scorecardresearch
 

NEET 2021: सॉल्वर गैंग का खुलासा, वाराणसी में मां-बेटी गिरफ्तार, बिहार में छुपा है गिरोह का सरगना

क्राइम ब्रांच की टीम ने रविवार को हुई नीट की परीक्षा में सॉल्वर गिरोह का खुलासा किया है. क्राइम ब्रांच की टीम ने सारनाथ थाना क्षेत्र के सेंट फ्रांसिस जेवियर स्कूल में मूल अभ्यर्थी की जगह परीक्षा दे रही बैचलर आफ डेंटल साइंस द्वितीय वर्ष की छात्रा जूली और उसकी मां बबीता को गिरफ्तार किया.

दूसरे की जगह परीक्षा देने के आरोप में जूली और उसकी मां गिरफ्तार दूसरे की जगह परीक्षा देने के आरोप में जूली और उसकी मां गिरफ्तार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • परीक्षा देने के बदले में मिलने थे 5 लाख रुपये
  • गिरफ्तार की गई छात्रा डेंटल साइंस में सेकेंड ईयर की छात्रा
  • एक उम्मीदवार की जगह परीक्षा देने के आरोप में हुई गिरफ्तार

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) की एक छात्रा और उसकी मां को रविवार को आयोजित नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET 2021) में एक उम्मीदवार की जगह परीक्षा देने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया. गिरफ्तार की गई छात्रा डेंटल साइंस में सेकेंड ईयर की छात्रा है. 

क्राइम ब्रांच की टीम ने रविवार को हुई नीट की परीक्षा में सॉल्वर गिरोह का खुलासा किया है. क्राइम ब्रांच की टीम ने सारनाथ थाना क्षेत्र के सेंट फ्रांसिस जेवियर स्कूल में मूल अभ्यर्थी की जगह परीक्षा दे रही बैचलर आफ डेंटल साइंस द्वितीय वर्ष की छात्रा जूली और उसकी मां बबीता को गिरफ्तार किया.

आरोपित मां-बेटी मूल रूप से पटना के बहादुरपुर थाना गढ़ वैष्णवी कॉलोनी निवासी बताई जा रही हैं. दोनों को सोमवार को जेल भेज दिया गया.

इसे भी क्लिक करें --- NEET Exam 2021: जयपुर में नीट परीक्षा 2021 का पेपर लीक- पुलिस

जूली के पिता मुन्ना कुमार मेहता इलाके में फेरी लगा कर सब्जी बेचने का काम करते हैं. पिता ने अपनी बेटी को लेकर जो सपने संजोये हुए थे, अब वह एक झटके में टूट गए. जूली का करियर बर्बाद तो हुआ ही साथ ही एक मेधावी बेटी जो हासिल कर सकती थी उससे वंचित हो गई.

जूली बीएचयू छात्रावास में रहती है और पुलिस के मुताबिक गिरोह का सरगना पटना का पीके नामक शख्स है. पुलिस के अनुसार इन सॉल्वर गैंग का नेटवर्क पूर्वोत्तर राज्यों तक फैला हुआ है.

पुलिस के अनुसार दूसरे की जगह परीक्षा दे रही जूली को बदले में 5,00,000 रुपये मिलने थे और इसके लिए उन्हें एडवांस में 50 हजार रुपये दे दिए गए थे. क्राइम ब्रांच की टीम अन्य आरोपियों को पकड़ने बिहार और लखनऊ में जांच कर रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें