scorecardresearch
 

Faridabad: बीवी के आशिक से लेना था बदला, क्राइम सीरियल देखकर रच डाली खौफनाक साजिश

फरीदाबाद पुलिस को सराय ख्वाजा मेट्रो स्टेशन से एक खत बरामद हुआ था. जिसमें मेट्रो स्टेशन पर बम रखे जाने और बैंक की कैश वैन लूटे जाने के बारे में जानकारी दी गई थी. पुलिस ने फौरन इस मामले की छानबीन शुरू कर दी थी.

X
पुलिस ने 21 साल के रामबीर को गिरफ्तार कर लिया है पुलिस ने 21 साल के रामबीर को गिरफ्तार कर लिया है

हरियाणा के फरीदाबाद में पुलिस ने एक ऐसे मामले का पर्दाफाश किया है, जिसकी पटकथा अवैध संबंधों की जमीन पर लिखी गई थी. एक शख्स ने अपनी बीवी के आशिक से बदला लेने के लिए ऐसी खौफनाक साजिश रची कि खुलासा होने पर पुलिस के भी होश उड़ गए. और आरोपी ने ये सब किया टीवी पर आने वाले एक क्राइम शो को देखकर. आइए आपको तफ्सील से बताते हैं कि ये पूरा माजरा क्या है?  

हुआ यूं कि हाल ही में फरीदाबाद पुलिस को सराय ख्वाजा मेट्रो स्टेशन से एक खत बरामद हुआ था. जिसमें मेट्रो स्टेशन पर बम रखे जाने और बैंक की कैश वैन लूटे जाने के बारे में जानकारी दी गई थी. पुलिस ने फौरन इस मामले की छानबीन शुरु कर दी. तकनीकी सर्विलांस और सबूतों के आधार पर आखिरकार पुलिस आरोपी तक जा पहुंची. पकड़े गए शख्स की पहचान रामबीर के तौर पर हुई, जो उत्तर प्रदेश के नानपुर, मुरादाबाद का रहने वाला है. उसकी उम्र 21 साल है.

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि रामबीर को क्राइम ब्रांच की टीम ने तकनीकी सर्विलांस और खुफिया जानकारी के आधार पर गिरफ्तार किया है. पूछताछ में सामने आया कि आरोपी की पत्नी पूजा (बदला हुआ नाम) काम की तलाश में 8 जुलाई को घर से बिना बताए फरीदाबाद आ गई थी. आरोपी को अपनी पत्नी की फरीदाबाद में होने की खबर मिली. इसके बाद वह 26 जुलाई को फरीदाबाद आ गया और अपनी पत्नी के पास चला गया.

जब रामबीर अपनी पत्नी पूजा के साथ रह रहा था, तो उसे शक हुआ कि उसकी पत्नी का मनीष नाम के एक शख्स के साथ नाजायज रिश्ता बन गया है. इसी बात से नाराज होकर रामबीर वापस मुरादाबाद अपने गांव चला गया. वहां जाकर भी उसके दिमाग में बस यही चलता रहा कि उसकी पत्नी उसे धोखा दे रही है. वो किसी भी कीमत पर अपनी बीवी के आशिक को रास्ते से हटाने के बारे में सोचने लगा और उसने एक साजिश रच डाली.

रामबीर अगले ही दिन फिर से फरीदाबाद आ गया. उसने अपनी पत्नी के प्रेमी को फंसाने की साजिश पर काम शुरू कर दिया. रामबीर ने मनीष की तरफ से एक खत लिखा, जिसमें उसने सराय ख्वाजा मेट्रो स्टेशन पर बम रखने और बैंक की कैश वैन लूटने की बात लिख दी. साथ ही उसने मनीष का मोबाइल नंबर भी उस खत में लिख दिया ताकि पुलिस उसे पकड़कर ले जाए.

अपनी साजिश को पूरा करने के मकसद से रामबीर फरीदाबाद के सराय ख्वाजा मेट्रो स्टेशन पहुंचा. उसने अपनी पहचान छुपाने के लिए अपने चेहरे को ढक लिया और लंगड़ाकर चलने लगा. ताकि सीसीटीवी कैमरे में उसकी तस्वीरें देखने पर भी उसकी शिनाख्त ना हो सके. फिर रामबीर ने बड़ी ही सफाई से मेट्रो स्टेशन पर वो खत एक जगह छोड़ दिया और वहां से निकल गया. 

कुछ देर बाद मेट्रो की सुरक्षा में तैनात सीआईएसएफ के जवानों को वो खत मिला. जवानों ने खत को पढ़ते ही फौरन फरीदाबाद पुलिस को इस बारे में इत्तिला दी. पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए एक मुकदमा दर्ज किया. इसके बाद एसीपी मेट्रो विनोद कुमार और क्राइम ब्रांच बॉर्डर की टीम ने इस मामले की छानबीन शुरू कर दी. टीम ने मेट्रो स्टेशन पर सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली और दूसरे सुराग जुटाए. 

और तकनीकी सर्विलांस की मदद से आखिरकार पुलिस रामबीर तक जा पहुंची. पुलिस के मुताबिक रामबीर ने टीवी पर क्राइम शो देखकर ये साजिश रची थी. इस काम में पुलिस विशेष सूत्रों का खास योगदान रहा. ये पूरा ऑपरेशन एसीपी मेट्रो विनोद कुमार की देखरेख में अंजाम दिया गया. अब पुलिस रामबीर को अदालत में पेश कर रिमांड पर लेगी. क्योंकि पुलिस उससे गहनता से पूछताछ करना चाहती है. साथ ही पुलिस ये भी पता लगाएगी कि रामबीर की कहानी में कोई और झोल तो नहीं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें