scorecardresearch
 

एमपी से नाबालिग लड़की को किडनैप कर पंजाब ले गया शख्स, 3 साल बाद CBI ने किया अरेस्ट

लड़की के पिता की याचिका पर सुनवाई करते हुए एमपी हाई कोर्ट ने 6 दिसंबर 2019 को इस मामले की जांच को सीबीआई को सौंप दी थी. तब तक एमपी पुलिस इस मामले में लड़की का पता लगाने में नाकाम रही थी.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 2017 में नाबालिग को लेकर भागा था शख्स
  • CBI ने अब पंजाब से किया है गिरफ्तार
  • बैंक खाते की मदद से पकड़ा गया आरोपी

नाबालिग लड़की के अपहरण के एक मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने आरोपी शख्स को घटना के 3 साल बाद पंजाब के राजपुरा से गिरफ्तार किया है. आरोपी का नाम अरुण लाल है. अरुण लाल पर साल 2017 में 16 साल की एक लड़की को भगाकर ले जाने का आरोप है. 

लड़की अब बालिग हो चुकी है. सीबीआई ने लड़की को नारी निकेतन भेज दिया है. जबकि आरोपी को ट्रांजिट रिमांड के लिए सक्षम न्यायालय के सामने पेश किया जाएगा. 

अरुण लाल पर आरोप है कि 26 फरवरी 2017 को उसने एमपी के भिंड से लड़की को किडनैप कर लिया था. सीबीआई के मुताबिक आरोपी ने किडनैपिंग के लिए मोटरसाइकिल का इस्तेमाल किया था.  

लड़की के पिता की याचिका पर सुनवाई करते हुए एमपी हाई कोर्ट ने 6 दिसंबर 2019 को इस मामले की जांच को सीबीआई को सौंप दी थी. तब तक एमपी पुलिस इस मामले में लड़की का पता लगाने में नाकाम रही थी. लड़की के पिता का आरोप है कि जब आरोपी उसकी बेटी को लेकर भाग रहा था तो उसने उसे रोकने की कोशिश की थी लेकिन आरोपी ने उसे एक देशी कट्टा दिखाकर वश में कर लिया था. 

लड़की के पिता के मुताबिक इस मामले में अरुण लाल को एक और शख्स ने मदद की थी. इस मामले में स्थानीय पुलिस ने आरोपी के एक दोस्त को गिरफ्तार किया था, जिसकी बाइक कथित तौर पर घटना में इस्तेमाल की गई थी. 

सीबीआई ने बैंक खातों के जरिए आरोपी का पता लगाया. सीबीआई के अधिकारियों ने कुछ काम के बहाने आरोपी को बैंक बुलाया और यहां पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें