scorecardresearch
 

बच्चों पर सितम...ऐ टीचर ऐसा जुल्म न कर!

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बावजूद भी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में बच्चों पर जुल्म का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. ऐसा ही मामला यूपी के फतेहपुर और मध्यप्रदेश के बैतूल में सामने आया है. फतेहपुर में जहां एक छात्रा द्वारा हाथ में मेहंदी लगाने पर टीचर ने घंटों धूप में खड़े रखा, वहीं बैतूल में एक छात्र के मारपीट के बाद बाल ही उखाड़ दिए.

स्कूलों में बच्चों पर जुल्म का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. स्कूलों में बच्चों पर जुल्म का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है.

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बावजूद भी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में बच्चों पर जुल्म का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. ऐसा ही मामला यूपी के फतेहपुर और मध्यप्रदेश के बैतूल में सामने आया है. फतेहपुर में जहां एक छात्रा द्वारा हाथ में मेहंदी लगाने पर टीचर ने घंटों धूप में खड़े रखा, वहीं बैतूल में एक छात्र के मारपीट के बाद बाल ही उखाड़ दिए.

जानकारी के मुताबिक, बैतूल में एक मासूम बच्चे को स्कूल में शरारत करने पर टीचर ने पहले तो उसे पीटा, फिर उसके बाल उखाड़ दिए. बच्चे के पिता ने थाने में इसकी शिकायत दर्ज कराई है. मामले की जांच की जा रही है. आरोपी टीचर का कहना है की उसे हटाने के लिए साजिश रची जा रही है. उसने बच्चे को न तो पीटा है, ना ही उसके बाल खींचे हैं.
 
दूसरी तरफ, फतेहपुर में एक छात्रा को अपने हाथों में मेहंदी लगाना महंगा पड़ गया. इसके लिए स्कूल के प्रिंसिपल ने उसको पहले जलील किया, फिर घंटों भरी धूप में फील्ड में खड़ा कर दिया. इससे भी जब मन नहीं भरा तो प्रिंसिपल ने छात्रा को ईंट का टुकड़ा देकर हाथ में लगी मेहंदी छुड़ाने का फरमान जारी कर दिया. छात्रा के हाथों पर जख्म का निशान देखकर परिजनों ने स्कूल में जमकर हंगामा काटा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें