scorecardresearch
 

Gujarat: उधार के 7 हजार रुपये न चुकाने पर पड़ोसी ने की 7 साल के बच्चे की हत्या

भटार इलाके के खोडियार नगर का रहने वाले किशन साहनी रंगों का काम करता है. उसके सात वर्षीय मासूम बेटे की हत्या कर दी गई. इस मामले में पुलिस ने पड़ोसी को गिरफ्तार कर मामले में पूछताछ की, जिसमें चौंकाने वाला खुलासा हुआ.

उधारी न चुकाने पर पड़ोसी ने बच्चे की हत्या की. उधारी न चुकाने पर पड़ोसी ने बच्चे की हत्या की.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उधारी न चुकाने पर पड़ोसी ने की बच्चे की हत्या
  • पिता ने लिये थे सात हजार रुपये उधार
  • आरोपी पड़ोसी सहित दो लोग गिरफ्तार

गुजरात के सूरत में पिता द्वारा ली गई उधारी की कीमत बच्चे को जान देकर चुकानी पड़ी. महज सात हजार रुपये के लिए सात वर्ष के मासूम को मार दिया गया. इसके बाद पड़ोसी ने बच्चे के शव को गन्ने के खेत में फेंक दिया. पुलिस ने इस हत्याकांड का खुलासा करते हुए आरोपी पड़ोसी सहित दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.  

भटार इलाके के खोडियार नगर का रहने वाले किशन साहनी रंगों का काम करता है. उसके सात वर्षीय मासूम बेटे की हत्या कर दी गई. इस मामले में पुलिस ने पड़ोसी को गिरफ्तार कर मामले में पूछताछ की, जिसमें चौंकाने वाला खुलासा हुआ. बताया गया है कि किशन सिंह का कोरोना महामारी के दौरान हुए लॉकडाउन में काम धंधा बंद हो गया था. 

इस बीच उसकी मां की मृत्यु हो गई. उसे अपने गांव जाना था, इसलिये उसने पड़ोस के रहने वाले आदित्य उर्फ करण से 7 हजार रुपये उधार लिये और अपने गांव चला गया. लॉकडाउन के बाद जब वह वापस घर आया, तो काम धंधा तो धीरे धीरे शुरू हो गया, लेकिन सात हजार रुपये की रकम वह आदित्य का उधार चुकता करने के लिए नहीं जुटा पाया. 

आदित्य द्वारा उससे उधारी की रकम चुकाने के लिये दबाव बनाया जा रहा था. इस बात को लेकर दोनों में विवाद हो गया. इसके बाद किशन ने कहा कि दिवाली और छठ पूजा होने के बाद अगले माह की 10 तारीख को वह उधारी की रकम चुका देगा, लेकिन आदित्य उसकी कोई भी बात सुनने के लिए तैयार नहीं था. 

बताया गया है कि शुक्रवार को जब किशन अपनी पत्नी और बच्चों के साथ छठ पूजा करके लौटा तब आदित्य वहां आ गया. उसने किशन के 7 साल के बेटे आकाश को अपनी गाड़ी में बिठाया और वहां से चला गया. इसके बाद जब परिवार वालों ने खोजबीन शुरू की तो उसका कोई पता नहीं चला. किशन को शक हुआ, तो उसने आदित्य को कई बार उसके मोबाइल पर कॉल किया, लेकिन उसने कॉल रिसीव नहीं किया. 

देखें: आजतक LIVE TV 

किशन सिंह ने बताया कि काफी प्रयास के बाद जब आदित्य ने कॉल रिसीव किया, तो उससे साफ मना कर दिया कि आकाश उसके पास नहीं है. किशन सिंह बेटे के साथ अनहोनी की आशंका के चलते थाने में पहुंच गया और पुलिस को पूरी घटना से अवगत कराया. पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आदित्य को हिरासत में ले लिया. उससे पूछताछ की गई, तो उसने बताया कि सात वर्षीय आकाश की उसने हत्या कर शव को शहर से 35 किलोमीटर दूर गन्ने के खेत में फेंक दिया है. 

इस हत्या में सायण रोड निवासी सोन उर्फ बरकत अली ने उसका साथ दिया. पुलिस ने सोन को गिरफ्तार करने के साथ ही आरोपी की निशानदेही पर बच्चे के शव को भी खेत से बरामद कर लिया. इस मामले में एसीपी सूरत एनएस देसाई ने बताया कि बच्चे के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है. आरोपियों को जेल भेजने की तैयारी की जा रही है.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें