scorecardresearch
 

Udaipur: कन्हैया की हत्या के बाद एक और वीडियो बनाने वाले थे आरोपी, मुंबई हमले की तारीख पर बाइक नंबर!

उदयपुर में टेलर कन्हैया लाल की हत्या के बाद उदयपुर से अजमेर भाग रहे दोनों आरोपी अजमेर में एक और वीडियो बनाकर डालना चाह रहे थे. वीडियो बनाने का आइडिया पाकिस्तानी हैंडलर ने दिया था ताकि ज़्यादा दहशत फैले.

X
नाप देने के बहाने टेलर कन्हैया लाल की हत्या नाप देने के बहाने टेलर कन्हैया लाल की हत्या
स्टोरी हाइलाइट्स
  • टेलर कन्हैया की हत्या के पीछे पाकिस्तानी कनेक्शन
  • गौस मोहम्मद ने कराची में ली थी 45 दिन की ट्रेनिंग

राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल मर्डर केस में दोनों आरोपियों का पाकिस्तान कनेक्शन सामने आया है. राजस्थान के गृह राज्य मंत्री राजेंद्र यादव ने इसकी पुष्टि की. उन्होंने कहा कि यह मामला दो धर्मों की लड़ाई का नहीं, बल्कि आतंकी हमला है. दो में से एक आरोपी गौस मोहम्मद साल 2014-15 में 45 दिन कराची में ट्रेनिंग लेकर आया है.  

इतना ही नहीं साल 2018-19 में गौस मोहम्मद अरब देशों में गया था. पिछले साल नेपाल में भी इसकी लोकेशन सामने आई. ऐसे में आरोपी गौस मोहम्मद का कनेक्शन सीधे तौर पर पाकिस्तान से जुड़ा है. कन्हैयालाल की हत्या को आतंकी घटना मानते हुए UAPA के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. 

एक और वीडियो डालने का था प्लान

इस बीच एक और खुलासा हुआ है. भाजपा नेत्री नुपूर शर्मा मामले में हत्या की धमकी और हत्या का वीडियो आरोपी गौस मोहम्मद ने डाला था. हत्या के बाद उदयपुर से अजमेर भाग रहे दोनों आरोपी अजमेर में एक और वीडियो बनाकर डालना चाह रहे थे. वीडियो बनाने का आइडिया पाकिस्तानी हैंडलर ने दिया था ताकि ज़्यादा दहशत फैले.

रियाज की बाइक का नंबर 2611

दावत-ए-इस्लामी से जुड़ा गौस अल्लाह के बंदे, लब्बो या रसूलुल्लाह जैसे कई व्हाट्सऐप ग्रुप बनाकर हज़ारों लोगों को जोड़ रखा था. उसने अपने यह वीडियो इन्हीं ग्रुपों में डाला था. वारदात के बाद गौस, रियाज़ के मोटरसाइकिल से भाग रहा था, जिसका नंबर 2611 है, जो मुंबई हमले की तारीख है. इस पर किसी सुरक्षा एजेंसियों का ध्यान नहीं गया है.

हत्या के वक्त स्टार्ट रखी गई थी बाइक

हमला करने के दौरान बाईक 70 मीटर दूर स्टार्ट रखी गई थी. वहां से ये भागकर देवगढ़ मोटर गैराज पर पहुंचे, जहां 6 महीने पहले रियाज काम करता था. मगर उसने पनाह नहीं दी और किसी ने देवगढ़ पुलिस को इनकी सूचना दे दी. इन्हें भनक मिल गई तो सड़क का रास्ता छोड़ गांवों के रास्ते भीम पहुंचे, जहां का गौस रहने वाला है.

पुलिस ने ऐसे आरोपियों को धर दबोचा

भीम में भी पनाह देने से मना कर दिया गया और पुलिस को सूचना दे दी गई. इसके बाद दोनों को उदयपुर से 170 किमी दूर भीम से 10 किमी दूर हाईवे पर शाम पांच बजे नाकेबंदी कर रही पुलिस ने धर दबोचा. ये बाईक छोड़कर भागने लगे तो पुलिस ने धर दबोचा. फिलहाल दोनों आरोपियों रियाज और गौस से पूछताछ की जा रही है.

हत्यारों को फांसी की सजा देने की मांग

इस बीच कन्हैयालाल का कल अंतिम संस्कार कर दिया गया. शहर में कर्फ्यू के बाद उनकी अंतिम यात्रा में भारी भीड़ जुटी. लोगों ने 'हत्यारों को फांसी दो' के नारे लगाए. कन्हैया की हत्या के विरोध में शहर भी बंद रहा. पोस्टमॉर्टम के बाद उनका शव घर ले जाया गया, तो उनकी पत्नी ने रोते हुए कहा कि हत्यारों को फांसी की सजा दी जाए.

कन्हैया के शरीर पर घाव के 26 निशान

कन्हैयालाल का कल पोस्टमॉर्टम हुआ. सूत्रों के मुताबिक, शरीर पर घाव के 26 निशान मिले हैं. 8 से 10 घाव केवल गर्दन पर ही थे. पीएम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि कन्हैया का गला रेत कर अलग किया गया था. दोनों हमलावर कपड़े का नाप देने के बहाने मंगलवार को कन्हैया की दुकान में घुसे थे. इसके बाद उन्होंने बर्बर तरीके से उसकी हत्या कर दी थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें