scorecardresearch
 

बिहार चुनावः तेजस्वी पर नीतीश का तंज- कोई अनुभव नहीं, जो मन में आए बोलता रहता है

सीएम ने युवाओं को नई टेक्नोलॉजी का प्रशिक्षण देने का वादा करते हुए कहा कि यदि ऐसा हो गया तो काम के लिए युवाओं को काम के लिए कहीं बाहर नहीं जाना पड़ेगा.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सीएम नीतीश ने भोजपुर में संबोधित की चुनावी जनसभा
  • गिनाए 15 साल के काम, की एनडीए को वोट की अपील
  • सीएम नीतीश ने लोगों को याद दिलाई आरजेडी की सरकार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान भोजपुर जिले के तरारी विधानसभा क्षेत्र में चुनावी जनसभा को संबोधित किया. नीतीश कुमार ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) उम्मीदवार के पक्ष में मतदान की अपील की. सीएम नीतीश ने अपनी सरकार की 15 साल की उपलब्धियां गिनाईं और विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) पर भी जमकर हमला बोला.

सीएम नीतीश ने कहा कि कुछ लोगों का धंधा है बयानबाजी करने का. नाम लिए बिना तेजस्वी यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि जो मन में आए, बोलता रहता है. उसे काम का अनुभव नहीं है. उन्होंने कहा कि हम प्रचार नहीं, काम करते हैं. हर जिले में शैक्षणिक संस्थान बनवाए, नल से जल पहुंचाने की योजना पर काम कर रहे, कई पुल-पुलिया बनवाए. लोगों के हित में एक-एक काम कर रहे हैं. सीएम ने युवाओं को नई टेक्नोलॉजी का प्रशिक्षण देने का वादा करते हुए कहा कि यदि ऐसा हो गया तो काम के लिए युवाओं को काम के लिए कहीं बाहर नहीं जाना पड़ेगा.

देखें: आजतक LIVE TV 

नीतीश कुमार ने कहा कि अगर इधर-उधर वोट किए तो फिर लोगों को भागना पड़ेगा. सीएम नीतीश ने आरजेडी के 15 साल के शासनकाल की याद दिलाई और कहा कि तब कितने कारोबारियों, डॉक्टर्स और अन्य लोगों को बिहार से जाना पड़ा था. उन्होंने कहा कि तब क्या हाल था, याद है न. सीएम ने लालू यादव और आरजेडी पर निशाना साधते हुए कहा कि जिनको जनता ने 15 साल मौका दिया, वे कुछ नहीं कर पाए.

सीएम नीतीश ने नक्सल गतिविधियां और अन्य बातों का जिक्र करते हुए कहा कि जब पति (लालू यादव) जेल गए तो पत्नी को बैठा गए. इसके बाद प्रदेश का जो हाल था, वह किसी से छिपा है. हम सरकार में आए तो सड़कें बनवाईं, आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम शुरू किया. महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण दिया. इन लोगों को पहले कौन पूछता था. नीतीश ने अपने काम की बदौलत समाज में एकता आने का दावा किया.

उन्होंने आरोप लगाया कि लोग राज कर रहे थे. 15 साल जिसने राज किया, वह एक परिवार था. हमने पूरे बिहार को परिवार माना. काम किया, कभी वोट की चिंता नहीं की. सीएम नीतीश ने आरजेडी की सरकार के समय की याद दिलाते हुए लोगों से एनडीए के पक्ष में मतदान की अपील की. गौरतलब है कि बिहार विधानसभा की 243 सीटों पर तीन चरणों में चुनाव होना है. बिहार के भोजपुर में पहले चरण में 28 अक्टूबर को मतदान होना है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें