scorecardresearch
 

मुसलमान उन सभी राज्यों में सुरक्षित, जहां बीजेपी सत्ता में: BJP नेता दिलीप घोष

दिलीप घोष ने अल्पसंख्यकों के संदर्भ में कहा बीजेपी मुस्लिम विरोधी नहीं है. मुसलमान उन सभी राज्यों में सुरक्षित हैं जहां बीजेपी सत्ता में है. उन्होंने कहा कि बंगाल के मुसलमानों को दीदी की पुलिस ने डराया है.

बीजेपी नेता दिलीप घोष (फाइल फोटो) बीजेपी नेता दिलीप घोष (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिलीप घोष ने कहा- बीजेपी मुस्लिम विरोधी नहीं
  • घोष ने ममता सरकार पर साधा निशाना 
  • विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सियासी सरगर्मी तेज

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सियासी बयानबाजी का दौर जारी है. इस बीच बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि मुसलमान उन सभी राज्यों में सुरक्षित हैं जहां बीजेपी सत्ता में है. उन्होंने कहा कि बंगाल के मुसलमानों को दीदी (ममता बनर्जी) की पुलिस ने डराया है, उन्हें यहां की सरकार ने तरक्की करने नहीं दी. 

बीजेपी मुस्लिम विरोधी नहीं

दरअसल, स्वामी विवेकानंद की जयंती के मौके पर हावड़ा ग्रामीण के पांचला के धामसिया में बीजेपी की ओर से मंगलवार को युवा रैली आयोजित की गई थी. इस रैली में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष मुख्य वक्ता के तौर पर बुलाए गए. इस दौरान घोष ने अल्पसंख्यकों के संदर्भ में कहा बीजेपी मुस्लिम विरोधी नहीं है. मुसलमान उन सभी राज्यों में सुरक्षित हैं जहां बीजेपी सत्ता में है. उन्होंने कहा कि बंगाल के मुसलमानों को दीदी की पुलिस ने डराया है, उन्हें यहां की सरकार ने तरक्की करने नहीं दी, उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में भी पीछे रखा गया है. दिलीप घोष ने कहा कि टीएमसी सरकार का कार्यकाल अब समाप्त होने को है. 

ममता सरकार पर साधा निशाना 

बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष ने ममता सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इस राज्य के युवकों को काम की तलाश में विभिन्न राज्यों में जाना पड़ रहा हैं, इस राज्य में कोई विकास नहीं हुआ है. यहां अल्पसंख्यक लोग भारत के सभी राज्यों से पीछे हैं.

राज्य में अब्बास सिद्दीकी की पार्टी के गठन के संदर्भ में, उन्होंने कहा कि उन्हें पार्टी बनाने का अधिकार है और हैदराबाद के एमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी को राज्य में संगठित होने का अधिकार है. 

बता दें कि इस रैली में अभिनेता व बीजेपी नेता जॉय बनर्जी भी मौजूद थे. इनके अलावा बीजेपी के प्रदेश नेता अनुपम मल्लिक, हावड़ा जिला अध्यक्ष सुरजीत साहा समेत कई युवा नेता मौजूद रहे. गौरतलब है कि बंगाल में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सियासी सरगर्मी जोरों पर है. खासकर बीजेपी और टीएमसी के बीच राजनीतिक बयानबाजी तेज है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें