scorecardresearch
 

बिहार: पुष्पम प्रिया ने की राष्ट्रपति शासन लागू कर चुनाव कराने की मांग, लिखा पत्र

पुष्पम प्रिया चौधरी ने कहा है कि प्लूरल्स पार्टी के उम्मीदवार साफ-सुथरी छवि और पढ़े-लिखे लोग हैं और बिहार को बदलने के लिए राजनीति में उतरे हैं. मगर उनके साथ लगातार दुर्व्यवहार किया जा रहा है.

पुष्पम प्रिया ने राष्ट्रपति को लिखा खत (फाइल फोटो) पुष्पम प्रिया ने राष्ट्रपति को लिखा खत (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पुष्पम प्रिया चौधरी ने राष्ट्रपति को लिखा खत
  • राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग की
  • पुलिस ने शुक्रवार को की थी एक प्रत्याशी की पिटाई

प्लूरल्स पार्टी की अध्यक्ष पुष्पम प्रिया चौधरी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर उनसे मांग की है कि बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव राष्ट्रपति शासन के तहत हों. राष्ट्रपति को लिखे पत्र में पुष्पम प्रिया चौधरी ने प्लूरल्स उम्मीदवारों के साथ मार-पीट, गाली-गलौच और लगातार मिल रही धमकी के मुद्दे को उठाया है.

पुष्पम प्रिया चौधरी ने कहा है कि प्लूरल्स पार्टी के उम्मीदवार साफ-सुथरी छवि और पढ़े-लिखे लोग हैं और बिहार को बदलने के लिए राजनीति में उतरे हैं. मगर उनके साथ लगातार दुर्व्यवहार किया जा रहा है, खासकर महिला उम्मीदवारों पर तंज कसे जा रहे हैं उनका मजाक उड़ाया जा रहा है.

दरअसल, शुक्रवार को प्लूरल्स पार्टी के अन्नू कुमार राघोपुर विधानसभा से नामांकन करने वैशाली जिला मुख्यालय गए हुए थे मगर वक्त पर नहीं पहुंचने के कारण नामांकन नहीं कर पाए. जब अन्नू कुमार नामांकन करने पहुंचे तो उस दौरान काफी बवाल मचा और पुलिस के द्वारा अन्नू कुमार की जमकर पिटाई की गई.

नामांकन करने की जिद में प्लूरल्स पार्टी के अन्नू कुमार ने पुलिस के साथ भी जमकर हाथापाई की. बवाल के बाद मौके पर पुलिस पहुंच गई जिसके बाद अन्नू कुमार को स्थानीय पुलिस घसीट कर ले जाने लगी.

देखें: आजतक LIVE TV

इसी घटना को लेकर पुष्पम प्रिया चौधरी ने राष्ट्रपति कोविंद को पत्र लिखा है और साथ में वीडियो सबूत भी भेजे हैं. 

पुलिस का कहना था कि उम्मीदवार बेवजह हंगामा मचा रहा था. पुलिस से हाथापाई करने लगा तो मजबूरन स्थिति को नियंत्रित करने के लिए कड़ाई से पेश आना पड़ा. इस दौरान नामांकन मुख्यालय के सामने काफी भीड़ जमा हो गई. भीड़ को भी पुलिस के जवानों ने हल्का बल प्रयोग करके भगाया.

लोग इस घटना की तस्वीरें ले रहे थे और वीडियो बना रहे थे. दूसरी पार्टी के समर्थकों ने भी पूरे घटनाक्रम की वीडियो रिकॉर्डिंग की. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें