scorecardresearch
 

ममता बनर्जी के भाई का बयान- बंगाल में खत्म होनी चाहिए वंशवाद की राजनीति

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भाई कार्तिक बनर्जी ने राज्य में वंशवाद की राजनीति पर सवाल खड़े किए हैं. कार्तिक का कहना है कि बंगाल में ऐसी राजनीति खत्म होनी चाहिए.

ममता बनर्जी और उनके भाई कार्तिक बनर्जी (फाइल) ममता बनर्जी और उनके भाई कार्तिक बनर्जी (फाइल)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बंगाल में चुनाव से पहले बढ़ी राजनीतिक हलचल
  • ममता के भाई बोले- खत्म हो वंशवाद की राजनीति

पश्चिम बंगाल में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भाई कार्तिक बनर्जी ने बड़ा बयान दिया है. कार्तिक बनर्जी का कहना है कि वो चाहते हैं पश्चिम बंगाल में वंशवाद की राजनीति का अंत होना चाहिए. ममता बनर्जी के भाई का ये बयान बंगाल की चुनावी जंग में एक नई बहस को हवा दे सकता है.

IndiaToday.in से बात करते हुए कार्तिक बनर्जी ने कहा कि वो ऐसे राजनेताओं से तंग आ चुके हैं, जो आम लोगों की जिंदगी बेहतर करने का वादा करते हैं लेकिन अंत में सिर्फ अपने परिजनों की जिंदगी ही बेहतर बनाते हैं.

वंशवाद को लेकर जब कार्तिक से पूछा गया कि क्या उनका निशाना ममता बनर्जी पर ही है, तो उन्होंने कहा, ‘मैं सामान्य तौर पर राजनीति में दोहरेपन की बात कर रहा हूं. राजनीति सिर्फ लोगों के लिए होनी चाहिए, उनके जीवन को सुधारने के लिए. जो लोग राजनीति में हैं, उन्हें भूलना नहीं चाहिए कि संतों ने आखिर क्या सलाह दी थी. राजनेताओं को पहले लोगों के बारे में सोचना चाहिए, फिर परिवार के बारे में.’

देखें: आजतक LIVE TV


कार्तिक से जब बीजेपी में शामिल होने की संभावनाओं या किसी तरह के राजनीतिक ऑफर के बारे में सवाल हुआ तो उन्होंने सिर्फ इतना ही कहा, ‘भविष्य में क्या होगा, वो अभी नहीं जानते हैं. जब मुझे कुछ कहना होगा, वो बयान जारी करेंगे. तबतक वो इसपर कुछ साफ नहीं कहना चाहेंगे.’

बीजेपी की नजर मिशन बंगाल पर 
साफ है कि ममता बनर्जी के भाई कार्तिक बनर्जी का ये बयान तब सामने आया है, जब अगले कुछ महीनों में ही राज्य में चुनाव होने हैं. 

भारतीय जनता पार्टी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में बंगाल में जबरदस्त सफलता हासिल की थी, अब उसकी निगाहें विधानसभा चुनाव में महाजीत पर है. बीजेपी की ओर से लगातार टीएमसी में सेंध लगाने की कोशिश की जा रही है, शुभेंदु अधिकारी और अन्य कई नेताओं का बीजेपी में शामिल होना इसी अभियान का हिस्सा है.

अगर वंशवाद की बात करें तो केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह हों या फिर बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, हर किसी के निशाने ममता बनर्जी का वंशवाद ही रहता है. बीजेपी का आरोप है कि ममता बनर्जी अपने भतीतजे अभिषेक बनर्जी को मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठाने के लिए जमीन तैयार कर रही हैं.
 
यही कारण है कि बंगाल में बीजेपी की ओर से ‘दीदी’ के नाम से मशहूर ममता बनर्जी को पीशी (आंटी) कहने पर जोर दिया जा रहा है, ताकि अभिषेक बनर्जी से जुड़े मुद्दे को भुनाया जा सके.

(Report: Deep Halder) 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें