scorecardresearch
 

बंगाल में चुनाव के दौरान सुरक्षा के भारी इंतजाम, तैनात होंगी अर्धसैनिक बलों की 800 कंपनियां

सूत्रों के मुताबिक चुनाव के दौरान लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति खराब न हो इसलिए चुनाव के हर एक चरण में अर्धसैनिक बलों और राज्य की पुलिस की कंपनियों को रोटेशन के आधार पर चुनाव संपन्न कराने के लिए भेजा जाएगा. सूत्र बताते हैं कि बंगाल में पहले चरण के चुनाव को लेकर सुरक्षा की तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया गया है.

चुनाव के दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम होंगे (सांकेतिक-पीटीआई) चुनाव के दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम होंगे (सांकेतिक-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 5 चुनावी राज्यों में भारी संख्या में पैरामिलिट्री फोर्स की तैनाती
  • अर्धसैनिक बलों की 1,270 कंपनियां तैनात की जा रहीं
  • चुनाव में पुलिस बल की करीब 430 कंपनियां भी होंगी शामिल

बंगाल में विधानसभा चुनाव 8 चरणों में हो रहा है. चुनाव आयोग राज्य में शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव कराने के लिए विशेष तौर पर ध्यान दे रहा है और यहां भारी सुरक्षा की तैयारी कर रहा है. बंगाल चुनाव के दौरान हिंसा को ध्यान में रखते हुए चप्पे चप्पे पर अर्धसैनिक बलों की सुरक्षा रहेगी. 8 चरणों के चुनाव के दौरान करीब 800 अर्धसैनिक बलों की कंपनियां तैनात होंगी.

सूत्रों के हवाले से खबर है कि 5 राज्यों के चुनावों में भारी संख्या में पैरामिलिट्री की तैनाती होगी. करीब अर्धसैनिक बलों की 1,270 कंपनियां तैनात की जा रही हैं. इस चुनाव में करीब 430 कंपनियां यानी 43,000 जवान राज्य पुलिस बल के शामिल होंगे. 

इन विधानसभा चुनाव में करीब 170,000 जवान 5 राज्यों में तैनात किए जा रहे हैं. चुनावों में फेज वाइज रोटेशन में अर्धसैनिक बलों की कंपनियां तैनात की जाएंगी. सही तरीके से इन राज्यों में चुनाव हो इसके लिए भारी संख्या में अर्ध सैनिक बल तैनात होंगे.

बंगाल में सबसे ज्यादा अर्धसैनिक बलों की कंपनियां 
सूत्रों के मुताबिक पश्चिम बंगाल में सबसे ज्यादा अर्धसैनिक बलों की कंपनियां तैनात की जा रही हैं. सिक्योरिटी एस्टेब्लिशमेंट के सूत्रों ने आजतक को एक्सक्लूसिव जानकारी दी है. 1,700 कंपनियों (चुनाव के समय लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति को देखते हुए इसमें बदलाव भी हो सकता है) में से CRPF की 370 कंपनियां,  BSF की 330 कंपनियां, CISF की 200 कंपनियां, SSB की 190 कंपनियां, ITBP की 120 कंपनियां और RPF की 60 कंपनियां तैनात की जाएंगी. साथ ही राज्यों की पुलिस और स्टेट आर्म्ड फोर्स की 430 कंपनियां भी चुनाव के दौरान लगाई जाएंगी.

पहले चरण के लिए 295 कंपनियां होंगी तैनात  
सूत्रों के मुताबिक चुनाव के दौरान लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति खराब न हो इसलिए चुनाव के हर एक चरण में अर्धसैनिक बलों और राज्य की पुलिस की कंपनियों को रोटेशन के आधार पर चुनाव संपन्न कराने के लिए भेजा जाएगा. 

सूत्र बताते हैं कि बंगाल में पहले चरण के चुनाव को लेकर अंतिम रूप दे दिया गया है. 295 CAPF की कंपनियों की बंगाल के अलग-अलग इलाकों में तैनाती होगी.

बंगाल में कुल 125 पैरामिलिट्री फोर्स की कंपनियों को पहले ही तैनात किया जा चुका है. इस महीने 8 मार्च तक 170 कंपनियों को और भेजा जाएगा. यानी कुल 295 पैरामिलिट्री फोर्स की कंपनियों को बंगाल के पहले चरण के चुनाव में तैनात किया जा रहा है.

तारीखों के ऐलान से पहले तैनाती
पश्चिम बंगाल चुनाव के चलते सुरक्षा का स्तर इस बार राज्य में उच्चतम होगा, पिछले विधानसभा चुनाव के मुकाबले इस बार 25 फीसदी अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती की योजना है यानी 8 चरण के चुनाव में कुल मिलाकर 80,000 अर्धसैनिक बल राज्य के हर जिले में मौजूद रहेंगे.
 
पहली बार ऐसा हुआ है कि चुनाव की तारीख के ऐलान से पहले हर जिले में अग्रिम तैनाती अर्धसैनिक बलों की कर दी गई है. राज्य में हिंसा और अराजकता को रोकने के लिए सुरक्षा एजेंसियों ने यह मास्टर प्लान तैयार किया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें