scorecardresearch
 

दिल्लीः पत्नी से अवैध संबंध के शक में किया चचेरे भाई का मर्डर, मेट्रो स्टेशन के पास मिली थी लाश

बीती 20 जनवरी की रात 8 बजकर 33 मिनट पर पुलिस को सूचना मिली कि शिव विहार मेट्रो स्टेशन के सामने एक युवक अचेत अवस्था में पड़ा है. सूचना के बाद करावल नगर थाना पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और युवक को वहां से उठाकर अस्पताल ले गई. जहां डॉक्टरों ने उस युवक को मृत घोषित कर दिया.

X
पुलिस ने आरोपी अजीत को गिरफ्तार कर लिया है पुलिस ने आरोपी अजीत को गिरफ्तार कर लिया है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आरोपी की पत्नी से फोन पर बात करता था योगेश
  • आरोपी के सगे चाचा का बेटा था मृतक
  • पुलिस ने सर्विलांस के जरिए खोला राज

दिल्ली पुलिस ने कत्ल की एक गुत्थी को सुलझाते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी को शक था कि उसकी पत्नी के साथ उसके चचेरे भाई के अवैध संबंध हैं. इसी शक के चलते आरोपी ने एक खूनी साजिश रच डाली और फिर उसे अंजाम तक पहुंचा दिया. अब पांच दिन बाद पुलिस ने इस कत्ल का खुलासा कर दिया है. आरोपी अब सलाखों के पीछे पहुंच चुका है. 

दिल्ली के करावल नगर थाना इलाके में बीती 20 जनवरी की रात 8 बजकर 33 मिनट पर पुलिस को सूचना मिली कि शिव विहार मेट्रो स्टेशन के सामने एक युवक अचेत अवस्था में पड़ा है. सूचना के बाद करावल नगर थाना पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और युवक को वहां से उठाकर अस्पताल ले गई. जहां डॉक्टरों ने उस युवक को मृत घोषित कर दिया.

पुलिस ने जब शिनाख्त की कार्रवाई की तो मरने वाले की पहचान करावल नगर निवासी योगेश शर्मा के तौर पर हुई. साफ तौर पर मामला कत्ल का नजर आ रहा था. पुलिस एक्शन में आ चुकी थी. पुलिस ने कत्ल की इस गुत्थी को सुलझाने के लिए सबसे पहले उस जगह लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली, जहां योगेश की लाश मिली थी.

इसके बाद पुलिस ने दूसरा काम ये किया कि योगेश के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल की जांच की गई. सीडीआर देखने पर पुलिस को पता चला कि योगेश एक नंबर पर सबसे ज्यादा बातचीत करता था. अब पुलिस को जानना था कि आखिर यह नंबर किसका है. जांच आगे बढ़ी तो पता चला कि वो नंबर योगेश के चचेरे भाई अजीत की पत्नी का था. 

देखेंः आज तक Live TV

इसी नंबर के आधार पर पुलिस मृतक योगेश चचेरे भाई अजीत तक जा पहुंची. पुलिस ने पति-पत्नी दोनों से पूछताछ की. पहले अजीत पुलिस के सामने झूठ बोलता रहा लेकिन जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो वो टूट गया. उसने योगेश का कत्ल करने की बात कबूल कर ली. आरोपी अजीत ने पुलिस को बताया कि उसने पहले योगेश को शराब पिलाई थी और फिर उसकी हत्या कर दी.

इसके बाद पुलिस ने योगेश शर्मा की हत्या के आरोप में अजीत शर्मा को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने बताया कि अजीत और योगेश का परिवार गाजियाबाद जिले के लोनी स्थित जवाहर नगर में रहता है. अजीत को शक था कि उसका चचेरा भाई योगेश उसकी पत्नी के संपर्क में है.

डीसीपी नॉर्थ ईस्ट वेद प्रकाश सूर्या ने बताया कि अजीत और योगेश के पिता सगे भाई हैं. दोनों की मां भी सगी बहने हैं. अजीत ने पूछताछ में बताया कि 20 जनवरी को वो योगेश को शराब पिलाने के बहाने मेट्रो स्टेशन के करीब ले गया. नशा होने पर उसने योगेश से अपनी पत्नी से रिश्ते के बारे में पूछा तो योगेश ने कोई जवाब नहीं दिया.

इस बात पर अजीत आपा खो बैठा और उसने गुस्से में आकर योगेश पर लोहे के सूजे से कई वार किए. जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई. पुलिस ने आरोपी अजीत की निशानदेही पर हत्या में इस्तेमाल किया गया सूजा, मोबाइल और खून से सने कपड़े भी बरामद कर लिए हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें