scorecardresearch
 

पुलिस हिरासत में युवक की मौत, हत्या का आरोप

हरियाणा के रोहतक में पुलिस हिरासत के दौरान एक युवक की मौत हो गई. आरोप है कि पुलिस ने पूछताछ के नाम पर युवक की बेरहमी से पिटाई की. पुलिसकर्मी घबरा कर उसे पीजीआई अस्पताल लेकर पहुंचे. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. मृतक के शरीर पर चोट के निशान हैं. परिवार वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.

रोहतक पुलिस अब इस मामले पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है रोहतक पुलिस अब इस मामले पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है

हरियाणा के रोहतक में पुलिस हिरासत के दौरान एक युवक की मौत हो गई. आरोप है कि पुलिस ने पूछताछ के नाम पर युवक की बेरहमी से पिटाई की. पुलिसकर्मी घबरा कर उसे पीजीआई अस्पताल लेकर पहुंचे. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. मृतक के शरीर पर चोट के निशान हैं. परिवार वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.

रोहतक के भालौठ गांव निवासी युवक अमित सांगवान का नाम एक झगड़े में आ गया था. थाना सदर पुलिस देर रात लगभग 11 बजे उसे गिरफ्तार कर थाने ले आई. और पूछताछ के नाम पर रात भर उसकी जमकर पिटाई की. पिटाई की वजह से मौके पर ही अमित की मौत हो गई. पुलिस कर्मियों के हाथ पांव फूल गए और वे सुबह करीब 6 बजे उसे लेकर पीजीआई पहुंचे. उन्होंने वहां उसे लावारिस बताकर दाखिल किया.

पुलिस ने अमित की पूरी जानकारी होने के बावजूद उसे अस्पताल में लावारिस बताया. यही नहीं पुलिस ने उसका थैला और कपड़े भी पीजीआई के बाहर फेंक दिए. सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी भी पीजीआई पहुंच गए लेकिन इस मामले पर उन्होंने चुप्पी साधे रखी.
 
रोहतक पुलिस के पास अमित की मौत का कोई जवाब नहीं है. अमित के पिता ओमप्रकाश इस पूरे मामले की जांच की मांग कर रहे हैं. उनका कहना है कि दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. उनका आरोप है कि अभी तक पुलिस ने कोई मामला दर्ज नहीं किया है. पुलिस मामले को रफा-दफा करना चाहती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें