश्चिमी सीट पर सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक वोटिंग होगी. जबकि बाकी सभी 18 सीटों पर सुबह 7 बजे से शाम 3 बजे तक ही मतदान होंगे.

दूसरे चरण की करीब 15 विधानसभा सीटें नक्सल प्रभावित इलाके में आती हैं, जो काफी चुनौती पूर्ण माना जा रहा है. इस चरण के चुनाव को सफलतापूर्वक संपन्न कराने के लिए  24264 कर्मचारी और 42 हजार से ज्यादा जवान (केंद्रीय और राज्य बल मिलाकर) तैनात रहेंगे.

16 सीटें आदिवासियों के लिए आरक्षित

झारखंड के दूसरे चरण की 20 सीटों में से 16 विधानसभा सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए और एक सीट अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित हैं. जबकि, तीन सीटें अनारक्षित हैं. अनुसूचित जनजाति के लिए सुरक्षित सीटों में घाटशिला, पोटका, सरायकेला, खरसावां, चाईबासा, मझगांव, जगन्नाथपुर, मनोहरपुर, चक्रधरपुर, तमाड़, मांडर, तोरपा, खूंटी, सिसई, सिमडेगा और कोलेबिरा शामिल हैं. वहीं, अनुसूचित जाति के लिए जुगसलाई सीट सुरक्षित है. सामान्य सीट में बहरागोड़ा, जमशेदपुर पूर्वी और जमशेदपुर पश्चिमी सीट शामिल है.

किस पार्टी के कितने प्रत्याशी

झारखंड के दूसरे चरण में 20 सीटों के लिए बीजेपी के 20, कांग्रेस के 6, जेएमएम के 14, आजसू के 12 और झारखंड विकास मोर्चा के 20 प्रत्याशी मैदान में उतरे हैं. इसके अलावा अन्य प्रमुख दलों में शामिल बसपा के 14, माकपा और भाकपा के तीन, एनसीपी का एक, तृणमूल कांग्रेस के पांच और 73 निर्दलीय उम्मीदवार शामिल हैं.

झारखंड के दूसरे चरण की जिन 20 विधानसभा सीटों पर चुनाव हो रहे हैं, उन पर 2014 के चुनाव में आठ-आठ सीटों पर बीजेपी और जेएमएम ने कब्जा जमाया था. जबकि, दो सीटें आजसू ने जीती थीं और दो सीटें अन्य के खाते में गई थीं.

रघुवर दास सहित कई दिग्गज नेताओं की साख दांव पर

दूसरे चरण में सबसे ज्यादा रोचक मुकाबला जमशेदपुर पूर्वी सीट पर है. इस सीट पर बीजेपी प्रत्याशी और मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ उनकी ही कैबिनेट के मंत्री व भाजपा के बागी नेता सरयू राय निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं. जबकि, कांग्रेस से गौरव बल्लभ मैदान में उतरे हैं. इसके चलते रघुवर दास के काफी कड़ी चुनौती मिल रही है.

सीएम रघुवर दास के साथ-साथ उनकी सरकार में मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, सरयू राय और रामचंद्र सहिस के भाग्य का फैसला भी इसी चरण में होना है. स्पीकर दिनेश उरांव एक बार फिर से सिसई से चुनाव लड़ रहे हैं. इसके अलावा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा की चक्रधरपुर सीट पर साख दांव पर लगी है. जबकि, चंपई सोरेन, जोबा मांझी, बंधु तिर्की सहित कई दिग्गज नेता दूसरे चरण के चुनाव में चक्रव्यूह में जबरदस्त तरीके से घिरे हुए हैं.

नक्सली कुंदन पाहन बनाम राजा पीटर

तमाड़ विस सीट से विधायक रहे पूर्व मंत्री रमेश सिंह मुंडा के हत्यारोपी नक्सली कुंदन पाहन के खिलाफ हत्या की सुपारी देने के आरोपी पूर्व मंत्री राजा पीटर चुनाव मैदान में हैं. रमेश सिंह मुंडा के पुत्र और इस सीट से निवर्तमान विधायक विकास सिंह मुंडा भी जेएमएम के टिकट से चुनाव लड़ रहे हैं. वहीं, 2014 विस चुनाव में बहरागोड़ा विधानसभा सीट से जेएमएम के टिकट पर विधायक बने कुणाल षाड़ंगी इस बार बीजेपी प्रत्याशी के तौर पर भाग्य आजमा रहे हैं.

विधायक दल-बदल कर दूसरे दल से ठोक रहे ताल

झारखंड के बदले हुए समीकरण में दूसरे चरण के विधायक दल-बदल कर दूसरे दल से चुनाव मैदान में हैं, तो कई का टिकट काटा गया है. बीजेपी ने अपने मौजूदा आठ सीटों में से चार सीट और जेएमएम ने तीन सीट पर नए चेहरे को मैदान में उतारा है.जेएमएम के अपने आठ विधायकों में से कुणाल षाड़ंगी पार्टी छोड़ कर बीजेपी प्रत्याशी के तौर पर चुनाव मैदान में हैं. इन्हें बीजेपी छोड़ कर जेएमएम का दामन थामने वाले समीर मोहंती चुनौती दे रहे हैं.

वहीं, जेएमएम ने चक्रधरपुर के विधायक शशि भूषण सामड़  और तोरपा विधायक पौलुस सुरीन का टिकट काटा है. पौलुस सुरीन इस बार जहां निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं.  वहीं विधायक शशिभूषण सामद जेवीएम के प्रत्याशी हैं.जेएमएम के तीन नये चेहरों में समीर मोहंती, सुखराम उरांव और सुदीप गुड़िया शामिल हैं.

बीजेपी के खाते में रही आठ मौजूदा सीटों में से चार विधायकों का टिकट काटा गया है. इसमें मंत्री रहे सरयू राय, लक्ष्मण टुडू,  गंगोत्री कुजूर व विमला प्रधान शामिल हैं. इनकी जगह बीजेपी ने नए चेहरे को मैदान में उतारा है. इसमें देवेंद्र सिंह, देवकुमार धान, सर्वानंद बेसरा और लखन मार्डी शामिल हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें