scorecardresearch
 

ट्रायल था सुबह हुआ ट्रेन ब्लास्ट, बड़े हमले की फिराक में थे आतंकी

भोपाल में मंगलवार को हुए ट्रेन ब्लास्ट मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. सूत्रों के हवाले से मिली खबर के अनुसार यह ट्रेन ब्लास्ट सिर्फ ट्रायल के तौर किया गया था.

भोपाल ट्रेन ब्लास्ट सिर्फ ट्रायल था भोपाल ट्रेन ब्लास्ट सिर्फ ट्रायल था

भोपाल में मंगलवार को हुए ट्रेन ब्लास्ट मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. सूत्रों के हवाले से मिली खबर के अनुसार यह ट्रेन ब्लास्ट सिर्फ ट्रायल के तौर किया गया था.

मंगलवार को भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन (ट्रेन नंबर-59320) उज्जैन की तरफ जा रही थी. कालापीपल में जबड़ी स्टेशन के पास सुबह करीब 10 बजे ट्रेन में जोर का धमाका हुआ. इस धमाके में पांच संदिग्ध लोगों के नाम सामने आए हैं. बताया जाता है कि इनमें से तीन को पुलिस ने मध्य प्रदेश से तो एक को यूपी के कानपुर से अरेस्ट किया है, जबकि पांचवां शख्स सैफुल्ला है जिसके लखनऊ में होने की जानकारी मिलने पर लगभग 6 घंटे चले ऑपरेशन के बाद उसे मार गिराया गया.

बताया जा रहा है कि यह ट्रेन ब्लास्ट महज ट्रायल के तौर पर किया गया था. आतंकी इस ब्लास्ट के बाद एक बड़ी आतंकी साजिश रचने की फिराक में थे. संदिग्ध आतंकी लखनऊ के जिस मकान में छुपा हुआ था, वह मकान हाजी कमाल नाम के शख्स का है. साल 2014 में हाजी कमाल की हत्या हो गई थी. मिली जानकारी के मुताबिक, संदिग्ध आतंकी हाजी कमाल के मकान में बतौर किराएदार रह रहा था.

बताते चलें कि कानपुर में पकड़े गए आतंकी से पूछताछ जारी है. यूपी एटीएस आतंकी से उनके टेरर मॉड्यूल की जानकारी जुटाने में लगी है. गौरतलब है, आईजी भोपाल ने भी सुबह हुए हमले को आतंकी हमला बताया था. दरअसल ब्लास्ट की खबर के बाद पुलिस इसे आतंकी हमला मानने से इनकार कर रही थी. प्राथमिक जांच के बाद भोपाल आईजी खुद इस केस में बयान देने के लिए सामने आए. मीडिया से बात करते हुए उन्होंने इसे आतंकी हमला बताया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें