scorecardresearch
 

शूटर प्रियव्रत फौजी का खुलासा- 27 मई को ही हो जाती सिद्धू मूसेवाला की हत्या, ऐसी बची थी जान

आज तक को स्पेशल सेल के सूत्रों ने जानकारी दी कि, 'शूटर प्रियव्रत फौजी ने पुलिस में बताया कि 27 मई को सिद्धू मूसेवाला अकेले गाड़ी में बैठकर निकले थे, जिसके बाद बुलेरो और कोरोला कार में सवार शूटर सिद्धू के पीछे पड़ गए थे, लेकिन सिद्धू मूसेवाला बच गए थे.'

X
पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला (File Photo) पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला (File Photo)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुख्य शूटर प्रियव्रत फौजी ने किया खुलासा
  • बोला- 27 मई को ही सिद्धू को मार देते, लेकिन..
  • सिद्धू को मारने के लिए PAK से मंगाए गए थे हथियार?

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की जाने लेने वाले शूटर्स के सरगना प्रियव्रत फौजी ने पुलिस के साथ पूछताछ में कई खुलासा किया है. आज तक को स्पेशल सेल के सूत्रों ने जानकारी दी है कि सिद्धू को गोली मारने वाले शूटर और बुलेरो मॉड्यूल के हेड प्रियव्रत फौजी ने पूछताछ में बताया कि 27 मई को ही सिद्धू की हत्या हो जाती है, लेकिन वह बच गया.

सूत्रों के मुताबिक, 'शूटर प्रियव्रत फौजी ने पुलिस में बताया कि 27 मई को सिद्धू मूसेवाला अकेले गाड़ी में बैठकर निकले थे, जिसके बाद बोलेरो और कोरोला कार में सवार शूटर सिद्धू के पीछे पड़ गए थे. सिद्धू, किसी केस के सिलसिले में कोर्ट के लिए निकले थे और उनकी गाड़ी के पीछे शूटर की गाड़ी ने पीछा करना शुरू कर दिया.'

'शूटर प्रियव्रत फौजी ने आगे बताया कि सिद्धू मुसावला की गाड़ी गांव की सड़क की जगह मेन हाई-वे पर तेजी से चलने लगी और शूटर बहुत दूर तक सिद्धू की गाड़ी का पीछा नहीं कर पाए और प्लान फेल हो गया.' शूटर के पास से बरामद हथियार इंडियन मेड नहीं है. पुलिस को शक है कि कहीं हथियार को पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए तो नहीं लाया गया.

गिरफ्तार प्रियव्रत फौजी से पूछताछ के बाद  ग्रेनेड लांचर, हैंड ग्रेनेड, इलेक्ट्रोनिक डेटोनेटर और AK-47 जैसी दिखने वाली रायफल बरामद हुई है, ये सभी हथियार इंडियन मेड नहीं है, स्पेशल सेल के सूत्रों के मुताबिक, ऐसे हथियार पिछले दिनों पाकिस्तान से बड़े पैमाने पर ड्रोन से गिराए गए थे, ये हथियार भी उसी खेप का हिस्सा हो सकता है.

बिश्नोई गैंग पाकिस्तान रूट से हथियार मंगवाता रहा है! 

लारेंस बिश्नोई का पाकिस्तान में अच्छा नेटवर्क है. इसके अलावा पंजाब का गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिय भी पाकिस्तान से ड्रग मंगवाता था, जिसके साथ हथियार भी कई बार वो मंगवा चुका है. जग्गू ने पूछताछ में इस बात का खुलासा भी किया था कि एक बार उसने 40 पिस्टल मंगवाई थी. बिश्नोई गैंग पाकिस्तान, मध्य प्रदेश, मुंगेर से हथियार मंगवाता रहा है.

बिश्नोई का एक नेटवर्क अमेरिका में भी बैठा हुआ है जो अलग-अलग बॉर्डर से पंजाब हथियार पहुंचाता है. खुफिया एजेंसियां अब पाकिस्तान से पंजाब में हथियार लाने के एंगल की तफ्तीश कर रही हैं. बीते दिनों पाकिस्तान बॉर्डर पर सुरक्षा एजेंसियों ने कई ड्रोन को उड़ते हुए देखा था. एक ड्रोन से हथियारों का खेप भी बरामद हुआ था.

गुजरात से गिरफ्तार किया गया था प्रियव्रत फौजी

गौरतलब है कि पिछले दिनों ही गुजरात से दिल्ली पुलिस ने तीन शूटर्स को गिरफ्तार किया था. गिरफ्तार किए गए शूटर्स में से एक प्रियव्रत फौजी है. फौजी हरियाणा का गैंगस्टर है. यह फतेहाबाद पेट्रोल पंप पर सीसीटीवी में कैद हुआ था. 26 साल का प्रियव्रत फौजी हरियाणा के सोनीपत जिले के गढ़ी सिसाना का रहने वाला है.

प्रियवत फौजी शूटर्स के पूरे मॉड्यूल का हेड है. मर्डर के समय फोजी गोल्डी बराड़ के सीधे संपर्क में था. फौजी इससे पहले भी हत्या के 2 मामलों में शामिल रहा है. यह दोनों केस सोनीपत के ही हैं. गिरफ्तार किए गए दूसरे शूटर का नाम कशिश कुलदीप है. 24 साल का कुलदीप हरियाणा के झज्जर जिले के सज्यान पाना गांव के वार्ड नं 11 का रहने वाला है.

स्पेशल सेल की गिरफ्त में आए तीसरे शूटर का नाम केशव कुमार है. 29 साल का केशव पंजाब के भटिंडा जिले के आवा बस्ती का रहने वाला है. गिरफ्तारी के बाद दिल्ली पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस की थी. पुलिस ने बताया था कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की टीम इस मामले पर काम कर रही थी. हमने 6 शूटर्स की पहचान की थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें