scorecardresearch
 

दिल्लीः घर में लगी थी भयंकर आग, पुलिस ने जान पर खेलकर बुजुर्ग बाप और बेटे को बचाया

बीती रात करीब 3 बजे एक फ्लैट में भयंकर आग लग गई. इस बात की सूचना दिल्ली पुलिस को मिली. पुलिस को कॉल फ्लैट की मालकिन कल्यानी चटर्जी ने की थी. उन्होंने पुलिस को बताया कि उनका 31 साल का बीमार बेटा अग्निभा और उनके 75 साल के पति सोमिर आग में फंसे हुए हैं और फ्लैट में भयंकर आग लगी हुई है.

घर में लगी भयंकर आग के बीच पुलिस ने पिता-बेटे को सुरक्षित निकाला घर में लगी भयंकर आग के बीच पुलिस ने पिता-बेटे को सुरक्षित निकाला
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सीआर पार्क के एक घर में देर रात लगी आग
  • आग के बीच फंसे थे बुजुर्ग पिता और बेटा
  • बुजुर्ग की पत्नी ने पुलिस को की थी कॉल

दिल्ली पुलिस के जवानों ने बहादुरी की मिसाल पेश करते हुए एक घर में लगी आग के बीच से एक बुजुर्ग पिता और उसके मानसिक तौर पर कमजोर बेटे को सुरक्षित निकाल लिया. रेस्क्यू किए गए बुजुर्ग की उम्र 75 साल है, जबकि उनका बेटा 31 साल का है. आग लगने की सूचना मिलने पर दिल्ली पुलिस की टीम मौके पर पहुंची थी.  

घटना साउथ दिल्ली के सीआर पार्क इलाके की है. जहां बीती रात करीब 3 बजे एक फ्लैट में भयंकर आग लग गई. इस बात की सूचना दिल्ली पुलिस को मिली. पुलिस को कॉल फ्लैट की मालकिन कल्यानी चटर्जी ने की थी. उन्होंने पुलिस को बताया कि उनका 31 साल का बीमार बेटा अग्निभा और उनके 75 साल के पति सोमिर आग में फंसे हुए हैं और फ्लैट में भयंकर आग लगी हुई है.

दिल्ली पुलिस ने फायर डिपार्टमेंट को सूचित किया. फिर दिल्ली पुलिस की टीम खुद भी मौके पर पहुंची. दिल्ली पुलिस के जवानों ने सोमिर को बेडरूम का दरवाजा तोड़ कर रेस्कयू किया. जब अंदर के एक कमरे से रोने और बचाओ-बचाओ चीखने की आवाज सुनाई दी. लेकिन आग और धुएं की वजह से सही लोकेशन नहीं पता चल रही थी.

फिर दिल्ली पुलिस के जवानों ने सर्च लाइट का इस्तेमाल किया. अंदर एक बेडरूम के लकड़ी के दरवाजे को तोड़ा गया. जहां बुजुर्ग फैमली का बेटा अग्निभा फंसा हुआ था. उसे दिल्ली पुलिस के जवानों ने रेस्क्यू किया और दिल्ली के एम्स अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करवाया.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें