scorecardresearch
 
बंगाल विधानसभा चुनाव

TMC ने की नेताजी से जुड़े गोपनीय दस्तावेज सार्वजनिक करने की मांग

‘ए हिस्ट्री ऑफ इंडियन नेशनल आर्मी 1942-45’ को सार्वजनिक करने की मांग
  • 1/5

TMC ने ‘ए हिस्ट्री ऑफ इंडियन नेशनल आर्मी 1942-45’ के गैर-संपादित और विस्तृत ड्राफ्ट को सार्वजनिक करने की मांग की है.1949-50 के दौरान रक्षा मंत्रालय के इतिहास विभाग ने इस दस्तावेज का संकलन किया था. जाने-माने इतिहासकार प्रफुल्ल चंद्र गुप्ता की निगरानी में इसे तैयार किया गया था.

(फाइल फोटो)

क्यों नहीं कर रही सरकार दस्तावेज सार्वजनिक
  • 2/5

तृणमूल सांसद सुखेंदु शेखर रॉय ने इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. उन्होंने सरकार से सवाल किया है कि क्यों मोदी सरकार ‘आजाद हिंद फौज़’ (INA) के इतिहास पर रक्षा मंत्रालय द्वारा तैयार की गई इस किताब को सार्वजनिक नहीं कर रही है?

TMC ने इस मामले में बीजेपी सरकार पर कांग्रेस की पूर्ववत सरकारों की तरह रवैया अपनाने का आरोप लगाया है.

(फाइल फोटो)

क्या छिपा है इस किताब में?
  • 3/5

तृणमूल कांग्रेस का कहना है कि भारत सरकार ने इस किताब के 186-191 पेज को ‘गोपनीय’ करार दिया था. इसकी वजह किताब के इस हिस्से का ‘अधिक विवादास्पद’ होना है. किताब के ये पन्ने संभवत बता सकते हैं कि विमान दुर्घटना के वक्त नेताजी बचकर निकल गए थे.

 (फाइल फोटो)

चुनाव में नेताजी की विरासत के इस्तेमाल का सवाल
  • 4/5

पश्चिम बंगाल में इस साल चुनाव होने हैं. इसी को लेकर राज्य में  नेताजी सुभाष चंद्र बोस के नाम पर भी राजनीति शुरू हो गई है. भाजपा और तृणमूल दोनों अपने-अपने हिसाब से राज्य की राजनीति में नेताजी की विरासत का इस्तेमाल कर अपना-अपना वोट बैंक बुलंद करने की कोशिश कर रही हैं. 

 

(फाइल फोटो)

कालका मेल का नाम ‘नेताजी’ के नाम पर
  • 5/5

हाल में रेल मंत्रालय ने चुनाव से पहले कालका मेल का नाम बदलकर ‘नेताजी एक्सप्रेस’ करने की घोषणा की. राज्य के चुनाव में वोटरों को लुभाने के लिए इससे पहले केंद्र सरकार नेे नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिवस को पराक्रम दिवस के तौर पर मनाने का ऐलान किया. भारत सरकार ने इस संबंध में एक गजट नोटिफिकेशन भी जारी किया है.

(फाइल फोटो)