scorecardresearch
 

बांकीपुर विधानसभा सीट: जीत की हैट्रिक पर बीजेपी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष की नजर

पटना लोकसभा क्षेत्र की बांकीपुर विधानसभा सीट गठबंधन में भारतीय जनता पार्टी के खाते में ही आती रही है. यहां अबतक दो ही बार चुनाव हुए हैं और दोनों बार भारतीय जनता पार्टी ने बाजी मारी है.

स्थानीय विधायक नितिन नवीन स्थानीय विधायक नितिन नवीन
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बिहार विधानसभा चुनाव के लिए हलचल तेज
  • बांकीपुर विधानसभा सीट पर बीजेपी का कब्जा
  • इस बार जीत की हैट्रिक लगाने पर नजर

बिहार में विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया पूरी हो गई है, अब दस नवंबर को नतीजों का इंतजार है. बिहार की बांकीपुर विधानसभा सीट पर इस बार 3 नवंबर को वोट डाले गए, यहां कुल 35.85 फीसदी मतदान हुआ.

बिहार की बांकीपुर विधानसभा सीट पर पिछले दो बार से भारतीय जनता पार्टी का दबदबा है. इस बार निगाहें जीत की हैट्रिक लगाने पर हैं. यहां से भारतीय जनता पार्टी के नितिन नवीन विधायक हैं जो अक्सर सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं. नितिन नवीन भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के बिहार प्रदेश अध्यक्ष हैं.

कौन-कौन है मैदान में?
बीजेपी – नितिन नबीन
कांग्रेस – लव सिन्हा
एनसीपी – सुशील कुमार सिंह
प्लूरल्स पार्टी – पुष्पम प्रिया

कब होना है चुनाव? 
दूसरा चरण – 3 नवंबर
नतीजा – दस नवंबर
 

बांकीपुर विधानसभा सीट का इतिहास
पटना लोकसभा क्षेत्र की बांकीपुर विधानसभा सीट गठबंधन में भारतीय जनता पार्टी के खाते में ही आती रही है. यहां अबतक दो ही बार चुनाव हुए हैं और दोनों बार भारतीय जनता पार्टी ने बाजी मारी है. बीजेपी ने दोनों चुनाव में राजद और कांग्रेस को मात दी है, ऐसे में अब अगर इस बार जदयू के साथ टिकट बंटवारा होता है तो ये सीट बीजेपी के कोटे में ही आसानी से रह सकती है. 

क्या कहता है सामाजिक तानाबाना?
बांकीपुर इलाके में वैश्य और कायस्थ समाज का बोलबाला है. मौजूदा विधायक नितिन नवीन भी कायस्थ जाति से आते हैं, ऐसे में उनका अपनी जाति के वोटरों में दबदबा है. इस चुनावी सफर में भी भाजपा की नजर कायस्थ वोटरों पर हैं, साथ ही वैश्य समाज को भी साधने की कोशिशें हैं. इस विधानसभा क्षेत्र में करीब सवा तीन लाख वोटर हैं, जिनमें से 1.70 लाख पुरुष और 1.40 लाख से अधिक महिलाएं हैं. 

2015 में क्या रहे थे चुनावी नतीजे?
पिछले विधानसभा चुनाव में महागठबंधन की ओर से ये सीट कांग्रेस के खाते में गई थी. भारतीय जनता पार्टी के नितिन नवीन ने बड़े अंतर से कांग्रेस के कुमार आशीष को मात दी थी. 2015 विधानसभा चुनाव में बीजेपी को यहां करीब 86 हजार तो कांग्रेस को 46 हजार के करीब वोट मिल पाए थे. विधानसभा चुनाव के हिसाब से 40 हजार वोटों का नंबर बड़ा माना जाता है. हालांकि, यहां कुल वोटों की संख्या काफी कम रही थी और करीब चालीस फीसदी ही मतदान हो पाया था.
 
विधायक का रिपोर्ट कार्ड
भारतीय जनता पार्टी के युवा चेहरे नितिन नवीन सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं. वो भारतीय जनता पार्टी के नेता नवीन किशोर सिन्हा के बेटे हैं. नितिन नवीन भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के बिहार प्रदेश अध्यक्ष हैं, ऐसे में पार्टी और कार्यकर्ताओं में उनका बोलबाला है. बीते वक्त में नितिन नवीन चर्चा में तब आए थे, जब उन्होंने एक कांग्रेस नेता पर राजद्रोह का केस करवा कर उनकी नागरिकता पर सवाल खड़े कर दिए थे. आरोप था कि कांग्रेस नेता ने रैली में लोगों से पीएम मोदी की फोटो पर जूते मारने को कहा था. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें