scorecardresearch
 

पंजाब: पाकिस्तान की साजिश, शौर्य चक्र विजेता की हत्या के लिए दी जा रही थी पल-पल की लोकेशन

Pakistan Terrorism: पाकिस्तान में बैठे कश्मीर के हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी, पाकिस्तानी एंबेसी में ISI के अफसर, खालिस्तानी आतंकी और पंजाब के गैंगस्टर्स ने संगठित होकर इमरान सरकार के इशारे पर पंजाब को दहलाने का प्लान बनाया.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पंजाब में दहशत फैलाने के लिए बनाई K-2 डेस्क
  • पाक करवा रहा था हिंदू नेताओं की टारगेट किलिंग

Pakistan Terrorism: पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा. इमरान सरकार और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI पंजाब को दहलाने की साजिश रच रहे हैं. इसके लिए पंजाब के नौजवानों को गुमराह किया जा रहा है.

पाक ने अपनी इस नापाक हरकत को अंजाम देने के लिए बाकायदा K-2 Desk बनाई. यह एक कोड वर्ड है. जिसका मतलब है कश्मीर-खालिस्तान (K-2). इसी मिशन के तहत पंजाब में पिछले 6 साल में 8 मर्डर और दर्जनों जगहों पर फायरिंग की वारदातें हुईं. इतना ही नहीं शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह संधू की हत्या के लिए पाकिस्तान से पल पल की लोकेशन दी जा रही थी.

दिल्ली पुलिस NIA और सेंट्रल एजेंसियों की जांच में पंजाब में हो रही बड़ी साजिश का खुलासा हुआ है. पाकिस्तान में बैठे कश्मीर के हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी, पाकिस्तानी एंबेसी में ISI के अफसर, खालिस्तानी आतंकी और पंजाब के गैंगस्टर्स ने संगठित होकर इमरान सरकार के इशारे पर पंजाब को दहलाने का प्लान बनाया. लिहाजा पंजाब, दिल्ली और पंजाब से सटे राज्यों में RSS और हिंदू नेताओं की टारगेट किलिंग की फुल प्रूफ साजिश पाक में रची गई. इस बात का खुलासा दिल्ली पुलिस ने अपनी चार्जशीट में किया है. 

पाकिस्तान ने कब फायरिंग और हत्या करवाई 

18 जनवरी 2016- RSS शाखा लुधियाना के किदवई नगर गोलीबारी

3 फरवरी 2016- लोकल हिंदू नेता अमित अरोड़ा पर गोलियों से हमला

3 मार्च 2016- हिंदू नेता दुर्गा दास गुप्ता की हत्या, दुर्गा दास गुप्ता शिवा सेना के लीडर थे

6 अगस्त 2016- RSS के वाइस प्रेसिडेंट जगदीश गंगनेजा की गोली मारकर हत्या

14 जनवरी 2017 अमित शर्मा की गोली मारकर हत्या, हिंदू ताकत नामक संगठन के जिला प्रचारक थे

25 फरवरी 2017- डेरा सच्चा सौदा के फॉलोअर सतपाल कुमार और उनके बेटे की गोली मारकर हत्या

15 जुलाई 2017 क्रिश्चियन धर्म से ताल्लुक रखने वाले सुल्तान मसीह की हत्या

17 अक्तूबर 2017- RSS लीडर रविंद्र गोसाईं की हत्या.

16 अक्टूबर 2020- शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह संधू की हत्या.

10 फरवरी 2020- पंजाब में शिव सेना के यूथ विंग के लीडर हनी महाजन पर हमला, गोली लगने से घायल बाल बाल जान बची

लंबी है हत्याओं की फेहरिस्त 

ये साल 2016 से 2020 तक हुई 8 हत्याओं और हमलों की फेहरिस्त है, जो पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI ने खालिस्तानी आतंकियों और पंजाब के गैंगस्टर्स के जरिए करवाई. इस बात का खुलासा दिल्ली पुलिस ने अदालत में अपनी चार्जशीट में किया है. दिल्ली पुलिस ने सेंट्रल एजेंसियों के साथ लंबी तहकीकात के बाद सबूतों के साथ साबित भी किया है.

गैंगस्टर सुख भिखरीवाल को दुबई से गिरफ्तार किया 

दरअसल, पंजाब में शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह संधू की हत्या के मामले में सेंट्रल एजेंसियों की मदद से जांच करके जो सबूत जुटाए गए और इस हत्याकांड में शामिल पंजाब के गैंगस्टर सुख भिखरीवाल को दुबई से गिरफ्तार करके भारत लाया गया, उसने अहम खुलासे किए हैं. उसने बताया कि बलविंदर सिंह संधू की हत्या के लिए ISI की K-2 डेस्क का इस्तेमाल किया गया. नार्को टेरर के जरिए बलविंदर सिंह संधू की हत्या को अंजाम दिलवाया गया था. 

पुलिस ने पेश किए दस्तावेज

भिखरीवाल ने अपने शूटरों से करवाई हत्या 

भिखरीवाल ने खुलासा किया था कि वह दुबई में पाकिस्तानी एंबेसी में बैठे ISI अफसरों के लगातार संपर्क में था. सुख भिखारीवाल ने अपने शूटरों के जरिए शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह संधू की हत्या करवाई थी. साथ ही शिव सेना लीडर हनी महाजन पर भी जानलेवा हमला करवाया था. दरअसल, दुबई में पाकिस्तानी एंबेसी में बैठे ISI के अफसरों ने भिखरीवाल से वादा किया था कि उसे खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट का मेन लीडर बनाया जाएगा और पाकिस्तान में शिफ्ट किया जाएगा.

पुलिस ने पेश किए दस्तावेज

ISI ने हिंदू नेताओं की टारगेट किलिंग कराई

चार्जशीट के मुताबिक पाकिस्तान में बैठे खालिस्तानी आतंकी हरमीत सिंह पीएचडी और लखबीर सिंह रोड के साथ मिलकर ISI ने साल 2016 से 2017 तक आरएसएस, हिंदू नेताओं की टारगेट किलिंग करवाई. इसका मकसद पंजाब में खालिस्तान मूवमेंट को हवा देना था. खालिस्तानी लीडर और ISI का मानना था की इन हत्याओं से पंजाब में लोग पोलराइज होंगे और नफरत फैलेगी. हालांकि नापाक मंसूबे कामयाब हुए नहीं. 

पुलिस ने पेश किए दस्तावेज


K-2 डेस्क से पंजाब के गैंगस्टर्स को करते फंडिंग

पंजाब में दहशत फैलाने के लिए K-2 डेस्क बनाई है. इसमें पाकिस्तान खुफिया एजेंसी ISI के तेज-तर्रार अफसरों को शामिल किया गया है. ISI अफसरों का काम पाकिस्तान में बैठे खालिस्तानी आतंकी लखबीर सिंह के कहने पर पंजाब से फरार होकर गल्फ कंट्री में बैठे गैंगस्टर्स की मदद करना और उनको फंड मुहैया करवाना था. वहीं पाकिस्तान के रावलपिंडी में बैठे आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी अब्दुल माजिद और सदाकत कश्मीर के हिजबुल के OGW को ड्रग भिजवाते हैं. OGW ड्रग पंजाब लेकर ISI और खालिस्तानी आतंकियों से जुड़े गैंगस्टर्स तक पहुंचाता है, फिर ड्रग से मिले कुछ पैसों को पाकिस्तान भेजा जाता है, वहां से हथियारों की सप्लाई होती है. बाकी पैसे से पंजाब के गैंगस्टर्स को फंडिंग की जाती है. 

पुलिस ने पेश किए दस्तावेज

कनाडा, यूके, अमेरिका में बैठे गैंगस्टर्स का डोजियर तैयार

सूत्रों के मुताबिक जांच एजेंसियों ने पंजाब और पंजाब की जेलों में बैठे और भारत से फरार होकर इटली, कनाडा, यूके, अमेरिका और दुबई में बैठे गैंगस्टर्स का पूरा डोजियर तैयार किया है, जिन्हें लगातार ट्रैक किया जा रहा है. हाल के दिनों में D कंपनी के फुट प्रिंट भी पंजाब में मिले हैं जिस से पता चलता है की पाकिस्तान की खुफिया ISI ने पंजाब में दहशत फैलाने के लिए अंडरवर्ल्ड का इस्तेमाल करना भी शुरू कर दिया है. जांच एजेंसियों को ये भी शक है कि ड्रोन के जरिए पिछले दिनों पाकिस्तान से जो टिफिन बम पंजाब में भिजवाए गए, उनमें से काफी पकड़े गए. लेकिन काफी ऐसे भी हैं जिन्हें पकड़ा नहीं जा सका है.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×