scorecardresearch
 

रोहिणी शूटआउट Exclusive: जेल में बैठा टिल्लू ताजपुरिया लगातार दे रहा था शूटरों को निर्देश

आजतक को तो ये जानकारी भी मिली है कि इस पूरी घटना के पीछे टिल्लू गैंग का हाथ था. जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक रोहिणी कोर्ट शूट आउट में शामिल दोनों शूटर को दिल्ली के मंडोली जेल से टिल्लू ने फ़ोन कर जितेंद्र को ख़त्म करने का हुकुम दिया था.

रोहिणी शूटआउट में बड़े खुलासे रोहिणी शूटआउट में बड़े खुलासे
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रोहिणी शूटआउट केस में दो गिरफ्तारी
  • गैंगस्टर टिल्लू का रोल भी आया सामने

रोहिणी कोर्ट शूटआउट मामले में पुलिस के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है. पुलिस ने इस केस में दो आरोपियों की गिरफ्तारी की है. एक तो टिल्लू ताजपुरिया का शूटर है तो वहीं दूसरे आरोपी ने मौके वाले दिन शूटरों के फोन और कपड़ों को ठिकाने लगाया था. अब पुलिस ने इन दोनों को गिरफ्तार कर लिया है और आगे की पूछताछ की जा रही है.

पहली गिरफ्तारी की बात करें तो पुलिस ने उमंग यादव को पकड़ा है. पूछताछ के दौरान उमंग ने बताया है कि वो 2 साल से गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया के साथ जुड़ा हुआ है और उसी के लिए काम करता है. वहीं उमंग के तार इस मामले से इसलिए जुड़े हैं क्योंकि 20 सितम्बर को रोहिणी कोर्ट से 3 किलोमीटर दूर हैदरपुर इलाक़े में एक फ्लैट में दो शूटर रुके थे. वो फ्लैट उमंग का ही था.

शूटआउट केस में दो गिरफ्तारी

इसके अलावा घटना वाले दिन कोर्ट तक दोनो शूटरों को पहुंचाने का जिम्मा भी उमंग ने अपने ऊपर ही ले रखा था. उसने ही गाड़ी से दोनों को रोहिणी कोर्ट पर छोड़ा था. इन लोगों का प्लान था कि उमंग बैक अप प्लान के लिए वकील के कपड़े पहन कर बाहर कार में मौजूद रहेगा. दोनों शूटर कोर्ट रूम में जाएंगे और जितेंद्र को ख़त्म करके वापस कार में बैठकर फ़रार होंगे. लेकिन प्लान फेल हुआ और शूटआउट के बाद उमंग कार लेके फ़रार हो गया.

सामने आया टिल्लू का पूरा रोल

आजतक को तो ये जानकारी भी मिली है कि इस पूरी घटना के पीछे टिल्लू गैंग का हाथ था. जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक रोहिणी कोर्ट शूटआउट में शामिल दोनों शूटर को दिल्ली के मंडोली जेल से टिल्लू ने फ़ोन कर जितेंद्र को ख़त्म करने का हुकुम दिया था. घटना वाले दिन भी वो लगातार शूटरों को निर्देश दे रहा था. उस फरमान के बाद ही उमंग यादव सक्रिय हुआ था और उसने दोनों शूटरों की काफी मदद की थी.

उमंग बताता है कि उसने LLB की पढ़ाई 3 साल तक की है, ऐसे में उसके पास एक वकील की ड्रेस पहले से मौजूद थी. वहीं दोनों शूटर वकील की ड्रेस अपने साथ लेकर आए थे. पुलिस ने जिस दूसरे शख्स को गिरफ्तार किया है, उसका नाम विनय है.

विनय ने  शूटआउट के बाद एनकाउंटर में मारे गए दोनों शूटर के कपड़े और मोबाइल फ़ोन एक नहर में जा के फेंका था. पुलिस ने मोबाइल फ़ोन और कपड़े बरामद कर लिए हैं और विनय से आगे की पूछताछ जारी है.

घटना वाले दिन क्या हुआ था?

जानकारी के लिए बता दें कि शुक्रवार को रोहिणी कोर्ट में फायरिंग हुई थी. उस फायरिंग में तीन लोगों ने अपनी जान गंवाई थी, जिसमें दो हमलावर और गैंगस्टर जितेंद्र गोगी शामिल था. इस घटना के तार सीधे तौर पर टिल्लू गैंग से जुड़े थे क्योंकि गोगी गैंग से उसकी पुरानी दुश्मनी रही है. अब पुलिस की गिरफ्तारी भी उसी ओर इशारा कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×