scorecardresearch
 

ब्रिटिश संसद में एक्टिव है चीन की महिला जासूस! खुफिया एजेंसी MI5 ने जारी की वॉर्निंग

ब्रिटेन के संसद सदस्यों को चेतावनी दी गई है कि एक महिला चीनी एजेंट संसद में सक्रिय है. यह राज गुरुवार को हाउस ऑफ कॉमन्स में सामने आया. ये चेतावनी देश की सीक्रेट सर्विस MI5 ने दी है.

london london
स्टोरी हाइलाइट्स
  • क्रिस्टीन ली नामक महिला को लेकर चेतावनी
  • चीनी एजेंट को लेकर MI5 ने जारी की वॉर्निंग

ब्रिटेन की सीक्रेट सर्विस MI5 ने संसद सदस्यों को चेतावनी दी है कि एक महिला चीनी एजेंट संसद में सक्रिय है. यह राज गुरुवार को हाउस ऑफ कॉमन्स में सामने आया. कंजरवेटिव पार्टी के वरिष्ठ सांसद और चीन के मुखर आलोचक इयान डंकन स्मिथ ने MI5 द्वारा कॉमन्स के अध्यक्ष सर लिंडसे हॉयल को भेजे गए एक पत्र के संदर्भ में इस मुद्दे को उठाया.

चीन ने देश के अशांत शिनजियांग उइघुर स्वायत्त क्षेत्र में उइगर अल्पसंख्यक के साथ अपने व्यवहार के खिलाफ बोलने के लिए डंकन स्मिथ पर प्रतिबंध लगाए हैं. स्मिथ ने कहा, "मैं समझता हूं कि MI5 ने स्पीकर से संपर्क किया है और अब वह संसद सदस्यों को चेतावनी दे रहे हैं कि संसद में यहां चीनी सरकार का एक एजेंट सक्रिय है, जो संसद सदस्य के साथ काम कर रहा है, जाहिर तौर पर यह यहां की प्रक्रियाओं को बिगाड़ने के लिए."
 
उन्होंने कहा "मैं कहता हूं, एक संसद सदस्य के रूप में जिसे चीनी एजेंट गंभीर चिंता का विषय है". हॉयल द्वारा सांसदों को भेजे गए एक पत्र में, उन्होंने कथित तौर पर कहा कि MI5 ने उन्हें चेतावनी दी थी कि क्रिस्टीन ली नामक एक महिला "चाइनीज कम्युनिटी पार्टी की ओर से राजनीतिक हस्तक्षेप गतिविधियों में लिप्त है. वह यहां संसद में सदस्यों के साथ उलझी हुई है". MI5 ने तथाकथित "इंटरफेरेंस अलर्ट" चेतावनी भेजी है कि ली ने "हांगकांग और चीन में स्थित विदेशी नागरिकों की ओर से सेवारत और इच्छुक सांसदों को वित्तीय दान की सुविधा प्रदान की है. भुगतान की उत्पत्ति को छिपाने के लिए ये गुप्त रूप से किया गया".
 
'स्काई न्यूज' के अनुसार, अलर्ट में कहा गया है कि "ली ने चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (यूएफडब्ल्यूडी) के संयुक्त मोर्चा कार्य विभाग के साथ समन्वय में गुप्त रूप से काम किया है और ब्रिटेन में राजनीतिक हस्तक्षेप गतिविधियों में शामिल होने का अनुमान लगाया गया है." हॉयल ने सांसदों से कहा कि अगर ली ने उनसे संपर्क किया है, तो उन्हें संसद के सुरक्षा निदेशक से संपर्क करना चाहिए.

इनपुट- अदिति खन्ना

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×