scorecardresearch
 

झारखंडः दूसरे चरण का चुनाव हाई प्रोफाइल, CM समेत इन मंत्रियों की साख दांव पर

झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण की 20 सीटों पर विभिन्न दलों के 260 उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतरे हैं. इस चरण में मुख्यमंत्री रघुवरा दास से लेकर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा सहित कई मंत्रियों की साख दांव पर लगी है. वहीं, कांग्रेस से प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप बलमुचू भी बगवात कर आजसू से किस्मत आजमा रहे हैं.

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास

  • झारखंड के दूसरे चरण की 20 सीटों पर 260 प्रत्याशी
  • सीएम सहित कई मंत्री और दिग्गज की साख दांव पर

झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण की 20 सीटों पर विभिन्न दलों के 260 उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतरे हैं. इस चरण में मुख्यमंत्री रघुवरा दास से लेकर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा सहित कई मंत्रियों की साख दांव पर लगी है. वहीं, कांग्रेस से प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप बलमुचू भी बगवात कर आजसू से किस्मत आजमा रहे हैं. यही वजह है कि झारखंड चुनाव के पांच चरणों में से यह चरण काफी हाई प्रोफाइल माना जा रहा है.

झारखंड चुनाव के दूसरे चरण की 20 विधानसभा सीटों पर बीजेपी के 20, कांग्रेस के 6, जेएमएम के 14 और झारखंड विकास मोर्चा के 20 प्रत्याशी मैदान में उतरे हैं. इसके अलावा अन्य प्रमुख दलों में शामिल बसपा के 14, माकपा और भाकपा के तीन, एनसीपी का एक, तृणमूल कांग्रेस के पांच और 73 निर्दलीय उम्मीदवार शामिल हैं.

दूसरे चरण में सबसे हाई प्रोफाइल जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा सीट पर सभी की निगाहें टिकी हैं. मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ उनके ही कैबिनेट के मंत्री रहे सरयू राय निर्दलीय चुनाव मैदान में ताल ठोक रहे हैं. जबकि, कांग्रेस से गौरव वल्लभ और जेवीएम से अभय सिंह चुनौती दे रहे हैं. चौतरफा घिरे रघुवर दास के लिए अपनी जीत के सिलसिले को बरकरार रखना एक बड़ी चुनौती होगी.

सीएम रघुवर दास के साथ-साथ उनकी सरकार में मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, सरयू राय और रामचंद्र सहिस के भाग्य का फैसला भी इसी चरण में होना है. स्पीकर दिनेश उरांव एक बार फिर से सिसई से चुनाव लड़ रहे हैं. इसके अलावा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा की चक्रधरपुर सीट पर साख दावं पर लगी है. जबकि, चंपई सोरेन, जोबा मांझी, बंधु तिर्की सहित कई नेता चुनावी चक्रव्यूह में जबरदस्त तरीके से घिरे हुए हैं.

दूसरे चरण में तीन विधायक पार्टी बदल कर चुनाव मैदान में खड़े हैं. इसमें कुणाल षाड़ंगी,  विकास मुंडा और शशिभूषण सामड़ शामिल हैं. वहीं, पार्टी से टिकट नहीं मिलने के कारण सरयू राय और पौलुस सुरीन निर्दलीय मैदान में हैं. कुणाल षाड़ंगी जेएमएम छोड़ कर बीजेपी के टिकट पर बहरागोड़ा से चुनाव लड़ रहे हैं. विकास मुंडा आजसू छोड़ कर जेएमएम की टिकट से तमाड़ से चुनावी मैदान में हैं. जेएमएम से टिकट कटने के बाद शशिभूषण सामड़ चक्रधरपुर सीट से जेवीएम के उम्मीदवार के तौर पर मैदान में उतरे हैं.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष प्रदीप बलमुचू इस बार आजसू की टिकट पर घाटशिला से चुनाव लड़ रहे हैं. पिछले चुनाव में भाजपा की टिकट पर बहरागोड़ा से चुनाव लड़ने वाले समीर मोहंती इस बार जेएमएम के प्रत्याशी हैं. पूर्व आइएएस जेबी तुबिद दोबारा चाईबासा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. वह बीजेपी ने उम्मीदवार हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें