scorecardresearch
 

Muzaffarpur: भाई ने खरीदा ट्रैक्टर, लालच में चचेरे भाई ने किया उसके बच्चे को किडनैप

बिहार के मुजफ्फरपुर में रिश्तों को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. जहां रिश्ते के चाचा ने अपने 6 साल के भतीजे को फिरौती के लालच में किड़नैप कर लिया. वहीं पुलिस ने मुस्तैदी दिखाते हुए किडनैप बच्चे को 48 घंटे में सुरक्षित बचा लिया.

 चाचा ने अपने 6 साल के भतीजे को किनैप किया (फोटो आजतक) चाचा ने अपने 6 साल के भतीजे को किनैप किया (फोटो आजतक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • किडनैप बच्चे को 48 घंटे में सुरक्षित बचा लिया गया
  • एक महिला सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया

बिहार के मुजफ्फरपुर में रिश्तों को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. जहां रिश्ते के चाचा ने अपने 6 साल के भतीजे को फिरौती के लालच में किडनैप कर लिया. वहीं पुलिस ने मुस्तैदी दिखाते हुए किडनैप बच्चे को 48 घंटे में सुरक्षित बचा लिया. मामाले में एक महिला सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. बताया जाता है कि बच्चे के पिता ने पिछले दिनों एक ट्रैक्टर खरीदा था. जिसके लालच में आरोपी में किडनैपिंग की साजिश रची.  

घटना मोतीपुर थाना इलाके की है. जहां मोतीपुर के मोर संडी निवाशी शत्रुहन राम का बेटा कृष्ण मोहन राम घर के बाहर खेल रहा था. बच्चे के माता पिता घर में नहीं थे तो मौके का फायदा उठाकर शत्रुहन के चचेरे भाई राहुल ने बच्चे को अगवा कर लिया और रंजीत राम नामक अपराधी के हवाले कर दिया.

किडनैप बच्चे को 48 घंटे में सुरक्षित बचा लिया

रंजीत बच्चे को लेकर शिवहर जिले के राम पुर भटहा पहुंच गया और देवेंद्र पंडित की पत्नी नीलम देवी के घर मे बच्चे को कैद कर दिया. इसके बाद दोनों ने मिलकर शत्रुहन राम से चार लाख फिरौती की मांग की और कहा कि पैसा नहीं दिए तो बच्चे को मार देंगे.

परिजनों ने इसकी सूचना मोतीपुर पुलिस को दी. एसएसपी जयंत कांत के निर्देश पर एएसपी सैयद इमरान मसूद के नेतृत्व में टीम का गठन किया. टीम ने शिवहर के नीलम देवी के घर से बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया है.


देखें: आजतक LIVE TV

एसएसपी जयन्त कांत ने बताया है कि रंजीत राम राहुल और नीलम देवी तीनों को गिरफ्तार कर लिया है. रंजीत और राहुल के पास से एक एक देसी पिस्टल और कारतूस बरामद किया गया है. बताया जाता है कि शत्रुहन राम ने पिछले दिनों एक ट्रैक्टर खरीदा था. राहुल और रंजीत ने फिरौती के लालच में बच्चे को किडनैप कर लिया था. एसएसपी ने कहा है कि अपराधियों को तुरंत पकड़कर बच्चे की जान बच गई है. क्योंकि बच्चे ने राहुल और रंजीत को पहचान लिया था.


आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें