scorecardresearch
 

700 साल पुरानी परंपरा तोड़ेगी ऑक्सफोर्ड, यहां खोलगी ब्रांच

दुनिया की प्रसिद्ध और उच्‍च शिक्षा के लिए पहली पसंद Oxford University में कुछ ऐसा होने जा रहा है, जो इस यूनिवर्सिटी के इतिहास में कभी नहीं हुआ. जानिये कौन सी परंपरा तोड़ रही ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी और क्‍यों...

ऑक्‍सफोड यूनिवर्सिटी ऑक्‍सफोड यूनिवर्सिटी

दुनिया की सबसे पुरानी और बेहतरीन यूनिवर्सिटीज में से एक ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी अपनी 700 साल पुरानी परंपरा तोड़ने जा रही है. पहली बार यूनिवर्सिटी किसी दूसरे देश में अपनी ब्रांच खोलने की योजना बना रही है. इससे पहले ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी की कोई ब्रांच विदेशों में नहीं खोली गई.

Oxford University ने पहली बार फ्रांस में अपनी ब्रांच खोलने का फैसला लिया है ताकि ब्रिक्सिट (ब्रिटेन का यूरोपीय संघ से एक्ज‍िट) के बाद भी उसे यूरोपीय संघ से फंड मिलता रहे.

दिल्ली सरकार ने माना, सरकारी स्कूलों में है सुधार की जरूरत

बता दें कि यूरोपीय संघ, जिसे ईयू कहा जाता है, 28 यूरोपीय देशों की आर्थिक और राजनीतिक भागीदारी है. दूसरे विश्व युद्ध के बाद आर्थिक सहयोग बढ़ाने के लिए यूरोपीय संघ का निर्माण हुआ था.

इसके पीछे सोच ये थी कि जो देश एक साथ व्यापार करेंगे वो एक दूसरे के खिलाफ युद्ध करने से बचेंगे.

He, She नहीं Ze बोलो: ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी

ईयू अपने सदस्‍य देशों को कई तरह से मदद करता है और इसमें funding भी शामिल है. पर अब जब ब्रिटेन ईयू का हिस्‍सा नहीं है तो फंडिंग पर भी असर होगा.

ऐसे में Oxford University के फ्रांस में शाखा खोलने से फंडिंग की समस्‍या दूर हो सकती है.

अब सर्वोदय स्‍कूलों में शुरू होगी नर्सरी क्‍लास...

हालांकि यूनिवर्सिटी के स्‍पोक्‍सपर्सन ने कहा कि फिलहाल इस पर आखिरी फैसला नहीं लिया गया है. ऑक्‍सफोर्ड एक अंतरराष्‍ट्रीय यूनिवर्सिटी है और इतिहास की तरह ही लोग यहां विभिन्‍न देशों से पढ़ाई के लिए आते रहेंगे. भले ही राज‍नीतिक स्‍तर पर भविष्‍य में कुछ भी हो.

नर्सरी एडमिशन: दिल्ली के प्राइवेट स्कूलों को हाई कोर्ट से बड़ी राहत

इस कड़ी में कुछ और वैश्‍व‍िक विश्‍वविद्यालय मसलन यूनिवर्सिटी ऑफ वारविक भी जल्‍दी ही पेरिस में अपनी शाखा खोल सकती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें