scorecardresearch
 

Covid19 Crisis: हॉस्‍टल खाली करने के लिए यूनिवर्सिटी बना रही दबाव, विदेशी छात्रों ने VC को लिखा पत्र 

Covid19 Crisis: हॉस्‍टल खाली कराने के यूनिवर्सिटी के कदम के खिलाफ 6 अंतरराष्ट्रीय छात्रों ने कुलपति को एक पत्र लिखकर अपनी चिंता व्यक्त की है. उनका कहना है कि छात्रावास में रह रहे विदेशी छात्र महामारी के बीच में अपने देश वापस जाने का जोखिम नहीं उठा सकते हैं.

Pondicherry University Covid19 Crisis: Pondicherry University Covid19 Crisis:
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूनिवर्सिटी में 6 अंतर्राष्‍ट्रीय छात्र हैं
  • महामारी के चलते छात्र हॉस्‍टल से नहीं जाना चाहते

Covid19 Crisis: पुडुचेरी यूनिवर्सिटी के कई छात्रों को देश में जारी कोरोना महामारी की स्थिति को देखते हुए हॉस्‍टल खाली करने के लिए कहा गया है. यूनिवर्सिटी के इस कदम के खिलाफ 6 अंतरराष्ट्रीय छात्रों ने कुलपति को एक पत्र लिखकर अपनी चिंता व्यक्त की है. उनका कहना है कि छात्रावास में रह रहे विदेशी छात्र महामारी के बीच में अपने देश वापस जाने का जोखिम नहीं उठा सकते हैं. ये अंतर्राष्ट्रीय छात्र बांग्लादेश, श्रीलंका, ज़िम्बाब्वे, नेपाल और अफगानिस्तान से हैं.

कुलपति को लिखे पत्र में विश्वविद्यालय छात्र परिषद ने लिखा, "हम मांग करते हैं कि यूनिवर्सिटी इस कठिन समय में अपने छात्रों को न छोड़े." छात्रों ने प्रशासन से अंतरराष्ट्रीय छात्रों के लिए विशेष व्यवस्था करने के लिए भी कहा है. पुडुचेरी यूनिवर्सिटी छात्र परिषद के अनुसार, हॉस्‍टल में रहने वाले छह अंतर्राष्ट्रीय छात्रों को परिसर खाली करने के लिए संस्थानों के कर्मचारियों द्वारा परेशान किया जा रहा है और उन्हें धमकी दी जा रही है.

छात्रों ने लिखा, "मैडम क्यूरी हॉस्टल ऑफिस से दो महिला स्टाफ ने छात्रों में से एक के कमरे को तब खोला जब छात्र बाहर से कुंडी लगाकर वॉशरूम गया था." स्‍टाफ की महिला ने कहा, "यदि आप दो दिनों में हॉस्‍टल से नहीं जाते हैं, तो हम यहां की पानी और बिजली की आपूर्ति में कटौती करने जा रहे हैं." छात्रों ने कहा है कि अब उनके लिए हॉस्टल खाली करना असंभव है.

पत्र में कहा गया है कि हॉस्टल खाली करने के लिए उन्हें धमकी देना उनके जीवन को जोखिम में डालने के लिए मजबूर करने से कम नहीं होगा. यूनिवर्सिटी के अधिकारियों से जारी महामारी की स्थिति के दौरान अंतर्राष्ट्रीय छात्रों के लिए उचित व्यवस्था करने का आग्रह किया गया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें