scorecardresearch
 

Exit Poll: बिहार में किसकी सरकार? देखें- आजतक का सबसे सटीक एग्जिट पोल

बिहार में 10 नवंबर को वोटों की गिनती होगी. नतीजों से पहले बिहार के मूड का हाल आजतक के एग्जिट पोल में पता चल जाएगा. शाम 5 बजे से आजतक पर एग्जिट पोल देखें..

नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव (फाइल फोटो) नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बिहार में 10 नवंबर को होगी वोटों की गिनती
  • बिहार में तीन चरणों में हुई वोटिंग
  • इंडिया टुडे-एक्सिस-माय-इंडिया एग्जिट पोल का इंतजार

बिहार में विधानसभा चुनाव के लिए अंतिम चरण का मतदान खत्म होने में बस कुछ पल बाकी हैं. इसके बाद 10 नवंबर को वोटों की गिनती होगी. नतीजों से पहले बिहार के मूड का हाल आजतक के एग्जिट पोल में पता चल जाएगा. शाम 5 बजे से ही आजतक का एग्जिट पोल आना शुरू हो जाएगा, जिसमें संभावित विजेताओं और पराजितों के बारे में एक मोटी तस्वीर जानने को मिल जाएगी.

नतीजों की मोटी तस्वीर या खाका इसलिए कह रहे हैं क्योंकि जब यह जानना होता है कि किस ने किस उम्मीदवार और पार्टी को वोट दिया और किसको खारिज कर दिया, तो इंडिया टुडे-एक्सिस-माय-इंडिया जोड़ का नाम लोगों के जेहन में सबसे पहले आता है. मतदान खत्म होने के तुरंत बाद फिर सबको इंडिया टुडे के लिए किए गए एक्सिस-माय-इंडिया के एग्जिट पोल का इंतजार है. 

एग्जिट पोल देखने के लिए यहां क्लिक करें

इंडिया टुडे-एक्सिस-माय-इंडिया का पिछला रिकॉर्ड अपने आप में ही सब कुछ कहता है. इसकी बानगी देखिए. 2013 से 2020 के बीच भारत में आज तक हुए सभी चुनावों में इंडिया टुडे-एक्सिस माय इंडिया के चुनाव उपरांत सर्वेक्षणों ने 95 प्रतिशत मामलों में नतीजों को लेकर सबसे निश्चित और सटीक अनुमान लगाए. 2013 से, एक्सिस माय इंडिया ने 40 पोस्ट-पोल (चुनाव उपरांत) सर्वेक्षण किए हैं, जिनमें से 38 बिल्कुल ठीक निशाने पर रहे.  

2016 में इंडिया टुडे के साथ एक्सिस माय इंडिया के जुड़ाव के बाद से, मतदान सर्वेक्षकों ने 35 चुनावों की भविष्यवाणी की है, जिनमें से 33 सही साबित हुईं. दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र, भारत, के 2019 आम चुनावों के लिए इंडिया टुडे-एक्सिस माय इंडिया की ओर से संचालित सबसे बड़े एग्जिट पोल में बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए के लिए 339-365 सीटों और यूपीए के लिए 77-108 सीटों की भविष्यवाणी की गई. लोकसभा चुनाव के नतीजे आए तो एनडीए को 352 और यूपीए को 92 सीटें मिलीं.

कोरोना काल में चुनाव

बिहार में चुनावी कवायद भारी और पेचीदा है. कोरोना वायरस महामारी के कारण ये जोखिम से भी परे नहीं है. 243 सदस्यीय विधानसभा के लिए लगभग 7.30 करोड़ पात्र मतदाता हैं, जिनमें से 78 लाख पहली बार अपने वोटिंग अधिकार का प्रयोग किए. अहम स्टेकहोल्डर्स में से एक तरफ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए ) का सत्तारूढ़ गठबंधन है, जिसमें चुनवी मैदान में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जनता दल-यूनाइटेड ने 115 सीटों, भारतीय जनता पार्टी ने 110, विकासशील इनसान पार्टी ने 11 और जीतन राम मांझी की हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा ने 7 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं. 

दूसरी तरफ विपक्ष के महागठबंधन में मुख्य रूप से लालू यादव की राष्ट्रीय जनता दल (इस चुनाव में उनके बेटे तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री के चेहरे हैं) ने 144 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं. महागठबंधन के अन्य सहयोगियों में कांग्रेस 70, सीपीआई-एमएल 19, सीपीआई 6 और सीपीआईएम 4 सीटों पर चुनाव लड़ रही है.   


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें