scorecardresearch
 

Aurangabad: चिराग पासवान बोले- सरकार बनती है तो भ्रष्टाचार की जांच होगी, नीतीश जाएंगे जेल

चिराग पासवान कहा कि सीएम नीतीश जीरो टॉलरेंस की बात करते है जबकि सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार इनकी सभी योजनाओं में ही हुआ है. सात निश्चय योजना में कितना कमीशन लिया जाता है सभी को पता है. चाहे हर घर नल-जल योजना हो सभी में कमीशन लिया जाता है.

चुनाव प्रचार में औरंगाबाद पहुंचे चिराग पासवान. चुनाव प्रचार में औरंगाबाद पहुंचे चिराग पासवान.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चुनाव प्रचार में औरंगाबाद पहुंचे चिराग पासवान
  • नीतीश सरकार की कमियों को गिनाया
  • सीएम के मंत्रियों को इस भ्रष्टाचार के बारे में पता है-चिराग

औरंगाबाद जिले के 4 विधानसभा क्षेत्र में एलजेपी के उम्मीदवार मैदान में अपना भाग्य आजमा रहे हैं. उनके समर्थन में वोट अपील करने चिराग पासवान औरंगाबाद पहुंचे. यहां सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने नीतीश सरकार की कमियों को गिनाया. वहीं उन्होंने कहा कि बिहार में अकेले चुनाव लड़ने की हिम्मत किसी ने नहीं की, लेकिन मैं बिहार में अकेले चुनाव लड़ रहा हूं.

चिराग पासवान कहा कि सीएम नीतीश जीरो टॉलरेंस की बात करते हैं जबकि सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार इनकी सभी योजनाओं में ही हुआ है. सात निश्चय योजना में कितना कमीशन लिया जाता है, सभी को पता है. चाहे हर घर नल-जल योजना हो सभी में कमीशन लिया जाता है. सीएम के मंत्रियों को इस भ्रष्टाचार के बारे में पता है. हमने कहा है कि अगर हमारे सरकार बनती है तो इन सारे भ्रष्टाचार पर जांच बैठेगी. सभी को जेल जाना पड़ेगा, सीएम पर भी जांच होगी और ये भी जेल जाएंगे.

चिराग पासवान से पूछा गया एक तरफ आप पीएम का नाम बार-बार लेते हैं और दूसरी तरफ बीजेपी के खिलाफ अपना कैंडिडेट भी बिहार चुनाव में दिए हुए हैं, इस पर उन्होंने कहा कि पीएम मोदी से हमारे व्यक्तिगत सम्बन्ध है यह हमारी राजनीतिक लड़ाई है, रही बात बीजेपी के विरुद्ध कैंडिडेट देने की तो कुछ जगह से हमारे विधायक जीते हुए थे, तो हमारी मजबूरी थी.

देखें: आजतक LIVE TV

उन्होंने कहा कि जहां-जहां बीजेपी के कैंडिडेट हैं. वहां हमारे कार्यकर्ताओं को कहा गया है कि बीजेपी को मदद करना है. मुद्दा सिर्फ एक है कि नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री नहीं बनने देना है और यह तय है कि नीतीश कुमार मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे. चिराग पासवान ने कहा कि ये शिक्षा की बात नहीं करते. यहां की परीक्षाएं 5-5 साल देर से होती है. ये युवाओं को अच्छी शिक्षा देना ही नहीं चाहते. क्योंकि ये जानते है कि युवा शिक्षित होगा तो सवाल करेगा, ये जाति के नाम पर सिर्फ राजनीति करते हैं.

शेर का बच्चा हूं, अकेले लड़ना जानता हूं
उन्होंने कहा कि मैंने सोचा भी नहीं था कि हमारे पापा इतनी जल्दी मुझे छोड़ कर चले जाएंगे, लेकिन वो आज भी मेरे साथ हैं, उन्हीं के बल पर मैं आज अकेले बिहार में चुनाव लड़ रहा हूं. चाहे महागठबंधन हो या नीतीश कुमार हो, कोई भी बिहार में अकेले चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं किया. यहां तक कि बीजेपी भी अकेले चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं दिखाई. लेकिन मैं बिहार में अकेले चुनाव लड़ रहा हूं. शेर का बच्चा हूं. अकेले लड़ना जानता हूं.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें