scorecardresearch
 

नंदीग्राम सीट से चुनाव लड़ेंगे शुभेंदु अधिकारी, ममता को देंगे टक्कर

पिछले दिनों तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) अध्यक्ष और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ऐलान किया था कि वह नंदीग्राम से चुनाव लड़ेंगी. ममता के इस ऐलान के बाद बीजेपी ने शुभेंदु अधिकारी को नंदीग्राम से मैदान में उतराने का मन बना लिया है.

बीजेपी की रैली में हाथ में कमल लिए शुभेंदु अधिकारी (फाइल फोटो-PTI) बीजेपी की रैली में हाथ में कमल लिए शुभेंदु अधिकारी (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नंदीग्राम सीट से चुनाव लड़ेंगी ममता बनर्जी
  • शुभेंदु अधिकारी को प्रत्याशी बना सकती है BJP

पश्चिम बंगाल की सियासत में एक बार फिर नंदीग्राम चैप्टर खुल गया है. दरअसल, पिछले दिनों तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) अध्यक्ष और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ऐलान किया था कि वह नंदीग्राम से चुनाव लड़ेंगी. ममता के इस ऐलान के बाद बीजेपी ने शुभेंदु अधिकारी को नंदीग्राम से मैदान में उतराने का मन बना लिया है.

आपको बता दें कि शुभेंदु अधिकारी की गिनती ममता बनर्जी के सबसे करीबी नेताओं में होती थी. हाल में ही शुभेंदु अधिकारी, बीजेपी में शामिल हो गए हैं. इस वजह से टीएमसी को नंदीग्राम इलाके में बड़ा झटका लगा था. अब इस नुकसान की भरपाई के लिए ममता बनर्जी ने नंदीग्राम को अपना कर्मक्षेत्र बनाने का ऐलान किया है.

शुभेंदु ने कहा था- ममता को 50 हजार वोट से हराऊंगा

आपको बता दें कि जब सोमवार (18 जनवरी) को ममता बनर्जी ने नंदीग्राम से चुनाव लड़ने का ऐलान किया तो कुछ ही देर बाद शुभेंदु अधिकारी का बयान आया था. शुभेंदु अधिकारी ने कहा था कि वह ममता बनर्जी को नंदीग्राम में 50 हजार वोटों से हराएंगे और ऐसा नहीं किया तो राजनीति छोड़ देंगे. 

शुभेंदु अधिकारी ना सिर्फ बड़े चेहरे के तौर पर बीजेपी में आगे बढ़ रहे हैं बल्कि बीजेपी को ये भी उम्मीद है कि वे मिदनापुर में कई सीटों पर प्रभाव डालेंगे. 2016 से शुभेंदु नंदीग्राम के विधायक हैं. बीजेपी में शामिल होने के बाद उन्होंने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था. अब ममता को मात देने के लिए बीजेपी, नंदीग्राम से शुभेंदु को मैदान में उतारने की तैयारी कर रही है.

ममता ने किया था ये ऐलान
सोमवार को नंदीग्राम में रैली को संबोधित करते हुए सीएम ममता बनर्जी ने कहा था कि नंदीग्राम मेरे लिए लकी रहा है. मैंने यहां पहले प्रत्याशी का ऐलान किया था. मैं सोच रही थी कि क्यों ना इस बार मैं ही नंदीग्राम से चुनाव लड़ूं? ममता कई बार कह चुकी हैं कि अपना नाम भूल सकती हैं लेकिन नंदीग्राम नहीं भूलेंगी. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें