scorecardresearch
 
बिहार विधानसभा चुनाव

नीतीश कुमारः कभी आरजेडी कभी बीजेपी के सहयोग से बनते रहे सीएम

नीतीश एक कुशल राजनीतिज्ञ
  • 1/8

नीतीश कुमार फिलहाल बीजेपी के समर्थन से बिहार के मुख्यमंत्री हैं. नीतीश की छवि साफ सुथरी है. उन्हें सुशासन बाबू भी कहा जाता है. उन्होंने 2005 में मुख्यमंत्री का पद संभाला इसके बाद बिहार में विकास की लहर देखने को मिली हालांकि आलोचनाएं भी होती रहीं. कभी केंद्रीय मंत्री रह चुके नीतीश कुमार अपनी पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के अध्यक्ष भी हैं. 

जेपी आंदोलन में भूमिका
  • 2/8

जेपी आंदोलन में भूमिका निभाने वाले नीतीश कुमार कभी लालू प्रसाद यादव, शरद यादव, रामविलास पासवान के साथ हुआ करते थे लेकिन समय के साथ सभी साथी अलग हो गए. नीतीश के मुख्यमंत्री बनने के बाद कभी अपराध के लिए जाना जाने वाला बिहार आज विकास के लिए जाना जाता है. बिहार में सड़क और पुल-पुलियों के काम कई वर्षों से लंबित थे.  

सुशासन बाबू
  • 3/8

सड़क के अलावा प्राथमिक अस्पतालों की बेहतरी, प्रखंड स्तरीय काम में तेजी, अपराध पर लगाम और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर शासन प्रशासन के सुधार प्रमुख हैं. बिहार का मुख्यमंत्री रहते हुए लगभग 1 लाख सरकारी शिक्षकों की भर्ती नीतीश कुमार के नाम है. हाल फिलहाल उन्होंने टीचरों की तनख्वाह भी बढ़ा दी है. इसे चुनावी दांव भी माना जा रहा है.

यहां हुआ जन्म
  • 4/8

नीतीश कुमार का जन्म 1 मार्च 1951 को बिहार के बख्तियारपुर में एक साधारण परिवार में हुआ. इनके गांव का नाम कल्याणविघा है. उनके पिता का नाम राम लखन सिंह और माता का नाम परमेश्वरी देवी है. उनके पिता भी राजनीतिक बैकग्राउंड के थे. नीतीश की मैट्रिक तक की पढ़ाई गांव में ही हुई और बाद में पटना साइंस कॉलेज में. उन्होंने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की डिग्री ली.

नीतीश कुमार का परिवार
  • 5/8

नीतीश कुमार की पत्नी का नाम स्वर्गीय मंजू कुमारी सिन्हा है. इन दोनों से एक बेटा निशांत है जिसका राजनीति से कोई वास्ता नहीं है. पत्नी मंजू सिन्हा पेशे से टीचर थीं जिनका 53 साल की उम्र में 2007 में निधन हो गया. बीएससी पास होने के बाद और राजनीति में आने से पहले नीतीश कुमार ने बिहार बिजली बोर्ड में काम भी किया है.

पिता भी थे नेता
  • 6/8

नीतीश कुमार के राजनीतिक जीवन पर उनके पिता राम लखन सिंह का अच्छा प्रभाव रहा क्योंकि उनके पिता स्वंतत्रता सेनानी होने के साथ ही बिहार के मशहूर गांधीवादी नेता अनुग्रह नारायण सिन्हा के काफी करीबी थे. उनके पिता कुछ दिन कांग्रेस में भी रहे लेकिन 1957 में टिकट न मिलने पर उन्होंने राजनीति को अलविदा कह दिया. 

जेपी का साथ
  • 7/8

नीतीश कुमार की राजनीति प्रख्यात समाजवादी नेता जय प्रकाश नारायण के प्रभाव में शुरू हुई. उन्होंने 1974 में राजनीति में कदम रखा और जेपी आंदोलन में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया. राम मनोहर लोहिया, जॉर्ज फर्नांडिस और वीपी सिंह जैसे नेताओं से इसी आंदोलन के दौरान संपर्क हुआ. जिंदगी में कई उतार-चढ़ावों के बीच दो साल पहले नीतीश कुमार बिहार के 22वें मुख्यमंत्री बनाए गए.

2017 रहा खास
  • 8/8

बिहार में सियासी घटनाएं कई हुईं लेकिन साल 2017 का वाकया खास है जब राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के समर्थन से चल रही सरकार को उन्होंने छोड़ा और मुख्यमंत्री पद छोड़ दिया. लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव तब उप मुख्यमंत्री थे. नीतीश ने तेजस्वी के ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों का हवाला दिया और आरजेडी के साथ गठबंधन तोड़ दिया. बीजेपी ने तुरंत जेडीयू को समर्थन दिया और अगली सरकार बनवाई.