scorecardresearch
 

गैंगरेप केस: गायत्री के बेटे-भतीजे को पुलिस ने उठाया, सभी सहआरोपी गिरफ्तार

गैंगरेप केस में फरार चल रहे यूपी के पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति पर यूपी पुलिस का शिकंजा लगातार कसता जा रहा है. इस मामले में तीन और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इनके नाम रूपेश, विकास और पिंटू बताए जा रहे हैं. वहीं, गायत्री के बेटे अनुराग और भतीजे अनूप को हिरासत में लेकर पूछताछ हो रही है. गायत्री की तलाश जारी है.

गैंगरेप केस में मुख्य आरोपी गायत्री प्रसाद प्रजापति गैंगरेप केस में मुख्य आरोपी गायत्री प्रसाद प्रजापति

गैंगरेप केस में फरार चल रहे यूपी के पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति पर यूपी पुलिस का शिकंजा लगातार कसता जा रहा है. इस मामले में तीन और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इनके नाम रूपेश, विकास और पिंटू बताए जा रहे हैं. वहीं, गायत्री के बेटे अनुराग और भतीजे अनूप को हिरासत में लेकर पूछताछ हो रही है. गायत्री की तलाश जारी है.

जानकारी के मुताबिक, यूपी एसटीएफ ने गैंगरेप केस में कार्रवाई करते हुए इस मामले में सहआरोपी रूपेश, विकास और पिंटू को गिरफ्तार कर लिया. इससे पहले चंद्रपाल, अशोक तिवारी और आशीष शुक्ला को गिरफ्तार किया जा चुका है. यूपी एसटीएफ आरोपियों को संरक्षण देने के आरोप में गायत्री के बेटे और भतीजे को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है.

पुलिस को चकमा देकर फरार
इससे पहले नोएडा के पास जेवर टोल प्लाजा के पास गायत्री प्रसाद प्रजापति पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए. लेकिन पुलिस ने उनके दो साथियों को गिरफ्तार कर लिया था. यूपी एसटीएफ की टीम गायत्री प्रसाद प्रजापति के पीछे लगी हुई है. उनकी तलाश में कई जगह छापेमारी की जा रही है. हालांकि, अभी तक प्रजापति पुलिस की पकड़ से बाहर हैं.

गायत्री के आवास पर गैंगरेप
बताते चलें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यूपी पुलिस ने गायत्री और उनके सहयोगी अशोक तिवारी, पिंटू सिंह, विकास शर्मा, चंद्रपाल, रूपेश और आशीष शुक्ला के खिलाफ आईपीसी की धारा 376, 376डी, 511, 504, 506 और पॉक्सो एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज किया था. पीड़िता ने आरोप लगाया था कि साल 2014 में गायत्री के आवास पर गैंगरेप हुआ था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें