scorecardresearch
 
पुलिस एंड इंटेलिजेंस

मुंबई: भाई की हत्या का बदला लेने के लिए बहन ने आरोपी को प्रेम जाल में फंसाया, फिर हुआ ये

पुलिस ने हत्या की कोशिश को किया नाकाम (फोटो आजतक)
  • 1/6

मुंबई पुलिस ने एक युवक की हत्या की कोशिश को नाकाम कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. हत्या की साजिश फिल्मी स्टाइल में रची गई थी. इस गिरफ्तारी के बाद जो खुलासे हुए उनसे पुलिस भी हैरान रह गई. 
(इनपुट- शिवशंकर तिवारी)

(फोटो आजतक)

 

पुलिस ने हत्या की कोशिश को किया नाकाम (फोटो आजतक)
  • 2/6

दरअसल एक बहन ने अपने भाई की हत्या का बदला लेने के लिए यह साजिश रची थी. लड़की ने इंस्टाग्राम पर फेक आईडी बनाकर हत्यारे को अपने प्रेम जाल में फंसाया. शनिवार 9 जनवरी को आरे के छोटा कश्मीर इलाके के पास बुलाया. फिर एंबुलेंस में उसने अपने पांच साथियों की मदद से हत्यारे का अपहरण करवाया. लेकिन वो खुद मौके पर नहीं पहुंची. इससे पहले की नायगांव के जंगल में ले जाकर वो लोग उसकी हत्या कर देते. उससे पहले ही दहिसर चेक नाके पर सभी को आरे पुलिस ने पकड़ लिया. 

 पुलिस ने हत्या की कोशिश को किया नाकाम (फोटो आजतक)
  • 3/6

आरे पुलिस स्टेशन से मिली जानकारी के अनुसार 9 जून 2020 को एम एम कंपनी और साजिद 313 ग्रुप में रिक्शा पार्किंग को लेकर खूनी संघर्ष हुआ था. उस दौरान एम एम कंपनी का मोहम्मद सादिक उर्फ मेंटल साजिद 313 ग्रुप के 24 वर्षीय अल्ताफ शेख की हत्या कर फरार हो गया था. वह दिल्ली में छुपा था. अल्ताफ की बहन यास्मीन अपने भाई के हत्यारे से बदला लेना चाहती थी.

पुलिस ने हत्या की कोशिश को किया नाकाम (फोटो आजतक)
  • 4/6

इसके लिए उसने मालवणी में रहने वाले अपने भाई के दोस्तों मोहम्मद फारूख शेख (20 वर्ष), ओवेश नबिउल्लाह शेख (18 वर्ष), मोहम्मद मानिस सैयद (20 वर्ष) सहित कांदिवली के गणेश नगर में रहने वाले निहाल जाकिर खान (32 वर्ष) और सत्यम कुमार पांडे (23 वर्ष) को अपनी योजना में शामिल कर लिया. यास्मीन खुद इंस्टाग्राम पर फेक आईडी के माध्यम से सादिक को फॉलो कर चैट करने लगी. प्यार भरी बातें कर वह सादिक का विश्वास जीतने में कामयाब हो गई.

 पुलिस ने हत्या की कोशिश को किया नाकाम (फोटो आजतक)
  • 5/6

जानकारी मिलते ही जोन 12 के डीसीपी डॉक्टर डीएस स्वामी ने पूरे क्षेत्र के पुलिस थानों को नाका बंदी लगाने का आदेश दिया. इस बीच आरे पुलिस को सादिक का किडनैप कर रहे घटना की वीडियो मिल गया. उसके आधार पर मालवणी पुलिस से पता चला कि उसमें शामिल महिला का नाम यास्मीन है, साथ ही उसका मोबाइल नंबर भी आरे पुलिस को मिल गया. उस मोबाइल नंबर के जरिए आरे पुलिस लोकेशन ट्रेस कर एंबुलेंस का पीछा कर रही थी. दहिसर चेक नाके पर पकड़े जाने के बाद आरोपियों ने आरे पुलिस को बताया कि सादिक का अपहरण कर वे लोग कांदिवली पश्चिम, एस वी रोड के शताब्दी हॉस्पिटल के पास पहुंचे तभी डीजल खत्म हो गया.

 पुलिस ने हत्या की कोशिश को किया नाकाम (फोटो आजतक)
  • 6/6

जिसके बाद इन लोगों ने इनोवा मंगवाई उसमें सादिक को बैठाकर वे सभी नायगांव जा रहे थे. वहां जंगल में ले जा कर यास्मीन अपने साथियों के साथ सादिक की हत्या कर अपने भाई के खून का बदला लेना चाहती थी. पुलिस इस मामले में अपहरण और हत्या की साजिश रचने का मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई कर रही है. सभी आरोपियों के पास से चॉपर, तलवार सहित अन्य धारदार हथियार मिले हैं. इसके साथ ही एक एंबुलेंस और इनोवा कार भी पुलिस ने बरामद की है.