scorecardresearch
 

UP Police Daroga Bharti: 2 घंटे का पेपर 3 मिनट में किया पूरा, दारोगा बनने से पहले ही चार युवक गए जेल

up police daroga bharti : आगरा से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. जहां पर दारोगा भर्ती के लिए ऑनलाइन हुई परीक्षा में 2 घंटे के पेपर को महज तीन मिनट में ही सॉल्व कर दिया गया. जांच के बाद पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. अब पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आरोपियों ने पेपर को सॉल्व करने के लिए किस तकनीक का सहारा लिया था.

X
दो घंटे का पेपर तीन मिनट में सॉल्व, चार गिरफ्तार (फोटो-आजतक) दो घंटे का पेपर तीन मिनट में सॉल्व, चार गिरफ्तार (फोटो-आजतक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कंप्यूटर में लगा था ऑनलाइन ट्रैकिंग सिस्टम
  • पुलिस ने चार आरोपियों को किया गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आगरा (Agra) से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. जहां पर नवंबर 2021 में दरोगा भर्ती के लिए हुई ऑनलाइन परीक्षा में कुछ अभ्यर्थियों ने 2 घंटे के पेपर को महज तीन मिनट में ही सॉल्व कर दिया. जब पुलिस के पास यह केस गया तो वो यह जानकर हैरान रह गई. आखिर कैसे आरोपियों ने मुश्किल से मुश्किल सवालों को महज कुछ ही सेकंड में पूरा कर दिया. जांच के बाद पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. 

दारोगा भर्ती की यह परीक्षा नवंबर 2021 में हुई थी और गिरफ्तार हुए चारों आरोपी उस परीक्षा को देने के लिए बैठे थे. एग्जाम के बाद जब चेकिंग हुई तो पता चला कि चारों आरोपियों ने 2 घंटे का पेपर सॉल्व करने में महज 3 मिनट का समय लिया. यानी एक सवाल को एक सेकंड में हल किया था. संदेह के बाद मामले की जांच शुरू हुई और चारों आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ गए. पुलिसकर्मी भी यह यकीन नहीं कर पा रहे हैं कि एक सेकंड में कैसे कोई एक सवाल हल कर सकता है. 

एसपी सिटी विकास कुमार ने बताया कि कंप्यूटर में ऑनलाइन ट्रैकिंग सिस्टम लगा हुआ था. जांच में चार अभ्यर्थी फंस गए. भर्ती बोर्ड के निर्देश पर शाहगंज थाने में मामला दर्ज कराया है. मुकदमे में आगरा, गाजियाबाद और अलीगढ़ के केंद्र व्यवस्थानपक भी नामजद हैं उनकी गिरफ्तारी होनी है. विकास कुमार ने बताया कि कुछ अभ्यर्थियों के नकल और कंप्यूटर डिवाइस का प्रयोग करने की आशंका थी. 

एक मिनट में 18 सवाल हर किए, 4 अरेस्ट

पुलिसभर्ती परीक्षा फर्जीवाड़े में शामिल आरोपियों के नाम अंकित , संदीप , लव कुमार और वेद प्रकाश हैं. चारों ने आगरा, अलीगढ़ और गाजियाबाद में ऑनलाइन परीक्षा दी थी. आरोपियों के रिकॉर्ड प्रदर्शन ने अब उन्हें सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है. पुलिस अब यह पता लगाने में जुटी है कि आरोपियों ने फर्जीवाड़ा करने में किस तरह की तकनीकी का इस्तेमाल किया था.  कैसे सभी ने 1 ही सेकंड में जटिल सवालों को हल कर दिया था. 

इस मामले पर एसपी सिटी आगरा का कहना है कि वारदात में शामिल आरोपियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी. गिरोह में शामिल अन्य लोगों की तलाश जारी है. मामले में केंद्र व्यवस्थापकों के खिलाफ भी कार्रवाई की गई है. गिरोह में शामिल अन्य लोगों की तलाश जारी है. 

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें