scorecardresearch
 

लखनऊः BJP ऑफिस के गेट पर की थी आत्मदाह की कोशिश, अस्पताल में मौत

महराजगंज से आई उक्त महिला ने बीजेपी के राज्य मुख्यालय के गेट नंबर-2 पर आत्मदाह का प्रयास किया था. इसके बाद उस महिला को गंभीर हालात में लखनऊ के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां बर्न विभाग में उस महिला ने बुधवार को दम तोड़ दिया.

लखनऊ सिविल अस्पताल के बर्न वार्ड में महिला ने अंतिम सांस ली लखनऊ सिविल अस्पताल के बर्न वार्ड में महिला ने अंतिम सांस ली
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मंगलवार को महिला ने किया था आत्मदाह का प्रयास
  • बुधवार को अस्पताल के बर्न वार्ड में तोड़ा दम
  • बीजेपी कार्यालय के गेट पर की थी आत्मदाह की कोशिश

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बीजेपी ऑफिस के बाहर मंगलवार को आत्मदाह की कोशिश करने वाली महिला की बुधवार को मौत हो गई. उसने विधानसभा के पास बीजेपी कार्यालय गेट के सामने आत्मदाह करने की कोशिश की थी. जिसकी वजह से वह बुरी तरह झुलस गई थी. 

मंगलवार को महराजगंज से आई उक्त महिला ने बीजेपी के राज्य मुख्यालय के गेट नंबर-2 पर आत्मदाह का प्रयास किया था. इसके बाद उस महिला को गंभीर हालात में लखनऊ के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां बर्न विभाग में उस महिला का इलाज चल रहा था.

बुधवार की शाम करीब 7 बजकर 15 मिनट पर उस महिला ने अंतिम सांस ली और इस दुनिया को अलविदा कह दिया. हजरतगंज थाना पुलिस इस मामले में आगे की कार्रवाई कर रही है. 

देखें: आजतक LIVE TV 

अमेठी से आई मां-बेटी ने भी किया था आत्मदाह का प्रयास
बता दें कि इसी साल जुलाई में अमेठी जिले की एक महिला और उसकी बेटी ने लखनऊ के हजरतगंज इलाके में मुख्यमंत्री कार्यालय के गेट नंबर 3 के बाहर आत्मदाह का प्रयास किया था. दोनों को सिविल हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था. महिलाओं का आरोप था कि एक महीने से पुलिस अधिकारियों का चक्कर लगा रही हैं, लेकिन कोई उनकी सुनवाई नहीं कर रहा था.

जानकारी के मुताबिक अमेठी के जमाई की रहने वाली पीड़ित महिला गुड़िया ने अपनी बेटी के साथ लोक भवन के बाहर अचानक अपने आप को आग लगा ली थी. इस दौरान मां 80% जल गई थी जबकि उसकी बेटी 40% फीसदी जली थी. 

आरोप था कि अमेठी में एक नाली के विवाद को लेकर दबंगों ने उनकी जमकर पिटाई कर दी. एफआईआर लिखवाने पर भी दबंगों ने थाने के बाहर और बाद में जमकर पिटाई की, और यह भी धमकी दी कि एक्सीडेंट कर देंगे और उसमें नाम डलवा देंगे. सुनवाई न होने से नाराज मां-बेटी शुक्रवार को लखनऊ पहुंचकर मुख्यमंत्री से अपनी गुहार लगाना चाह रही थीं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें