scorecardresearch
 

राजसमंद में टेंशन, कर्फ्यू जारी... उदयपुर हत्याकांड के 36 घंटे में क्या-क्या हुआ? पढ़ें 10 बड़े अपडेट्स

Udaipur killing: राजस्थान के उदयपुर में दो युवकों ने कन्हैया लाल की धारदार हथियार से हमला कर हत्या कर दी थी. पुलिस ने दोनों आरोपियों रियाज और गोस को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपियों के तार पाकिस्तान से जुड़े होने की आशंका जताई जा रही है. ऐसे में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जांच एनआईए को सौंप दी है. आईए पढ़ते हैं अब तक के 10 बड़े अपडेट्स...

X
कन्हैया लाल के अंतिम संस्कार के वक्त रोती उनकी पत्नी यशोदा (फोटो- पीटीआई)
कन्हैया लाल के अंतिम संस्कार के वक्त रोती उनकी पत्नी यशोदा (फोटो- पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राजस्थान के उदयपुर में 28 जून को हुई थी हत्या
  • पुलिस ने दोनों आरोपियों को किया गिरफ्तार

राजस्थान के उदयपुर में हुई नृशंस हत्या को 36 घंटे बीत गए हैं. इस जघन्य अपराध को लेकर पूरे देश में गुस्सा है. देशभर में हर वर्ग ने टेलर कन्हैया लाल के हत्यारों को कड़ी सजा देने की मांग की है. उधर, गृह मंत्रालय ने इस मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच NIA को सौंप दी है. दरअसल, इस आतंकी वारदात में विदेशी साजिश की भी आशंका जताई जा रही है. उधर, राजस्थान एटीएस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपियों से पूछताछ के आधार पर करीब 10 लोगों को हिरासत में लिया गया है. उनसे भी पूछताछ जारी है. कन्हैया लाल के बेटों ने पुलिस के रवैये पर सवाल उठाया. उनका कहना है कि अगर पुलिस ने उनके पिता की शिकायत पर कार्रवाई की होती तो कन्हैया लाल की जान बच जाती. आईए जानते हैं उदयपुर हत्याकांड के 10 बड़े अपडेट

1- राजसमंद में तनाव, कर्फ्यू जारी

उदयपुर में हुए हत्याकांड के बाद राजसमंद में हालात तनावपूर्ण हो गए हैं. यहां भीम कस्बे में पुलिस और प्रदर्शनकारी आपस में भिड़ गए. बताया जा रहा है कि भीड़ ने एक पुलिस कांस्टेबल पर तलवार से हमला कर दिया. इस घटना में पुलिसकर्मी की हालत गंभीर है. उन्हें पहले ब्यावर और फिर ब्यावर से अजमेर रेफर किया गया है. कस्बे में भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है. सीएम अशोक गहलोत आज घायल पुलिसकर्मी से मुलाकात करेंगे. उदयपुर में आज भी कर्फ्यू जारी है. इसके अलावा इंटरनेट पर भी रोक 24 घंटे के लिए बढ़ा दी गई है. 

2- सीएम गहलोत ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने बुधवार शाम को सर्वदलीय बैठक बुलाई. उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की. गहलोत ने मृतक कन्हैया लाल के परिजनों को 50 लाख रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया. वारदात को आतंकी हमला करार देते हुए कहा, आरोपियों के संबंध अवैध गतिविधियों में शामिल अंतरराष्ट्रीय संगठनों से मिले हैं. उन्होंने भरोसा दिलाया कि दोषियों को बिना देरी के सख्त सजा दी जाएगी. बैठक के बाद जारी बयान में कहा गया है कि सभी पार्टियों ने सर्वसम्मति से कहा है कि ऐसी घटनाओं का सभ्य समाज में कोई स्थान नहीं है. इस हत्याकांड में शामिल लोगों को कड़ी सजा दी जाए. 
 
 
3- 'भावनाओं को भड़काने वाली सामग्री हटाएं सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म'

मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए आईटी मंत्रालय ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से लोगों की भावनाओं को भड़काने वाली सामग्री हटाने के लिए कहा है. आईटी मंत्रालय ने नोटिस जारी कर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स से कहा है कि वे किसी भी तरह के उकसावे संबंधी कंटेंट को हटा दें, ताकि सार्वजनिक व्यवस्था में किसी भी तरह का कोई व्यवधान न हो. दरअसल, कन्हैया लाल की हत्या के बाद से सोशल मीडिया पर कई तरह के वीडियो, फोटो और मैसेज वायरल हो रहे हैं. इतना ही नहीं कई लोग सोशल मीडिया पर एक समुदाय को हिंसा के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे है. तो वहीं, कुछ लोग हत्या के समर्थन में भी पोस्ट कर रहे हैं. 

4- आज कन्हैया लाल के परिजनों से मुलाकात करेंगे गहलोत

सीएम अशोक गहलोत आज उदयपुर दौरे पर जाएंगे. वे यहां कन्हैया लाल के परिवार से मुलाकात करेंगे. इसके अलावा वे यहां अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे और कानून व्यवस्था का जायजा लेंगे. 

5- 'तो बच जाती पापा की जान'

कन्हैयालाल के बेटों तरुण और यश ने पिता की हत्या करने वालों दोनों आरोपियों के लिए फांसी की सजा की मांग की है. साथ ही पुलिस पर भी लापरवाही का आरोप लगाया है. कन्हैया लाल के बेटों ने 'आजतक' से बातचीत में कहा, 'हमने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट गलती से शेयर कर दी थी, जिसके बाद हमारे पापा के खिलाफ पड़ोसी नाजिम ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई. इस मामले में समझौता भी हो गया. प्रशासन के कहने पर हमने चार से पांच दिन तक अपनी दुकान बंद रखी. इसी बीच पापा को किसी ने धमकी भी दी, जिसके बाद हमने थाने में शिकायत दर्ज करवाई और पुलिस प्रोटेक्शन की मांग की. अगर पापा को सुरक्षा मिलती, तो उनकी हत्या नहीं होती.''


6- UAPA एक्ट के तहत मामला दर्ज

कन्हैया मर्डर केस में दोनों आरोपियों का पाकिस्तान के साथ भी कनेक्शन निकला है, जिसके बाद अब मामले की जांच NIA को सौंप दी गई है. इस मामले में UAPA Act के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. राजस्थान पुलिस ने बताया कि कन्हैयालाल की हत्या का आरोपी गौस मोहम्मद साल 2014 में पाकिस्तानी के कराची शहर गया था. वह दावत-ए-इस्लामी नामक संस्था से जुड़ा था. उन्होंने यह भी बताया कि उत्तर प्रदेश के कानपुर समेत दिल्ली और मुंबई में दावत-ए-इस्लामी के दफ्तर भी हैं. 
 

7- दावत-ए-इस्लामी से जुड़े थे आरोपी

पुलिस ने इस मामले में मोहम्मद रियाज अत्तारी और गौस मोहम्मद को गिरफ्तार किया है. इन आरोपियों के तार पाकिस्तानी संगठन दावत-ए-इस्लामी से जुड़े थे. बता दें कि साल 1981 में 'दावत-ए-इस्लामी' का गठन मौलाना इलियास अत्तारी ने पाकिस्तान के कराची में किया था. 194 देशों में इसका नेटवर्क फैला है. इलियास अत्तारी के चलते दावत-ए-इस्लामी से जुड़े लोग अपने नाम के साथ अत्तारी लगाते हैं. उदयपुर घटना का एक आरोपी मोहम्मद रियाज भी अपने नाम के साथ अत्तारी लगाता है.
 
8- पाकिस्तान का आया बयान

बताया जा रहा है कि कन्हैया लाल की हत्या के पीछे पाकिस्तानी संगठनों का हाथ हो सकता है. इसी बीच पाकिस्तान का भी बयान सामने आया है. पाकिस्तान की तरफ से कहा गया, 'हमने उदयपुर में हुई हत्या का बारे में सुना. इस मामले में जांच से जुड़ी एक रिपोर्ट भारतीय मीडिया पर देखी, जिसमें आरोपियों को पाकिस्तान के एक संगठन से जोड़ा जा रहा है. हम इन आरोपों को खारिज करते हैं. हालांकि, पाकिस्तान ने अपने बयान में दावत ए इस्लामी का नाम नहीं लिया. इस बयान के साथ पाकिस्तान की तरफ से भाजपा, आरएसएस के साथ हिंदुत्व पर भी निशाना साधा गया.

9- जेएनयू में निकला शांति मार्च

उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के विरोध मे जेएनयू में शांति मार्च निकाला गया. ABVP के छात्रों ने ये कैंडल मार्च निकाला. छात्रों ने राजस्थान सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की. छात्रों ने कन्हैयालाल को श्रद्धांजलि दी. छात्र संगठन ने मांग की कि गहलोत सरकार को इस्तीफा देना चाहिए. प्रदर्शन करने वाले छात्रों ने कहा, कन्हैया लाल की हत्या के जिम्मेदार सिर्फ दो लोग ही नहीं हैं, बल्कि राजस्थान सरकार का पूरा सिस्टम है. 

10- दोषियों को फांसी मिले- मुस्लिम राष्ट्रीय मंच

आरएसएस से जुड़े संगठन मुस्लिम राष्ट्रीय मंच (MRM) ने कहा कि इस बर्बर घटना को अंजाम देकर आरोपियों ने शर्मनाक काम किया है. MRM ने कहा कि हम इस तरह की जघन्य हत्या से गहरे सदमे में हैं. इसकी कड़ी निंदा करते हैं. मंच ने मांग की है कि इन शैतानों को कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए. उन्हें उनके द्वारा किए गए बर्बर अपराध के लिए फांसी दी जानी चाहिए. मंच ने कहा कि सरकार को इस मामले में एक फास्ट ट्रैक कोर्ट स्थापित करना चाहिए.

क्या है मामला?

उदयपुर के धानमंडी थाना इलाके में मंगलवार दोपहर दो युवकों मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद ने टेलर कन्हैयालाल की धारदार हथियार से हमला कर हत्या का दी थी. आरोपी कपड़े सिलवाने के बहाने दुकान पर आए थे. इसके बाद दोनों आरोपियों ने वीडियो शेयर कर कहा कि उन्होंने इस्लाम के अपमान का बदला लेने के लिए कन्हैयालाल की हत्या की है.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें